Submit your post

Follow Us

असम को भारत से 'काटने' की बात कहने वाले शरजील इमाम पर राजद्रोह का मामला दर्ज

जवाहर लाल यूनिवर्सिटी (JNU) के छात्र शरजील इमाम के ख़िलाफ़ राजद्रोह का मुकदमा दर्ज किया गया है. आरोप है कि शरजील इमाम ने असम को भारत से अलग करने की बात कही. एनडीटीवी के मुताबिक, अलीगढ़ पुलिस का कहना है कि शरजील ने ये बात अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी (AMU) में कही. उसके ख़िलाफ़ राजद्रोह, आपराधिक षड्यंत्र, धार्मिक आधार पर लोगों को भड़काने के आरोप में मामला दर्ज किया गया है. इसका वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ. हालांकि बीजेपी प्रवक्ता संबित पात्रा ने आरोप लगाया कि दिल्ली के शाहीन बाग़ में शरजील ने ये बात कही.

वीडियो में क्या है

वीडियो में शरजील इमाम कहता हुआ दिख रहा है कि नॉर्थ ईस्ट को भारत से जोड़ने वाली ‘चिकेन नेक’ को काट देंगे. उसने कहा, ‘अगर हमारे पास 5 लाख लोग संगठित हों तो हम हिंदुस्तान और नॉर्थ-ईस्ट को परमानेंटली कट कर सकते हैं. परमानेंटली न सही तो एकाध महीने के लिए तो कट कर ही सकते हैं.’

अलीगढ़ के SSP उमेश कुमार ने बताया,

शरजील ने 16 जनवरी को नागरिकता संशोधन कानून (CAA) के ख़िलाफ़ AMU में आयोजित प्रोटेस्ट में हिस्सा लेते हुए देश विरोधी बातें कही थीं. भाषण के वीडियो के आधार पर उसके ख़िलाफ़ केस दर्ज किया गया है. उसे गिरफ्तार करने के लिए पुलिस की एक टीम को रवाना किया गया है.

AMU के प्रवक्ता ने कहा- टिप्पणियां आपत्तिजनक

AMU के प्रवक्ता प्रोफेसर शाफे किदवई ने कहा कि वीडियो में की गई कुछ टिप्पणियां बेहद आपत्तिजनक हैं और यूनिवर्सिटी प्रशासन इस मामले को बहुत गम्भीरता से ले रहा है. उन्होंने कहा,

ऐसी किसी भी हरकत को कतई बर्दाश्त नहीं किया जा सकता. हमने अपने सुरक्षा स्टाफ को भी सचेत किया है कि वह बाहर से आने वाले लोगों को लेकर अतिरिक्त सावधानी बरते, क्योंकि वे एएमयू परिसर में घुसकर माहौल खराब कर सकते हैं. छात्रों से भी कहा गया है कि वे ऐसे किसी भी तत्व से परहेज करें.

शाहीन बाग़ प्रोटेस्ट की तरफ से बयान जारी किया गया

शरजील इमाम को शाहीन बाग़ प्रोटेस्ट का आयोजनकर्ता भी बताया गया. इस पर शाहीन बाग़ प्रोटेस्ट के ट्विटर हैंडल से बयान जारी किया गया है. इसमें कहा गया कि शरजील इमाम का ये भाषण शाहीन बाग़ या इसके आस-पास नहीं दिया गया और वो किसी आयोजन समिति का हिस्सा नहीं है क्योंकि यहां कोई आयोजन समिति नहीं है. बयान में कहा गया,

शरजील इमाम या किसी एक शख्स को प्रोटेस्ट का आयोजनकर्ता नहीं बताया जा सकता. प्रोटेस्ट को महिलाएं लीड करती आ रही हैं. शाहीन बाग़ में कोई आयोजन समिति नहीं है, कोई नेता नहीं है और ना ही कोई एक आयोजनकर्ता है. शरजील इमाम किसी आयोजन समिति का हिस्सा नहीं है क्योंकि ऐसी कोई समिति है ही नहीं.

ट्विटर हैंडल पर कहा गया कि हम इस तरह के किसी भी नैरेटिव से ख़ुद को अलग करते हैं. 25 जनवरी, 2020 को प्रोटेस्ट अपने 43वें दिन में प्रवेश करेगा.

बीजेपी ने वीडियो को शाहीन बाग़ से जोड़ा

असम के वित्त मंत्री हिमंता बिस्वा सरमा ने शनिवार को कहा, ‘एक शख्स जिसका नाम शरजील इमाम है और वह शाहीन बाग में CAA के ख़िलाफ़ विरोध-प्रदर्शन का कथित रूप से आयोजक भी है, ने धमकी दी कि वह असम को शेष भारत से काट देगा. उसने बहुत ही देशद्रोही बात कही है. ऐसे शख्स को अदालत के कटघरे में लाने की जरूरत है और कानून के मुताबिक उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी.’

संबित पात्रा ने भाषण का वीडियो ट्वीट किया 

25 जनवरी को इस वीडियो को ट्वीट करते हुए बीजेपी प्रवक्ता संबित पात्रा ने कहा कि अल्लाह हू अकबर के नारों के बीच भारत को तोड़ने की बात हो रही है. बाद में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में उन्होंने कहा कि शाहीन बाग दिशाहीन बाग़ है. उन्होंने कहा, ‘हमारे पास इसके सबूत हैं कि शाहीन बाग़ में किसी तरह की साजिश हो रही है.’

संबित पात्रा ने आरोप लगाया कि दिल्ली का शाहीन बाग़ तौहीन बाग़ है और यहां भारत के टुकड़े-टुकड़े करने की कोशिश की जा रही है. शाहीन बाग़ में CAA-NRC के ख़िलाफ़ प्रदर्शन को एक महीने से ज़्यादा हो गए हैं. इसमें महिलाएं बड़ी संख्या में हिस्सा ले रही हैं.


भयंकर वायरल: दिल्ली के शाहीन बाग में CAA के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे लोगों का वीडियो क्यों रहा वायरल?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

अब केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर ने लगवाया नारा, "देश के गद्दारों को, गोली मारो *लों को"

क्या केन्द्रीय मंत्री ऐसे बयान दे सकता है?

माओवादियों ने डराया तो गांववालों ने पत्थर और तीर चलाकर माओवादी को ही मार डाला

और बदले में जलाए गए गांववालों के घर

बंगले की दीवार लांघकर पी. चिदम्बरम को गिरफ्तार किया, अब राष्ट्रपति मेडल मिला

CBI के 28 अधिकारियों को राष्ट्रपति पुलिस मेडल दिया गया.

झारखंड के लोहरदगा में मार्च निकल रहा था, जबरदस्त बवाल हुआ, इसका CAA कनेक्शन भी है

एक महीने में दूसरी बार झारखंड में ऐसा बवाल हुआ है.

BJP नेता कैलाश विजयवर्गीय लोगों को पोहा खाते देख उनकी नागरिकता जान लेते हैं!

विजयवर्गीय ने कहा- देश में अवैध रूप से रह रहे लोग सुरक्षा के लिए बड़ा खतरा हैं.

CAA-NRC, अयोध्या और जम्मू-कश्मीर पर नेशन का मूड क्या है?

आज लोकसभा चुनाव हुए तो क्या होगा मोदी सरकार का हाल?

JNU हिंसा केस में दिल्ली पुलिस की बड़ी गड़बड़ी सामने आई है

RTI से सामने आई ये बात.

CAA पर सुप्रीम कोर्ट में लगी 140 से ज्यादा याचिकाओं पर बड़ा फैसला आ गया

असम में NRC पर अब अलग से बात होगी.

दिल्ली चुनाव में BJP से गठबंधन पर JDU प्रवक्ता ने CM नीतीश को पुरानी बातें याद दिला दीं

चिट्ठी लिखी, जो अब वायरल हो रही है.

CAA और कश्मीर पर बोलने वाले मलयेशियाई PM अब खुद को छोटा क्यों बता रहे हैं?

हाल में भारत और मलयेशिया के बीच रिश्तों में खटास बढ़ती गई है.