Submit your post

Follow Us

पैदल घर को जा रहे मज़दूरों को बस ने कुचल दिया, छह की जान चली गई

इस वक्त बहुत से प्रवासी मज़दूर अपने घर पहुंचने के लिए पैदल ही चल रहे हैं. और इसी में कई मज़दूर अपनी जान भी गंवा दे रहे हैं. कुछ भूख से तो कुछ हादसों की वजह से दम तोड़ रहे हैं. उत्तर प्रदेश के मुज़फ्फरनगर के पास भी छह मज़दूरों की मौत हो गई और दो घायल हो गए. कहा जा रहा है कि वो सभी मुज़फ्फरनगर की तरफ जा रहे थे. इसी दौरान एक बस उन्हें कुचलते हुए गुज़र गई. हादसा 13 मई की रात को हुआ. ड्राइवर बस को वहीं छोड़कर फरार हो गया.

‘इंडियन एक्सप्रेस’ की रिपोर्ट के मुताबिक, मुज़फ्फरनगर के कोतवाली पुलिस थाने के SHO अनिल कपर्वान कहते हैं,

‘हमें बुधवार रात 11 बजे जानकारी मिली कि नेशनल हाईवे-9 पर पैदल चल रहे कुछ लोगों का बस एक्सीडेंट हो गया है. घटनास्थल पर पहुंचने पर स्थानीय लोगों ने बताया कि हादसे का शिकार हुए लोग प्रवासी थे. सभी को अस्पताल ले जाया गया, जहां छह को मृत घोषित कर दिया गया और दो को इलाज के लिए मेरठ रेफर किया गया. ड्राइवर के खिलाफ लापरवाही का केस दर्ज होगा.’

पुलिस ने मृतकों की पहचान 51 बरस के हरेक सिंह, 22 साल के विकास, 18 साल के गुड्डू, 22 साल के वासुदेव, 28 साल के हरीश और 28 बरस के विरेंद्र के तौर पर की है. पुलिस ये पता लगाने की कोशिश कर रही है कि वो कहां से निकले थे और उनका घर कहां है, ताकि परिवार वालों को सूचना दी जा सके.

पुलिस का कहना है कि हादसे के वक्त बस खाली थी, और चूंकि इस वक्त पब्लिक ट्रांसपोर्ट के लिए बसें नहीं चल रही हैं, केवल प्रवासियों की निकासी के लिए चल रही है, तो हो सकता है कि इसी प्रक्रिया में लगी हुई बस से हादसा हुआ है. पुलिस की टीम ड्राइवर की तलाश कर रही है.

ऐसा ही एक हादसा मध्य प्रदेश के गुना में हुआ. एक ट्रक में करीब 60 मज़दूर महाराष्ट्र से उत्तर प्रदेश जा रहे थे. 13 मई की रात के वक्त वो गुना क्रॉस कर रहे थे, तभी ट्रक एक बस से जा भिड़ा. हादसे में ट्रक में सवाल 8 मज़दूरों की मौत हो गई. वहीं 50 से ज्यादा घायल हो गए. घायलों को इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है. घटना गुना के कैंट इलाके में हुई.


वीडियो देखें: तस्वीर: औरंगाबाद ट्रेन हादसे में मारे गए मज़दूरों के शव अपने पीछे अनंत सवाल छोड़ गए!

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

20 लाख करोड़ के आर्थिक पैकेज में से पहले दिन वित्त मंत्री ने क्या-क्या ऐलान किया?

20 लाख करोड़ के आर्थिक पैकेज की डिटेल दी.

पीएम मोदी ने जिस Y2K क्राइसिस का ज़िक्र किया, वो क्या था?

पीएम ने 12 मई को देश को संबोधित किया.

अपने भाषण में नरेंद्र मोदी ने अगले लॉकडाउन के बारे में ये हिंट दे दिया है

मोदी के 34 मिनट के भाषण में काम की बात क्या थी?

ट्रेन के बाद अब फ़्लाइट शुरू होगी तो यात्रा के क्या नियम होंगे?

केबिन लगेज, जांच और बैठने की व्यवस्था को लेकर क्या नियम हैं?

गुजरात: CM बदलने की संभावना पर खबर चलाई, पुलिस ने राजद्रोह का केस लिख लिया

इस मामले में गुजरात सरकार की किरकिरी हो रही है.

किसी को सही-सही पता ही नहीं कि दिल्ली में कोरोना से कितनी मौतें हुईं!

सरकार और नगर निगम के आंकड़े अलग-अलग.

चीन से ठगे जाने के बाद इंडिया ने अपनी टेस्टिंग किट बनाई, कैसे काम करेगी?

किसने बनाई ये टेस्टिंग किट?

कॉन्स्टेबल साब ने दिल्ली में शराब वितरण का लेटेस्ट तरीका निकाला था, नप गए

दिल्ली में शराब की दुकानों पर भीड़ बहुत ज़्यादा है.

12 मई से चलने वाली ट्रेनों के स्टॉपेज, टाइम टेबल और नियम क़ानून की जानकारी यहां देखिए

किस-किस दिन चलेंगी ट्रेनें?

कोरोना: सुपर स्प्रेडर क्या होते हैं और ये इतने खतरनाक क्यों हैं कि अहमदाबाद में सब कुछ बंद करना पड़ा

अहमदाबाद में 14 हजार सुपर स्प्रेडर होने की आशंका जताई जा रही है.