Submit your post

Follow Us

क्या BCCI ने अश्विन को प्लानिंग के साथ बचाया?

78 टेस्ट मैच, 409 विकेट और 2011 से लगातार चल रहा करियर. ये आंकड़ें हैं भारतीय स्पिनर रविचन्द्रन अश्विन के. लेकिन इन लाजवाब आंकड़ों के बावजूद पाकिस्तान के पूर्व स्पिनर सईद अजमल ने अश्विन के ऐक्शन पर सवाल खड़े किए हैं. सईद ने कहा है कि BCCI ने अश्विन को क्रिकेट से इसलिए दूर रखा जिससे कि वो ICC के बैन से बच सकें. साथ ही उन्होंने विश्वकप 2011 में सचिन के DRS डिसीज़न पर भी शंका जताई है.

क्रिकेट वेबसाइट क्रिकविज़ से बात करते हुए सईद अजमल ने कहा,

”आपने बिना किसी से पूछे सभी नियमों और विनियमों को बदल दिया. मैं पिछले आठ साल से क्रिकेट खेल रहा था. वो सारे नियम मेरे लिए थे. उस दौरान अश्विन छह महीने के लिए क्रिकेट से बाहर हो गए थे. ऐसा क्यों है? इसलिए कि आप उस पर काम कर सकते हैं और आपके गेंदबाज पर बैन नहीं लगेगा. अगर पाकिस्तान के किसी गेंदबाज पर बैन लग जाता है तो उन्हें कोई फर्क नहीं पड़ता. उन्हें केवल पैसे की परवाह है.”

सईद अजमल ने इशारा किया है कि जिस तरह से उनका ऐक्शन हमेशा संदिग्ध बना रहा. उसी तरह से अश्विन के गेंदबाज़ी ऐक्शन में भी शंका थी. सईद पर ICC ने 9 सितम्बर 2014 को बैन लगाया था.

क्या सही में अश्विन उस वक्त क्रिकेट से छह महीने दूर थे?

जिन छह महीनों का सईद ज़िक्र कर रहे हैं. वो साल 2014 की शुरुआत के हैं. इस दौरान एमएस धोनी की कप्तानी वाली भारतीय टीम ने न्यूज़ीलैंड और इंग्लैंड में जाकर टेस्ट सीरीज़ खेली.

Ravichandran Ashwin Ind Vs Eng
रविचन्द्रन अश्विन. फोटो: PTI

न्यूज़ीलैंड और इंग्लैंड दोनों ही सीरीज़ में अश्विन का चयन टीम में किया गया. लेकिन विदेश में उनका प्रदर्शन बहुत अच्छा नहीं था. साथ ही न्यूज़ीलैंड में खेली गई दो मैचों की टेस्ट सीरीज़ में स्पिनर्स के लिए बहुत ज़्यादा मदद भी नहीं थी. उस सीरीज़ में सबसे अधिक विकेट लेने वालों में टॉप-6 पर तेज़ गेंदबाज़ों का दबदबा रहा. जबकि रविन्द्र जडेजा नंबर सात पर तीन विकेटों के साथ थे.

इसके अलावा इंग्लैंड सीरीज़ की बात करें तो उस सीरीज़ में भारत ने पांच टेस्ट खेले. पहले तीन मैचों में अश्विन को मौका नहीं दिया गया. जबकि आखिरी के दोनों मैचों में उन्हें प्लेइंग इलेवन में शामिल किया गया था. ये दोनों ही सीरीज़ अजमल पर लगने वाले बैन से पहले खेली गईं.

सईद ने सचिन के डिसीज़न और DRS पर भी उठाए सवाल:

वर्ल्ड कप 2011 भारत-पाकिस्तान मैच में सचिन तेंदुलकर को सईद अजमल ने LBW आउट किया था. लेकिन DRS ने बाद में डिसीज़न बदल दिया. इस डिसीज़न पर अजमल ने कहा है कि

”DRS को मैनुअली चेक किया जा सकता है. आप इसे किसी भी चरण में बदल सकते हैं. मैं इसके बारे में नहीं जानता लेकिन अगर मैं इसे अभी देखता हूं और कोई अंपायर भी इसे देखेगा, तो वो सोचेगा कि गेंद स्टंप्स को हिट करेगी. लेकिन वह गेंद स्टंप्स से चूक गई. हजारों लोगों ने मुझसे यह सवाल किया है और मुझे इसका जवाब नहीं पता.”

Sachin World Cup
सचिन तेंडुलकर की विश्वकप 2011 की File Photo.

सईद अजमल ने साल 2017 में इंटरनेशनल क्रिकेट से संन्यास का ऐलान किया था. उन्होंने इंटरनेशनल क्रिकेट में 178 टेस्ट, 184 वनडे और 85 T20 विकेट हासिल किए हैं.


ढाका लीग में शाकिब ने जो किया, उसके बचाव में उनकी पत्नी ने क्या कहा? 

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

LIC पॉलिसी से PAN नंबर लिंक नहीं है, ये बड़ा नुकसान होगा!

लिंक करने का पूरा प्रोसेस बता रहे हैं, जान लीजिए.

यूपी चुनाव: सपा-सुभासपा गठबंधन का ऐलान, राजभर बोले- एक भी सीट नहीं देंगे तो भी समर्थन रहेगा

सपा ने ट्वीट कर कहा- 2022 में मिलकर करेंगे बीजेपी को साफ़!

आगरा में पुलिस कस्टडी में सफाईकर्मी की मौत, बवाल के बाद पुलिसकर्मियों पर FIR, 6 सस्पेंड

थाने के मालखाने से 25 लाख चोरी के आरोप में पुलिस ने पकड़ा था सफाईकर्मी को.

लखीमपुर की जांच से हाथ खींच रही यूपी सरकार? SC ने तगड़ी फटकार लगाते हुए और क्या सवाल दागे?

सुप्रीम कोर्ट ने कहा, कभी खत्म न होने वाली कहानी न बन जाए ये जांच.

केरल के साथ उत्तराखंड में भी बारिश का कहर, सड़कें, इमारतें, पुल ध्वस्त, 16 की मौत

केरल में भारी बारिश के कारण हुई मौतों की संख्या 35 तक पहुंची.

जिस CBI अफसर को केस बंद करने के लिए सौंपा गया था, उसी ने सलाखों के पीछे पहुंचा दिया राम रहीम को

इंसाफ दिलाने के लिए धमकियों और खतरों की परवाह नहीं की.

लगातार दूसरे दिन आतंकियों ने गैर कश्मीरी मजदूरों को बनाया निशाना, 2 की मौत, 1 घायल

पुलिस और सुरक्षा बलों ने इलाके को घेरा.

केरल में भारी बारिश से तबाही, 25 से ज़्यादा मौतें, कई लापता

पीएम मोदी ने केरल के मुख्यमंत्री से की बात.

श्रीनगर में बिहार के रेहड़ीवाले और पुलवामा में यूपी के मजदूर की गोली मारकर हत्या

कश्मीर ज़ोन पुलिस ने बताया घटनास्थलों को खाली कराया गया. तलाशी जारी.

सिंघु बॉर्डर पर युवक की बर्बर हत्या पर किसान नेताओं ने क्या कहा है?

राकेश टिकैत ने भी मीडिया से बात की है.