Submit your post

Follow Us

सूरज पंचोली ने इंस्टाग्राम से अपने सारे पोस्ट डिलीट क्यों कर दिए?

सूरज पंचोली. बॉलीवुड एक्टर हैं. सुशांत सिंह राजपूत केस से सूरज पंचोली का नाम जोड़ा जा रहा है. मामले में सीबीआई की जांच के आदेश के बाद सूरज पंचोली लगातार ट्रोल हो रहे हैं. ट्रोल्स से तंग आकर सूरज पंचोली ने अपने इंस्टाग्राम से अपने सारे पोस्ट डिलीट कर दिए. साथ ही अपनी प्रोफाइल फोटो पर भी ब्लैक इमेज लगा दी है.

सोशल मीडिया क्विट करने से पहले सूरज पंचोली ने एक स्टोरी शेयर की. इसमें सूरज ने लिखा, ‘मिलते हैं इंस्टाग्राम…आशा करता हूं जल्द मिलेंगे जब ये दुनिया थोड़ी अच्छी हो जाएगी…’ इसी पोस्ट के नीचे सूरज ने लिखा, ‘मुझें सांस लेने की जरूरत है’

सूरज पंचोली को ज़िया खान के केस से भी जोड़ा जाता है.
सूरज पंचोली को ज़िया खान के केस से भी जोड़ा जाता है.

बता दें कि सूरज का नाम सुशांत सिंह राजपूत और उनकी पूर्व मैनेजर दिशा सिलयान के सुसाइड से भी जोड़ा गया. सूरज ने इस बारे में सफाई भी दी कि उनका इस केस से किसी भी तरह का कोई लेना देना नहीं है. 11 अगस्त को सूरज पंचोली ने वर्सोवा पुलिस स्टेशन में शिकायत दर्ज करवाई थी. इस शिकायत में सूरज पंचोली ने बताया कि उनका नाम इस मामले में जबरजस्ती घसीटा जा रहा है.

सूरज पंचोली ने सुशांत सिंह राजपूत सुसाइड केस की सीबीआई जांच की भी मांग की थी. वहीं सुप्रीम कोर्ट के सीबीआई जांच को मंजूरी देने के फैसले पर सूरज के पिता आदित्य पंचोली ने कहा था, ‘बिना किसी आधार के हम कई दिनों से ट्रोल हो रहे हैं. मेरा पूरा परिवार अब खुश है. अब सच सामने आएगा और जो दोषी हैं उन्हें सज़ा मिलेगी. बहुत से निर्दोष लोगों पर उंगली उठाई जा रही थी जिन्हें इस फैसले से राहत मिलेगी.’

सुशांत की मौत 14 जून को हुई थी. वो अपने घर पर मृत पाए गए थे. वहीं सुशांत की पूर्व मैनेजर दिशा सालियन ने 8 जून को सुसाइड किया था. इन दोनों की मौत को जोड़ते हुए कई कॉन्स्पिरेसी थ्योरीज़ सोशल मीडिया पर चल रही थीं.


वीडियो:

सुशांत केस: CBI जांच के फ़ैसले के बाद बहन और बॉलीवुड वालोंं ने ये कहा है

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

रेमडेसिविर या किसी दूसरी दवा के लिए बेसिर-पैर के दाम जमा करने के पहले ये ख़बर पढ़ लीजिए

रेमडेसिविर या किसी दूसरी दवा के लिए बेसिर-पैर के दाम जमा करने के पहले ये ख़बर पढ़ लीजिए

देश भर से सामने आ रही ये घटनाएं हिला देंगी.

कुछ लोगों को फ्री, तो कुछ को 2400 से भी महंगी पड़ेगी कोविड वैक्सीन, जानिए पूरा हिसाब-किताब

कुछ लोगों को फ्री, तो कुछ को 2400 से भी महंगी पड़ेगी कोविड वैक्सीन, जानिए पूरा हिसाब-किताब

वैक्सीन के रेट्स को लेकर देशभर में कन्फ्यूजन की स्थिति क्यों है?

कोरोना से हुई मौतों पर झूठ कौन बोल रहा है? श्मशान या सरकारी दावे?

कोरोना से हुई मौतों पर झूठ कौन बोल रहा है? श्मशान या सरकारी दावे?

जानिए न्यूयॉर्क टाइम्स ने भारत के हालात पर क्या लिखा है.

PM Cares से 200 करोड़ खर्च होने के बाद भी नहीं लगे ऑक्सीजन प्लांट, लेकिन राजनीति पूरी हो रही है

PM Cares से 200 करोड़ खर्च होने के बाद भी नहीं लगे ऑक्सीजन प्लांट, लेकिन राजनीति पूरी हो रही है

यूपी जैसे बड़े राज्य में केवल 1 प्लांट ही लगा.

कोरोना की दूसरी लहर के बीच किन-किन देशों ने भारत को मदद की पेशकश की है?

कोरोना की दूसरी लहर के बीच किन-किन देशों ने भारत को मदद की पेशकश की है?

पाकिस्तान के एक संगठन की ओर से भी मदद की बात कही गई है.

अब सुप्रीम कोर्ट ने कहा- हम राष्ट्रीय आपातकाल जैसी स्थिति में हैं, क्या केंद्र के पास कोई नेशनल प्लान है?

अब सुप्रीम कोर्ट ने कहा- हम राष्ट्रीय आपातकाल जैसी स्थिति में हैं, क्या केंद्र के पास कोई नेशनल प्लान है?

ऑक्सीजन सप्लाई से जुड़ी एक याचिका पर सुप्रीम कोर्ट सुनवाई कर रहा था.

'सबसे कारगर' कोरोना वैक्सीन बनाने वाली कंपनी फाइजर ने भारत के सामने क्या शर्त रख दी है?

'सबसे कारगर' कोरोना वैक्सीन बनाने वाली कंपनी फाइजर ने भारत के सामने क्या शर्त रख दी है?

भारत सरकार की ओर से इस पर अभी कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है.

दिल्ली हाई कोर्ट ने ऑक्सीजन की किल्लत पर केंद्र सरकार को बुरी तरह लताड़ दिया है

दिल्ली हाई कोर्ट ने ऑक्सीजन की किल्लत पर केंद्र सरकार को बुरी तरह लताड़ दिया है

बुधवार रात 8 बजे हुई सुनवाई में कोर्ट ने केंद्र को जमकर खरी-खोटी सुनाई.

कोरोना संकट के बीच देश के ये 3 शीर्ष मेडिकल एक्सपर्ट आपके लिए बहुत काम की बातें बता गए हैं

कोरोना संकट के बीच देश के ये 3 शीर्ष मेडिकल एक्सपर्ट आपके लिए बहुत काम की बातें बता गए हैं

कोरोना की रोकथाम से जुड़े हर जरूरी सवाल का जवाब दिया है.

कोविड प्रोटोकॉल्स की धज्जियां उड़ाते UP पंचायत चुनाव पर हाईकोर्ट की ये टिप्पणियां ज़रूर जानिए

कोविड प्रोटोकॉल्स की धज्जियां उड़ाते UP पंचायत चुनाव पर हाईकोर्ट की ये टिप्पणियां ज़रूर जानिए

सरकारी कर्मचारियों की चुनावी ड्यूटी पर भी नाराज़गी ज़ाहिर की.