Submit your post

Follow Us

सही-सही बतइयो: सरकार, AAP की क्यों फुंकी पड़ी है?

18
शेयर्स

सीबीआई की रेड और जेटली का डीडीसीए लफड़ा. बस इत्ता काफी था ‘आप’ और सरकार के भिड़ने के लिए. मंगल से शुरू हुआ सियासी अमंगल जुम्मे रात भी चालू रहा. ‘आप’ और सरकार के माइकमैन एंड वूमेन जुबानी फायरिंग करते रहे. जानिए दोनों तरफ के लोगों की एक दूसरे से फुंकी पड़ी है. क्या हैं एक-दूजे पर आरोप:

पहले AAP आओ, आरोप लगाओ
1. DDCA के हेड रहे थे जेटली 1999 से 2013 तक. वित्त मंत्री जेटली ने बैलेंस शीट और रजिस्टर नहीं बनाया. सिलेक्टर्स के लिए कोई रूल नहीं है. भ्रष्टाचार है. जेटली इस्तीफा दें.

2. सभी टीमों में बूड्ढे यानी ओवरएज प्लेयर्स खेलते हैं. बिना काम के कंपनियों को पेमेंट कर दी गई. 16 कंपनियों को एक ही काम के लिए एक करोड़ रुपये दिए गए.

3. जेटली की लीडरशीप में एक स्टेडियम बनना था 24 करोड़ रुपये में. खर्चा दिखाया गया 114 करोड़. 90 करोड़ रुपये कहां गए.

4. सीबीआई ने छापा भी इसलिए मारा. क्योंकि वो डीडीसीए की फाइलें गायब करना चाहती थी. मोदी इस्तीफा दें. जेटली इस्तीफा दें. हम आम आदमी हैं.

अब आप आइए. और AAP पर आरोप लगाइए स्मृति ईरानी
smriti irani rivolver

1. डीडीसीए की जांच AAP का काम नहीं है. डीडीसीए खुद कर लेगी जांच.

2. अरविंद केजरीवाल अपने दफ्तर के भ्रष्ट ऑफिसर्स पर हो रही जांच को मोड़ना चाह रहे हैं.

3. एक रिपोर्ट है दो साल पुरानी. उसके मुताबिक, जेटली रोज नहीं जाते थे वहां. काम भी रोज नहीं करते थे.

4. करप्ट अधिकारियों को बचाने के लिए अन्ना के उसूलों को भूल गई AAP.

अब वकील साहेब जेटली की दलील

आरोप हैं गंभीर, इस्तीफा दें जेटली: केजरीवाल

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

क्या चल रहा है?

महाराष्ट्र: शरद पवार ने देवेंद्र फडणवीस के सामने बड़ी चुनौती रख दी है

NCP विधायकों ने बताया कि अजित पवार ने उनके साथ सुबह-सुबह कैसे गोच्ची की.

महाराष्ट्र में बाज़ी क्या पलटी, देखते-देखते सारे नेता शायर हो गए

कैसे, कैसे हैं रहबर हमारे, कभी इस किनारे, कभी उस किनारे.

महाराष्ट्र: शपथ तो ले ली लेकिन क्या बहुमत साबित कर पाएंगे देवेंद्र फडणवीस?

महाराष्ट्र विधानसभा का पूरा नंबर गेम समझिए. आसान भाषा में.

महाराष्ट्र में जारी पॉलिटिकल ड्रामे के बीच संजय निरुपम ने सोनिया-राहुल से ये डिमांड कर दी

'राहुल गांधी ने कहा था पावर पॉइजन है, अब हम ये कहेंगे की पवार भी पॉइजन है.'

23 नवंबर, 2019ः वो तारीख जब पूरे देश के अखबारों में छप गई 'गलत' खबर

लेकिन इसमें अखबारों की बिल्कुल गलती नहीं थी.

भतीजे ने पहले ही बता दिया था कि पार्टी टूटेगी, लेकिन चाचा समझ नहीं पाए!

अगर शरद पवार ये समझ गए होते तो शायद स्थिति कुछ और होती.

सुप्रिया सुले का वॉट्सऐप स्टेटस बता रहा है महाराष्ट्र में सत्ता के लिए टूट गया पवार का परिवार?

एनसीपी नेता नवाब मलिक ने बताया इस तरह धोखे में रखकर अजित पवार ने बीजेपी के साथ सरकार बना ली.

तापसी पन्नू ने सोनम कपूर के भाई के बारे में वो बात बोल दी है कि हंगामा होगा

अनिल कपूर को काफी चुभ सकती है ये बात.

उद्धव ठाकरे ही होंगे सीएम, शिवसेना, एनसीपी और कांग्रेस की सरकार बनेगी!

23 नवंबर यानी शनिवार को हो सकता है एलान.

अलवर के एसपी ने नौ मुस्लिम पुलिसवालों से कहा, 'आगे से दाढ़ी मत रखना'

32 पुलिसवालों को इजाज़त मिली थी, सिर्फ इन नौ से वापस ले ली गई.