Submit your post

Follow Us

सपा के धरने में पूर्व मंत्री आकर बैठे तो नगर अध्यक्ष ने धक्के मार-मार कर हटा दिया!

समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ताओं ने गुरुवार, 12 अगस्त को लखनऊ नगर निगम पर प्रदर्शन किया. धरना भी दिया. इस दौरान एक अजीब वाकया हुआ. प्रदर्शन मेंं शामिल होने के लिए पूर्व मंत्री रविदास मेहरोत्रा भी पहुंचे. जब उन्होंने धरने पर बैठने की कोशिश की तो पहले से वहां बैठकर नारे लगा रहे नेताओं ने उन्हें धक्के मार-मारकर साइड कर दिया. इसका वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल है. मामला गरमाने के बाद समाजवादी पार्टी  के नगर अध्यक्ष ने सफाई देते हुए जो वजह बताई, वो भी देखने लायक है.

नगर निगम पर धरना

लखनऊ के हजरतगंज के पास बालू अड्डा इलाके में गंदा पानी पीने की वजह से कई लोग बीमार हो रहे हैं. डायरिया से एक बच्चे की मौत भी हो चुकी है. इसी को लेकर सपा नेताओं ने नगर निगम लखनऊ में प्रदर्शन का आयोजन किया था. वहां कार्यकर्ताओं की ओर से जमकर नारेबाजी की गई. नगर आयुक्त को हटाने की मांग की गई.

नगर अध्यक्ष सुशील दीक्षित नगर की अगुआई में निगम कार्यालय के गेट पर बैठकर नारेबाजी हो रही थी, उसी दौरान सपा के कद्दावर नेता और पूर्व मंत्री रविदास मेहरोत्रा वहां आकर बैठने लगे. जैसे ही वह नगर अध्यक्ष सुशील दीक्षित के आगे आकर बैठे, पीछे से उन्हें धक्के मारे जाने लगे. सुशील दीक्षित और अन्य पार्टी कार्यकर्ताओं ने नाराज़गी जाहिर करते हुए मेहरोत्रा को धक्का दे-देकर हटा दिया. देखिए वीडियो-

‘गर्मी में चक्कर आ रहे थे’

पार्टी के पूर्व मंत्री को इस तरह धक्का देकर हटाने से मामला गरमा गया. उसके बाद सपा के नगर अध्यक्ष सुशील दीक्षित ने सफाई देते हुए कहा,

लखनऊ नगर निगम पर महानगर समाजवादी पार्टी का धरना था. कार्यक्रम में काफी भीड़ हो गई थी. गर्मी का माहौल था. जहां पर हम लोग बैठे थे, चाहते थे कि लोग देखें कि समाजवादी पार्टी के लोग प्रदर्शन कर रहे हैं. जब तीन-चार कार्यकर्ता वहां सामने आकर बैठे तो हमने उनसे खिसकने के लिए कहा और वो खिसक गए. उसके बाद माननीय रविदास मेहरोत्रा जी, जो यूपी में कैबिनेट मंत्री रहे हैं, आए तो हम पहचान नहीं पाए. गर्मी का माहौल था. हमको चक्कर-सा आ रहा था. हमको समझ में नहीं आया कि ये मंत्री जी हैं. हमको लगा कि कोई कार्यकर्ता है. इसलिए हमने धीरे से पीछे से मंत्री जी से खिसकने के लिए कहा.

सुशील दीक्षित ने आगे कहा,

लेकिन पूरे लखनऊ में भारतीय जनता पार्टी के लोगों ने दुष्प्रचार करके मोबाइल पर वीडियो को वायरल करने का काम किया, जो गलत है. माननीय रविदास मेहरोत्रा जी पूर्व कैबिनेट मंत्री रहे हैं. 32 साल पहले लखनऊ में विधायक बने थे. इनका सदैव आदर है. कई आंदोलनों में हमने साथ में काम किया है. रविदास मेहरोत्रा जी का पूरी पार्टी सम्मान करती है. मैं बार-बार कहता हूं कि वो लखनऊ के हमारे सबसे बड़े नेता हैं. बीजेपी के दुष्प्रचार पर ध्यान न दिया जाए.

सपा के नेता इसकी चाहे जो वजह बताएं, लेकिन बीजेपी के अलावा सोशल मीडिया पर तमाम लोग इसे फोटो खिंचाने के चक्कर में हुई फजीहत करार दे रहे हैं.


यूपी में सपा के प्रदर्शन में ‘पाकिस्तान ज़िंदाबाद’ के नारे क्या सच में लगाये गए?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

तेज प्रताप यादव पत्रकारों को किस बात पर धमका रहे हैं?

पोस्टर वॉर के पीछे की कहानी क्या है?

हरियाणा में कई सरकारी भर्ती परीक्षाओं के पेपर लीक होने का दावा, सवालों के घेरे में HSSC

3 साल बाद हुई कॉन्स्टेबल भर्ती परीक्षा को भी पेपर लीक कांड के बाद रद्द कर दिया गया है.

Ujjwala Yojana 2.0: मोदी सरकार की फ्लैगशिप स्कीम में नया क्या है?

पीएम मोदी ने मंगलवार को उज्ज्वला योजना के दूसरे संस्करण की शुरुआत की.

दलितों के लिए आपत्तिजनक बातें कहने वाली एक्ट्रेस मीरा के खिलाफ पुलिस ने एक्शन लिया

पुलिस ने 7 धाराओं में मामला दर्ज कर लिया है. 'बिग बॉस' का हिस्सा रह चुकी हैं मॉडल कम एक्ट्रेस मीरा मिथुन.

बाबर पर बनी इस वेब सीरीज़ का ट्रेलर देखकर इसकी नई डायरेक्टर से उम्मीदें बंध गई हैं

Disney Plus Hotstar की नई वेब सीरीज़ The Empire का ट्रेलर आया.

अनिल देशमुख को फंसा देगा वो काग़ज़, जिसके लिए मुंबई पुलिस ने CBI तक को धमका दिया?

क्या ये काग़ज़ CBI के हत्थे लगने से अनिल देशमुख की हालत ख़राब हो जाएगी?

'CID', 'जोधा अकबर' जैसे टीवी शोज़ में काम कर चुके एक्टर को डायबिटीज़ के चलते पैर कटवाना पड़ा

लोकेंद्र सिंह राजावत रणबीर कपूर के साथ 'जग्गा जासूस' में भी नज़र आ चुके हैं.

मुहर्रम को लेकर यूपी पुलिस के 'गोपनीय' सर्कुलर में क्या है, जिस पर मुस्लिम धर्मगुरुओं की सख्त आपत्ति है?

यूपी पुलिस का कहना है कि उसके सर्कुलर में कुछ भी नया नहीं है.

7 लाख का इनामी गैंगस्टर काला जठेड़ी यूपी के सहारनपुर से गिरफ्तार

साथी अनुराधा उर्फ मैडम मिंज भी गिरफ्तार.

संसद में हंगामे का नतीजा, लोकसभा में इन 5 चर्चित विधेयकों को पारित होने में एक घंटा भी नहीं लगा

राज्यसभा का हाल भी जान लीजिए.