Submit your post

Follow Us

SC-ST ऐक्ट पर भारत बंद, देश के कई हिस्सों में हिंसा, अब तक पांच की मौत

एससी-एसटी ऐक्ट पर सुप्रीम कोर्ट के आदेश के खिलाफ 2 अप्रैल को हुए भारत बंद के दौरान हिंसा हो गई. इस हिंसा को रोकने गई पुलिस ने फायरिंग भी की. इस दौरान मध्यप्रदेश के ग्वालियर में दो, भिंड में एक और मुरैना में एक आदमी की मौत हो गई. वहीं राजस्थान में भी एक आदमी की मौत हो गई. पूरे देश के अलग-अलग हिस्सों के 10 से ज्यादा राज्य प्रभावित हुए हैं. प्रदर्शन की के दौरान सैकड़ों गाड़ियों में आग लगा दी गई है और कई किलोमीटर तक रेल की पटरियां उखाड़ दी गई हैं.

दलित उत्पीड़न रोकने के लिए 30 जनवरी 1990 को एक कानून बना था. इसे नाम दिया गया था अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति (अत्याचार निरोधक) अधिनियम, 1989. इस ऐक्ट को और भी मजबूती मिली अप्रैल 2016 में. मोदी सरकार ने 14 अप्रैल 2016 को इस कानून को कुछ संसोधनों के साथ फिर से लागू किया गया था. सब ठीक चल रहा था, अचानक 20 मार्च 2018 को सुप्रीम कोर्ट ने एक फैसला दिया. फैसला एससी-एसटी ऐक्ट से ही जुड़ा था, जिसमें सुप्रीम कोर्ट ने कुछ बदलाव करने का आदेश दिया.

इस आदेश में दो बातें खास थीं. पहली ये कि ऐक्ट के मुताबिक केस दर्ज होने के बाद तुरंत गिरफ्तारी नहीं होगी और दूसरी ये कि केस दर्ज होने के बाद भी अग्रिम जमानत मिल जाएगी. इसके अलावा केस दर्ज होने के बाद मामले की जांच होगी, जांच कम से कम डिप्टी एसपी रैंक का अधिकारी करेगा और सरकारी अधिकारी के खिलाफ मंजूरी मिलने के बाद ही केस दर्ज होगा.

2016 में ऊना में चार दलितों की पिटाई की गई थी, जिसके बाद पूरे देश में दलित आंदोलन पर उतर आए थे.
2016 में ऊना में चार दलितों की पिटाई की गई थी, जिसके बाद पूरे देश में दलित आंदोलन पर उतर आए थे.

सुप्रीम कोर्ट के इन बदलावों का ये नतीजा हुआ कि देश भर के दलित संगठन इस फैसले के खिलाफ लामबंद हो गए. जब प्रतिरोध की आवाज तेज होने लगी, तो केंद्र सरकार की ओर से ये आश्वासन दिया गया कि सरकार सुप्रीम कोर्ट में रिव्यू पिटीशन दाखिल करेगी. 20 मार्च से 28 मार्च आ गया, लेकिन केंद्र सरकार की ओर से सुप्रीम कोर्ट में रिव्यू पिटीशन दाखिल नहीं किया गया. इसके बाद यूपी के बहराइच से बीजेपी की सांसद साध्वी सावित्री बाई फुले ने अपनी ही सरकार पर निशाना साधा. 1 अप्रैल को सांसद फुले ने लखनऊ में भारतीय संविधान और आरक्षण बचाओ महारैली की.

savitri1

इसमें उन्होंने कहा-

‘मैं सांसद रहूं या फिर ना रहूं, संविधान से छेड़छाड़ नहीं होने दूंगी. संविधान और आरक्षण खतरे में है. हम आरक्षण की मांग कर रहे हैं. यह कोई भीख नहीं है’

इससे पहले बीजेपी सांसद साध्वी ने बाबा साहेब भीमराव आंबेडकर के नाम को बदलने पर आपत्ति जताई थी और कहा था कि उनके नाम से छेड़छाड़ बर्दाश्त नहीं की जाएगी. हालांकि इससे पहले भी 23 मार्च को बीजेपी के ही सांसद उदित राज ने कहा था कि पुनरीक्षण याचिका दाखिल करने के लिए वो खुद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मिलेंगे. लेकिन पीएम मोदी और सांसद उदित राज की मुलाकात नहीं हो पाई.

udit

एक ओर बीजेपी के अंदर ही अंदर दलित नेताओं का गुस्सा सुलगता रहा और दूसरी ओर पूरे देश के दलित संगठन लामबंद होते रहे. दलित संगठनों ने 2 अप्रैल को पूरा भारत बंद बुलाया था. वहीं बीजेपी को जब लगा कि नुकसना ज्यादा हो जाएगा तो 2 अप्रैल को ही सुप्रीम कोर्ट में रिव्यू पिटीशन फाइल कर दी गई. जब तक ये पिटीशन फाइल होती, देर हो चुकी थी. पूरे देश में हजारों की संख्या में दलित समुदाय के लोग सड़कों पर उतर गए थे और प्रदर्शन शुरू कर दिया था. इस प्रदर्शन के दौरान कई शहरों में ट्रेन रोक दी गईं, कई शहरों आगजनी और तोड़फोड़ जैसी घटनाएं हुईं और हिंसक झड़पों के बीच देश के कई शहरों में दुकानों को बंद रखा गया. इस बीच विपक्ष भी दलितों के समर्थन में उतर आया. कांग्रेस, राजद और वामपंथी पार्टियों ने भी भारतबंद का समर्थन किया. इसके बाद राहुल गांधी ने ट्वीट कर इस बंद को समर्थन दिया.

मेरठ में पुलिस चौकी को लगाई आग भारत बंद के दौरान पश्चिमी यूपी के मेरठ में शोभापुर पुलिस चौकी में आगजनी कर दी गई. कई गाड़ियों में तोड़फोड़ की गई और प्रदर्शनकारियों की पुलिस से कई जगहों पर झड़प हुई.


आगरा में भी तोड़फोड़ हुई, जिसके बाद फोर्स लगानी पड़ी.

पुलिस ने मेरठ में कई जगहों पर लाठीचार्ज कर दिया और लोगों को बुरी तरह से पीटा.

बिहार में भीम सेना ने रोके ट्रेनों के पहिए

बिहार के कई जिलों में भीम सेना के नेतृत्व में भारत बंद बुलाया गया था. इस दौरान अररिया, सुपौल, मधुबनी, दरभंगा, जहानाबाद और आरा में कई जगहों पर सड़कों पर जाम लगा दिया गया. कई जगहों पर ट्रेन रोक दी गई और सड़कों पर टायर जलाकर विरोध प्रदर्शन किया गया.

पंजाब में रद कर दी गई परीक्षा पंजाब के कई शहर भारत बंद से प्रभावित हुए. इन शहरों में अमृतसर, पठानकोट और कपूरथला ज्यादा प्रभावित हुए हैं. कपूरथला में कई गाड़ियों में तोड़फोड़ की गई है. एक पिज्जा आउटलेट पर पथराव भी किया गया है. पूरे प्रदेश में 10वीं और 12वीं की परीक्षाएं रद कर दी गई हैं.

ओडिशा में भी रोकी गई ट्रेन

ओडिशा के संबलपुर में सुप्रीम कोर्ट के फैसले के विरोध में प्रदर्शनकारियों ने ट्रेन रोकी. जिस कारण कई ट्रेंने प्रभावित हुई हैं.

मध्यप्रदेश में चार की मौत,  लगा कर्फ्यू

भारत बंद का असर मध्यप्रदेश में सबसे ज्यादा रहा. मध्यप्रदेश के भिंड, ग्वालियर और मुरैना में कई गाड़ियों को आग के हवाले कर दिया गया. स्थितियां इतनी खराब हो गईं वहां पर पुलिस को फायरिंग करनी पड़ी और कर्फ्यू लगाना पड़ा. भिंड में गोली लगने के एक आदमी की मौत हो गई. इसके अलावा ग्वालियर में दो और मुरैना में एक आदमी की गोली लगने से मौत हुई है. स्थितियां और भी खराब होती देखकर प्रशासन ने इंटरनेट सेवा ठप कर दी है और धारा 144 लगा दी गई है.

इसके अलावा ग्लालियर जिले के कुछ हिस्सों में भी कर्फ्यू लगाया गया है.

राजस्थान में भी कई जगों पर रोकी गई ट्रेन राजस्थान के जयपुर में कई जगहों पर ट्रेन रोककर प्रदर्शन हुए. प्रदर्शन के दौरान हुई पुलिस फायरिंग में एक आदमी की मौत भी हो गई है.

इसके अलावा बाड़मेर में करणी सेना और दलित संगठनों के बीच हिंसक झड़प हो गई.

झारखंड में पुलिस ने किया लाठीचार्ज

इसके अलावा देश के और भी कई हिस्सों से हिंसक झड़पों की खबरें सामने आ रही हैं. इसका सबसे ज्यादा प्रभाव उत्तर प्रदेश, बिहार, पंजाब, राजस्थान और मध्यप्रदेश पर पड़ा है.


 

ये भी पढ़ें:

क्या है SC-ST ऐक्ट, जिसके लिए पूरा भारत बंद कर रहे हैं दलित संगठन

मुझे लगा था दलित बर्तन को छूते हैं तो करंट आता होगा

ओबीसी रिजर्वेशन पर लालू यादव ने देश से झूठ बोला

गुजरात चुनावः ‘अमूल’ की कामयाबी के कसीदों में खेड़ा-आणंद इलाके की ये सच्चाई छुप जाती है

UP में एक दलित ने स्टैंप पेपर पर अंगूठा लगाकर विधायक पुत्र को अपने बेटे के कत्ल के आरोप से बरी कर दिया

 

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

क्या चल रहा है?

भारत से मोहब्बत करने वाले इस फेमस यूट्यूबर के यहां आने पर बैन क्यों?

भारत से मोहब्बत करने वाले इस फेमस यूट्यूबर के यहां आने पर बैन क्यों?

कार्ल रॉक ने बताया है कि वह अपनी पत्नी से दूर निर्वासित जीवन जीने को मजबूर हैं.

यूपी: महिला प्रस्तावक से बदसलूकी के मामले में 6 पुलिस अधिकारी सस्पेंड, दो आरोपी गिरफ्तार

यूपी: महिला प्रस्तावक से बदसलूकी के मामले में 6 पुलिस अधिकारी सस्पेंड, दो आरोपी गिरफ्तार

उधर अखिलेश यादव ने बीजेपी पर निशाना साधा है.

वसीम जाफर क्यों चाहते हैं राहुल द्रविड़ को नहीं होना चाहिए टीम इंडिया का कोच?

वसीम जाफर क्यों चाहते हैं राहुल द्रविड़ को नहीं होना चाहिए टीम इंडिया का कोच?

वजह के साथ सही बात बोली है.

यूपी में महिलायों से बदसलूकी पर पप्पू यादव ने अखिलेश यादव को झाड़ लगाई, जवाब देने BJP सामने आई

यूपी में महिलायों से बदसलूकी पर पप्पू यादव ने अखिलेश यादव को झाड़ लगाई, जवाब देने BJP सामने आई

मामला ब्लॉक प्रमुख चुनाव से जुड़ा था.

कानपुर: दलित युवक को पेड़ से बांधकर मारा, प्राइवेट पार्ट में डंडा डालने की कोशिश की

कानपुर: दलित युवक को पेड़ से बांधकर मारा, प्राइवेट पार्ट में डंडा डालने की कोशिश की

पुलिस पर भी आरोप है कि उसने शिकायत करने गए पीड़ित के पिता को भगा दिया.

भारत के खिलाफ सीरीज़ में श्रीलंका को मिलेगा नया कप्तान!

भारत के खिलाफ सीरीज़ में श्रीलंका को मिलेगा नया कप्तान!

किस खिलाड़ी को मिलने वाली है टीम की कमान.

राम भक्त गोपाल ने मुस्लिम महिलाओं को उठाने वाले बयान के लिए गर्मी को जिम्मेदार बता दिया!

राम भक्त गोपाल ने मुस्लिम महिलाओं को उठाने वाले बयान के लिए गर्मी को जिम्मेदार बता दिया!

जामिया में क्यों गोली चलाई, इस पर भी बोला है.

छह मैचों के दौरे के लिए BCCI, श्रीलंका को कितना पैसा देगा?

छह मैचों के दौरे के लिए BCCI, श्रीलंका को कितना पैसा देगा?

श्रीलंका क्रिकेट बहुत खुश है.

धवन की जगह फिक्स नहीं लेकिन सूर्या का स्लॉट पक्का दिख रहा है!

धवन की जगह फिक्स नहीं लेकिन सूर्या का स्लॉट पक्का दिख रहा है!

T20 विश्वकप में क्या ऐसा होगा?

दिल्ली हाई कोर्ट को Uniform Civil Code की पैरवी करने की जरूरत क्यों महसूस हुई?

दिल्ली हाई कोर्ट को Uniform Civil Code की पैरवी करने की जरूरत क्यों महसूस हुई?

तलाक के एक मामले की सुनवाई करते हुए हाई कोर्ट ने यूसीसी के मुद्दे पर बड़ी टिप्पणी की.