Submit your post

Follow Us

जब सौरव गांगुली के गॉडफादर ने बचाया शोएब अख्तर का करियर

पाकिस्तानी क्रिकेट बोर्ड (PCB) के एक पूर्व चेयरमैन ने चौंकाने वाला खुलासा किया है. उनके मुताबिक, अगर पूर्व BCCI और ICC चीफ जगमोहन डालमिया मदद न करते तो पाकिस्तानी पेसर शोएब अख्तर का करियर 2000-2001 में ही खत्म हो गया होता.

साल 1999 में ICC ने PCB से कहा था कि उनके तेज गेंदबाज शोएब अख्तर की बोलिंग सवालों के घेरे में है. उस वक्त डालमिया ICC के प्रेसिडेंट थे. 1999 से 2003 तक PCB चीफ रहे रिटायर्ड लेफ्टिनेंट जनरल तौक़ीर ज़िया ने इस बारे में कहा,

‘उस वक्त ICC के चेयरमैन रहे डालमिया ने शोएब के बोलिंग एक्शन केस में हमारी काफी मदद की थी. वह हमारे साथ खड़े हुए जबकि ICC के सदस्य जोर देकर कह रहे थे कि अख्तर का बोलिंग एक्शन अवैध था. लेकिन डालमिया और मेरे अड़े रहने के बाद ICC इस बात पर राजी हुई कि जन्म से ही अख्तर की बोलिंग आर्म में एक मेडिकल कंडिशन थी जिसके चलते उनका एक्शन ऐसा था. इसके बाद उन्हें खेलते रहने की इजाजत मिली.’

ज़िया ने यह भी कहा कि कुछ प्लेयर्स ने 2003 के वर्ल्ड कप में अंडर-परफॉर्म किया था, क्योंकि उस वक्त टीम में गुटबाजी चल रही थी. GTV से बात करते हुए ज़िया ने खुलासा किया कि उन्होंने 2003 वर्ल्ड कप के बाद चीफ सेलेक्टर वसीम बारी से कहा था कि वह वसीम अकरम, वक़ार यूनुस और सईद अनवर जैसे दिग्गजों को ड्रॉप कर दें. साउथ अफ्रीका और जिम्बाब्वे में हुए उस वर्ल्ड कप में पाकिस्तान सुपर सिक्स तक भी नहीं पहुंच पाया था.

ज़िया ने कहा,

‘वर्ल्ड कप के बाद मैं प्लेयर्स के प्रदर्शन से काफी निराश था क्योंकि हमने वर्ल्ड कप में अपनी बेस्ट टीम भेजी थी. टूर्नामेंट के पहले से ही मुझे गुटबाजी की ख़बरें सुनाई दे रही थीं. और मुझे शक हुआ कि कुछ लोगों ने अपने विवादों के चलते क्षमता से कम प्रदर्शन किया.

मैं वसीम को वर्ल्ड कप के लिए कप्तान बनाना चाहता था. लेकिन बोर्ड के कई लोगों ने इसका विरोध किया. वर्ल्ड कप के बाद मैंने बारी से कहा कि अब वक्त आ गया है कि पाकिस्तानी क्रिकेट को वसीम, वक़ार, सईद और कई अन्य लोगों से मुक्त किया जाए. फिर हमने राशिद लतीफ को कप्तान बनाया और उससे कहा कि वह नई टीम बनाए.’

गौरतलब है कि 2003 वर्ल्ड कप में वक़ार ने पाकिस्तान की कप्तानी की थी. रिपोर्ट्स आई थीं कि कुछ प्लेयर्स ने वक़ार की मदद नहीं की. ज़िया ने इसी इंटरव्यू में यह भी कहा कि उन्होंने शोएब अख्तर और इंज़माम उल हक़ जैसे सीनियर्स को भी टीम से बाहर किया. जिससे नई टीम बनाई जा सके.


कैफ के बेटे ने कहा था, ‘शोएब पर शॉट मारना आसान है’

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

IPL2020 के जरिए टीम इंडिया में आएगा फाजिल्का का ये लड़का?

IPL2020 के जरिए टीम इंडिया में आएगा फाजिल्का का ये लड़का?

सबकी उम्मीदें शुभमन गिल से लगी है.

आप दीपिका और रकुल प्रीत में उलझे रहे और राजस्थान में इतना बड़ा कांड हो गया!

आप दीपिका और रकुल प्रीत में उलझे रहे और राजस्थान में इतना बड़ा कांड हो गया!

दो दिन से बवाल चल रहा है.

मोदी सरकार ने भ्रष्टाचार रोकने वाले इस क़ानून को जरूरी बनाने की बात से पलटी मार ली

मोदी सरकार ने भ्रष्टाचार रोकने वाले इस क़ानून को जरूरी बनाने की बात से पलटी मार ली

और यह जानकारी ख़ुद सरकार ने दी है.

किसान कर्फ्यू से पहले किसानों ने कहां-कहां ट्रेन रोक दी है?

किसान कर्फ्यू से पहले किसानों ने कहां-कहां ट्रेन रोक दी है?

कई ट्रेनों को कैंसिल किया गया, कई के रूट बदले गए.

केंद्रीय मंत्री सुरेश अंगड़ी का कोविड-19 से निधन

केंद्रीय मंत्री सुरेश अंगड़ी का कोविड-19 से निधन

दिल्ली के एम्स में उनका इलाज चल रहा था.

धोनी का वर्ल्ड कप जिताने वाला सिक्सर याद है! वो अब स्टेडियम में अमर होने वाला है

धोनी का वर्ल्ड कप जिताने वाला सिक्सर याद है! वो अब स्टेडियम में अमर होने वाला है

भारत में किसी खिलाड़ी को जो मुकाम हासिल नहीं हुआ, वो अब धोनी को मिलने वाला है.

अंतरिक्ष में भी लद्दाख जैसी हरकतें कर रहा है चीन

अंतरिक्ष में भी लद्दाख जैसी हरकतें कर रहा है चीन

भारत के सैटेलाइट पर है ख़तरा!

चुनाव लड़ने के लिए गुप्तेश्वर पांडे ने दूसरी बार पुलिस सेवा से रिटायरमेंट ले ली है

चुनाव लड़ने के लिए गुप्तेश्वर पांडे ने दूसरी बार पुलिस सेवा से रिटायरमेंट ले ली है

2009 में भी गुप्तेश्वर पांडे ने वीआरएस लिया था, पर तब बीजेपी ने टिकट नहीं दिया था.

दिल्ली दंगे के लिए पुलिस ने अब इस ग्रुप को जिम्मेदार ठहराया है

दिल्ली दंगे के लिए पुलिस ने अब इस ग्रुप को जिम्मेदार ठहराया है

चार्जशीट में दिल्ली पुलिस ने और क्या कहा है?

किस बात पर पंजाब में सनी देओल के 'सामाजिक बहिष्कार' की बात हो रही है?

किस बात पर पंजाब में सनी देओल के 'सामाजिक बहिष्कार' की बात हो रही है?

कुछ लोग कह रहे हैं कि अपने गांवों में घुसने नहीं देंगे.