Submit your post

Follow Us

पता चल गया विकास दुबे का, पुलिस के पहुंचने से कुछ देर पहले ही हुआ फ़रार!

कानपुर मुठभेड़ में 8 पुलिसकर्मियों को मारने के आरोपी विकास दुबे की खोज में पुलिस को नया सुराग मिला है. दिल्ली से सटे हरियाणा के फ़रीदाबाद से विकास दुबे का एक साथी गिरफ़्तार हुआ. सूत्रों ने बताया कि थोड़ी देर पहले तक वहां पर विकास दुबे भी मौजूद था. पुलिस के पहुंचने से पहले फ़रार. हालांकि, पुलिस इस मामले में कुछ भी साफ़ कहने से बच रही है.

कहां हुई छापेमारी?

‘आज तक’ से जुड़े पत्रकार तनसीम हैदर के अनुसार पुलिस ने फरीदाबाद के बडखल चौक पर बने ओयो गेस्ट हाउस में छापेमारी की. ये जगह दिल्ली-मथुरा हाइवे पर पड़ती है. पुलिस के तकरीबन 30 से 35 जवान सादी वर्दी में वहां छापेमारी के लिए पहुंचे. यहां से विकास दुबे का साथी पकड़ा गया. सूत्रों की मानें तो पकड़ाए साथी ने जानकारी दी कि वहां विकास भी मौजूद था. वो फरीदाबाद के सेक्टर 87 में अपने एक रिश्तेदार के पास रुका था. कानपुर से उसके साथ आए प्रभात नाम के शख्स, और फरीदाबाद में उसे शेल्टर देने वाले अंकुर नाम के व्यक्ति को गिरफ्तार कर लिया गया है.

 

 

क्या है पूरा मामला?

गुरुवार, 2 जुलाई को राहुल तिवारी नाम के एक व्यक्ति ने चौबेपुर थाने में विकास दुबे के खिलाफ केस दर्ज कराया था. चौबेपुर थाने के दीवान यशवीर सिंह ने बताया कि राहुल ने विकास पर अपने ससुर लालू की ज़मीन का बयाना जबरन कराए जाने की FIR कराई थी. FIR में उसने लिखाया था,

“विकास मुझे रास्ते से जबरन गाड़ी में डालकर अपने घर ले गया, जहां उन्होंने मुझे मार-पीटकर एक कमरे में बंद कर दिया था. किसी तरह रात में मौका देखकर मैं भाग आया.”

विकास को पहले से थी सूचना?

इस एफआईआर के बाद इसकी जांच के लिए ही पुलिस टीम बिकरू गांव गई थी. बिकरू में पुलिस को पहले से विरोध की आशंका थी, इसलिए कई थानों की फ़ोर्स लेकर सीओ देवेंद्र मिश्रा गए थे. विकास के घर की तरफ जाने वाले रास्ते को जेसीबी से ब्लॉक किया गया. और अगल-बगल की छतों से विकास दुबे के गुर्गों ने पुलिस पर कथित रूप से फायरिंग की. इसमें 8 पुलिसकर्मियों की जान चली गई. मौका देखकर विकास फरार हो गया. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, विकास दुबे को पहले से ही पुलिस की दबिश की मुखबिरी हो गई थी.

बिकरू गांव में पुलिस बल तैनात है. फॉरेंसिक टीम मौके पर है. आस-पास के इलाकों में सर्च ऑपरेशन चल रहा है. कानपुर पुलिस ने विकास की बहू, पड़ोसी और डोमेस्टिक हेल्प को गिरफ्तार कर लिया है. तीनों के ऊपर एनकाउंटर वाली रात को विकास का साथ देने का आरोप है. बहू का नाम शमा, पड़ोसी का नाम सुरेश वर्मा और डोमेस्टिक हेल्प का नाम रेखा है.

Vikas Dubey House Baraamad
कानपुर ग्रामीण एसपी ब्रजेश कुमार श्रीवास्तव का कहना है कि विकास ने अपने परिवारवालों के नाम पर एक दर्जन लाइसेंसी हथियार ले रखे थे. हथियार अलग-अलग नाम से रजिस्टर थे लेकिन इनका इस्तेमाल विकास ही करता था. (तस्वीर: इंडिया टुडे)

‘इंडिया टुडे’ के शिवेंद्र श्रीवास्तव की रिपोर्ट के मुताबिक सूत्रों से पता चला है कि पुलिस महकमे के अंदर विकास की मदद करने वाले लोग हैं. सूत्रों के मुताबिक, चौबेपुर, बिल्हौर, ककवन और शिवराजपुर थाने समेत करीब 200 पुलिसवाले शक के दायरे में हैं. इन पुलिसवालों ने समय-समय पर या तो विकास की मदद की है या फिर उससे फायदा लिया है. इन पुलिसवालों के मोबाइल CDR (कॉल डीटेल रिकॉर्ड) खंगाले जा रहे हैं. जानकारी मिली है कि ये पुलिसवाले विकास के मुखबिर की तरह काम करते थे. जांच कर रही STF टीम सभी बिंदुओं पर काम कर रही है.


वीडियो: कुख्यात गैंगस्टर विकास दुबे की पूरी कहानी जान लीजिए

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

बादशाह ने यूट्यूब पर व्यूज चोरी कर अपना गाना हिट बनाया!

पुलिस के हत्थे चढ़े, 10 घंटे हुई पूछताछ.

दिल्ली दंगा : मरा है या नहीं, ये चेक करने के लिए ज़िंदा शाहबाज़ पर पेट्रोल डालकर आग लगा दी गयी!

कोर्ट में सुनवाई में दिल्ली पुलिस ने क्या बताया

अयोध्या भूमिपूजन से पहले मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड की 'धमकी' का क्या सुप्रीम कोर्ट लेगा संज्ञान?

AIMPLB ने Tweet पर विवाद देख डिलीट कर लिया है.

दिशा सालियान की पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट ने खुलासा किया कि मौत की असली वजह क्या थी

मुंबई में एक बिल्डिंग के 14वें माले से गिरकर दिशा की जान गई थी.

दिशा सालियान केस में मुंबई पुलिस अब लोगों से क्या मदद मांग रही है?

बीजेपी सांसद नारायण राणे ने गंभीर आरोप लगाए थे.

जम्मू-कश्मीर और लद्दाख के UPSC निकालने वाले कैंडिडेट्स ने बताया एग्ज़ाम की तैयारी कैसे की

जम्मू-कश्मीर और लद्दाख के 16 कैंडिडेट ने परीक्षा पास की है.

अयोध्या : भूमिपूजन में नरेंद्र मोदी और सारे गेस्ट्स की इन तस्वीरों को देखिए!

राम मंदिर का भूमिपूजन.

UPSC रैंकर जिसकी तुलना 'पाताल लोक' के इमरान अंसारी से हो रही है

दिल्ली पुलिस परिवार से पांच लोगों ने इस बार UPSC एग्ज़ाम क्रैक किया है.

इमरान खान ने तमाम छेड़छाड़ करके पाकिस्तान का एक नया नक्शा पेश किया है

उनकी कैबिनेट ने वो नक्शा पास कर दिया है.

मुंबई पुलिस कमिश्नर ने अधिकारियों से कहा, सुशांत की मौत से जुड़ी जानकारी किसी से भी शेयर नहीं करना!

उस मीटिंग में और क्या कहा मुंबई के पुलिस कमिशनर ने?