Submit your post

Follow Us

शार्दुल ठाकुर ने श्रीलंका से तगड़ा बदला ले लिया है

6 मार्च 2018. निदाहस ट्रॉफी का पहला मैच. इंडिया-श्रीलंका आमने-सामने. इंडिया ने पहले बैटिंग की और 174 का ठीक-ठाक लगने वाला स्कोर खड़ा कर दिया. लगा था फाइट होगी. लेकिन श्रीलंका के इरादे ही कुछ और थे. वो चेस करने उतरे और कहर ढाना शुरू कर दिया. पारी का तीसरा ओवर था. न जाने क्यों रोहित शर्मा जयदेव उनादकट को हटाकर शार्दुल ठाकुर को ले आए. जबकि जयदेव ने पहले ओवर में सिर्फ 6 रन दिए थे. बहरहाल, वो ओवर शार्दुल ठाकुर के लिए दुस्वप्न साबित हुआ. पहली गेंद चौका. दूसरी गेंद चौका. तीसरी गेंद फिर चौका. चौके की हैट्रिक के बाद चौथी गेंद पर छक्का. पांचवी गेंद पर शार्दुल लाइन से भटके और हाई फुल टॉस फेंक दी. कुशल परेरा ने उसे भी चौके के लिए भेज दिया. ऊपर से गेंद नो भी मानी गई. दोबारा पांचवी गेंद फेंकी तो उसपर भी चौका. बस आखिरी गेंद खाली गई. शार्दुल के इस ओवर में 27 रन बन चुके थे. ये भयानक पिटाई थी.

Shardul123

बहरहाल\, शार्दुल ने उस पिटाई को बुरा सपना समझकर भुला डाला है. सबूत श्रीलंका के साथ खेला गया अगला मैच था. सिर्फ 6 दिन बाद. वही टूर्नामेंट, वही मैदान, वही विरोधी टीम. इस बार भी रनों का आंकड़ा 27 ही है. लेकिन एक बड़ा फर्क है. इस बार ये 27 रन चार ओवरों में हैं. साथ ही विकेट कॉलम में चार विकेट्स भी हैं. ये बेहतरीन बोलिंग थी. इस बार भी ठाकुर ने पारी का तीसरा ओवर फेंका. लेकिन हालात जुदा थे. पहली गेंद वाइड फेंकने के बाद अगली ही गेंद पर विकेट ले लिया. रैना के असाधारण कैच की बदौलत गुनातिलाका को चलता किया. पहले ओवर में सिर्फ 10 रन खर्च किए.

अगला ओवर उन्हें 12वां मिला. इसमें पांच रन खर्च कर उन्होंने ख़तरनाक लग रहे थिसारा परेरा का विकेट लिया. उससे अगले ओवर में भी महज़ 7 रन दिए. फिर आया पारी का आखिरी ओवर. पहली गेंद पर चौका खाने के बाद उन्होंने आगे सिर्फ एक रन दिया. हां दो विकेट ज़रूर ले लिए. वो भी लगातार दो गेंदों पर. उनका हैट्रिक चांस बन गया था. आखिरी गेंद पर लगभग उन्हें विकेट मिल ही गया था. लकमल का इनसाइड एज स्टंप के बहुत करीब से गुज़रा.

shardul-thakur

बहरहाल, शार्दुल ठाकुर का फाइनल बोलिंग फिगर था,4-0-27-4. यानी जितने रन पिछले मैच में एक ओवर में लुटा दिए थे, उतने में इस बार सारा कोटा पूरा कर लिया. साथ ही चार विकेट भी झटके.

इसीलिए कहते हैं कि समय कभी एक सा नहीं रहता.


ये भी पढ़ें:

ये सुरेश रैना आदमी है या चीता, क्या ज़बरदस्त कैच लिया है यार!

बांग्लादेश ने पहले श्रीलंका को डसा और फिर बीच मैदान में नागिन डांस भी किया

श्रीलंका में हो रही क्रिकेट सीरीज का नाम NIDAHAS क्यों है?

फाइनल में पाकिस्तान को हराया, रवि शास्त्री ने ऑडी जीती और पूरी टीम उसपर लद गई

434 रन चेस करने के पीछे की वो कहानी, जिसे बहुत कम लोग जानते हैं

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

क्या BYJU'S अच्छी शिक्षा देने के नाम पर लोगों को अनचाहा लोन तक दिलवा रही है?

क्या BYJU'S अच्छी शिक्षा देने के नाम पर लोगों को अनचाहा लोन तक दिलवा रही है?

ये रिपोर्ट कान खड़े कर देगी.

Jack Dorsey ने Twitter का CEO पद छोड़ा, CTO पराग अग्रवाल को बताया वजह

Jack Dorsey ने Twitter का CEO पद छोड़ा, CTO पराग अग्रवाल को बताया वजह

इस्तीफे में पराग अग्रवाल के लिए क्या-क्या बोले जैक डोर्से?

पेपर लीक होने के बाद UPTET परीक्षा रद्द, दोबारा कराने पर सरकार ने ये घोषणा की

पेपर लीक होने के बाद UPTET परीक्षा रद्द, दोबारा कराने पर सरकार ने ये घोषणा की

UP STF ने 23 संदिग्धों को गिरफ्तार किया.

26 नए बिल कौन-कौन से हैं, जिन्हें सरकार इस संसद सत्र में लाने जा रही है

26 नए बिल कौन-कौन से हैं, जिन्हें सरकार इस संसद सत्र में लाने जा रही है

संसद का शीतकालीन सत्र 29 नवंबर से 23 दिसंबर तक चलेगा.

नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट के चकाचक निर्माण से लोगों को क्या-क्या मिलने वाला है?

नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट के चकाचक निर्माण से लोगों को क्या-क्या मिलने वाला है?

पीएम मोदी ने गुरुवार 25 नवंबर को इस एयरपोर्ट का शिलान्यास किया.

कृषि कानून वापस लेने की घोषणा के बाद पंजाब की राजनीति में क्या बवंडर मचने वाला है?

कृषि कानून वापस लेने की घोषणा के बाद पंजाब की राजनीति में क्या बवंडर मचने वाला है?

पिछले विधानसभा चुनाव में त्रिकोणीय मुकाबला था, इस बार त्रिकोणीय से बढ़कर होगा.

UP पुलिस मतलब जान का खतरा? ये केस पढ़ लिए तो सवाल की वजह जान जाएंगे

UP पुलिस मतलब जान का खतरा? ये केस पढ़ लिए तो सवाल की वजह जान जाएंगे

कासगंज: पुलिस लॉकअप में अल्ताफ़ की मौत कोई पहला मामला नहीं.

कासगंज: हिरासत में मौत पर पुलिस की थ्योरी की पोल इस फोटो ने खोल दी!

कासगंज: हिरासत में मौत पर पुलिस की थ्योरी की पोल इस फोटो ने खोल दी!

पुलिस ने कहा था, 'अल्ताफ ने जैकेट की डोरी को नल में फंसाकर अपना गला घोंटा.'

ये कैसे गिनती हुई कि बस एक साल में भारत में कुपोषित बच्चे 91 प्रतिशत बढ़ गए?

ये कैसे गिनती हुई कि बस एक साल में भारत में कुपोषित बच्चे 91 प्रतिशत बढ़ गए?

ये ख़बर हमारे देश का एक और सच है.

आर्यन खान केस से समीर वानखेड़े की छुट्टी, अब ये धाकड़ अधिकारी करेगा जांच

आर्यन खान केस से समीर वानखेड़े की छुट्टी, अब ये धाकड़ अधिकारी करेगा जांच

क्या समीर वानखेड़े को NCB जोनल डायरेक्टर पद से हटा दिया गया है?