Submit your post

Follow Us

शरद पवार के PM मोदी की पेशकश ठुकराने की बात पर बीजेपी ने क्या कहा है, जानिए

नेशनलिस्ट कांग्रेस पार्टी के मुखिया शरद पवार ने कहा था कि 2019 में हुए महाराष्ट्र चुनाव के बाद BJP उनकी पार्टी के साथ गठबंधन को लेकर उत्सुक थी. लेकिन वह गठबंधन के पक्ष में नहीं थे. पवार ने कहा था कि उन्होंने BJP-NCP के गठबंधन को लेकर पीएम मोदी से कह दिया था कि यह संभव नहीं है. बुधवार, 29 दिसंबर को पवार ने ये बात द इंडियन एक्सप्रेस ग्रुप के एक कार्यक्रम में कही थी. पवार के इस बयान पर बीजेपी की प्रतिक्रिया आई है. बीजेपी का कहना है कि पवार अपनी सुविधा के हिसाब से केवल आधा सच बोल रहे हैं.

महाराष्ट्र के भाजपा प्रवक्ता केशव उपाध्याय ने इंडियन एक्सप्रेस से बातचीत में कहा,

पवार ने जो कहा वह केवल आधा सच था… और वह अपनी सुविधा के अनुसार बोल रहे हैं. पार्टी नेता और पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस पहले ही कह चुके हैं कि उन दिनों क्या हुआ था. हम इस बारे में फिर से बात नहीं करना चाहते.

शिवसेना ने क्या कहा?

केशव उपाध्याय की टिप्पणियों पर प्रतिक्रिया देते हुए शिवसेना प्रवक्ता संजय राउत ने कहा,

चूंकि ये शरद पवार कह रहे हैं, इसलिए यह सच होना चाहिए.

संजय राउत ने आगे कहा,

उस दौरान बीजेपी महाराष्ट्र में सरकार बनाने के लिए बेताब थी. वे अजीत पवार और हमारे लोगों (शिवसेना नेताओं) सहित विभिन्न लोगों के साथ संपर्क स्थापित करने की कोशिश कर रहे थे. मुझे पता था कि पवार को भाजपा से प्रस्ताव मिला था और उन्होंने हमसे इस बारे में बात भी की थी. उस वक्त हम एक-दूसरे से कुछ नहीं छिपा रहे थे. इस बारे में कुछ भी रहस्य नहीं था…कौन बैठक कर रहा था और चर्चा कर रहा था, हम सब कुछ जानते थे. हमारे बीच पारदर्शिता थी और शायद बीजेपी को इसकी जानकारी नहीं थी. इस पारदर्शिता के कारण वे सरकार नहीं बना सके.

वहीं राज्य विधान परिषद में विपक्ष के नेता प्रवीण दारेकर ने कहा,

दोनों नेताओं के बीच जो कुछ भी हुआ, केवल वे ही जानते हैं. अतीत को न खोदें. अब महाराष्ट्र में एमवीए (महाविकास आघाडी) सरकार है. राजनीति में गठबंधन होते हैं, इसमें कोई नई बात नहीं है.

पवार के साथ, राउत को महाविकास आघाडी सरकार का आर्किटेक्ट माना जाता है, इन दोनों की कोशिशों के बाद ही यह गठबंधन हुआ था. शिवसेना ने इससे पहले राज्य में भाजपा के साथ अपने दशकों पुराने गठबंधन को खत्म कर दिया था, दोनों दलों के बीच मुख्यमंत्री पद को लेकर मतभेद हो गया था.


महाराष्ट्र चुनाव के बाद की घटनाओं को याद करते हुए शरद पवार ने क्या कहा?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

राजीव गांधी के हत्यारे को सुप्रीम कोर्ट ने रिहा किया, जानिए किस कानून का इस्तेमाल हुआ?

राजीव गांधी के हत्यारे को सुप्रीम कोर्ट ने रिहा किया, जानिए किस कानून का इस्तेमाल हुआ?

वो पेरारिवलन, जिसने राजीव गांधी की हत्या में इस्तेमाल जैकेट के लिए बैटरी सप्लाई की थी

सुप्रीम कोर्ट में बाबरी मस्जिद वाले जज सुनेंगे ज्ञानवापी मस्जिद वाला केस!

सुप्रीम कोर्ट में बाबरी मस्जिद वाले जज सुनेंगे ज्ञानवापी मस्जिद वाला केस!

मामला सुप्रीम कोर्ट क्यों गया?

LIC-IPO की लिस्टिंग पर लगी 42,500 करोड़ की चपत, अब क्या करें ?

LIC-IPO की लिस्टिंग पर लगी 42,500 करोड़ की चपत, अब क्या करें ?

ऑफर प्राइस से 8% नीचे लिस्ट हुआ देश का सबसे बड़ा IPO

मुंडका अग्निकांड: मृतकों का आंकड़ा 26 तक पहुंचा, बचाव के लिए NDRF को बुलाया गया

मुंडका अग्निकांड: मृतकों का आंकड़ा 26 तक पहुंचा, बचाव के लिए NDRF को बुलाया गया

इस घटना ने दिल्ली के लोगों को हिलाकर रख दिया है.

छत्तीसगढ़ के रायपुर एयरपोर्ट पर सरकारी हेलीकॉप्टर क्रैश, दो पायलटों की मौत

छत्तीसगढ़ के रायपुर एयरपोर्ट पर सरकारी हेलीकॉप्टर क्रैश, दो पायलटों की मौत

क्रैश का कारण अभी साफ नहीं हो सका है.

जम्मू-कश्मीर में एक और कश्मीरी पंडित की हत्या, आतंकियों ने सरकारी दफ्तर में घुसकर गोली मारी

जम्मू-कश्मीर में एक और कश्मीरी पंडित की हत्या, आतंकियों ने सरकारी दफ्तर में घुसकर गोली मारी

मृतक राहुल भट्ट राजस्व विभाग में कार्यरत थे.

क्या क्रिप्टो करंसी के बुरे दिन शुरू हो गए हैं ? छह महीने में आधी हो गईं कीमतें

क्या क्रिप्टो करंसी के बुरे दिन शुरू हो गए हैं ? छह महीने में आधी हो गईं कीमतें

30% इनकम टैक्स के बाद अब 28% जीएसटी लगाने की तैयारी

पेट्रोल के दाम घटाने की मांग कर रहे विपक्षी राज्यों को पीएम मोदी ने नवंबर याद दिला दिया

पेट्रोल के दाम घटाने की मांग कर रहे विपक्षी राज्यों को पीएम मोदी ने नवंबर याद दिला दिया

मुख्यमंत्रियों के साथ वर्चुअल मीटिंग में पीएम मोदी ने नाम ले-लेकर सुनाया.

धार्मिक जुलूस की अनुमति की प्रक्रिया जान लो, जहांगीरपुरी हिंसा की वजह समझ आ जाएगी

धार्मिक जुलूस की अनुमति की प्रक्रिया जान लो, जहांगीरपुरी हिंसा की वजह समझ आ जाएगी

जानकारों ने जहांगीरपुरी में निकले जुलूस पर सवाल उठाए हैं.

लेफ्टिनेंट जनरल मनोज पांडे का सेनाध्यक्ष बनना खास क्यों है?

लेफ्टिनेंट जनरल मनोज पांडे का सेनाध्यक्ष बनना खास क्यों है?

मौजूदा आर्मी चीफ मनोज मुकुंद नरवणे के रिटायर्ड होने पर पदभार संभालेंगे.