Submit your post

Follow Us

अयोध्या में हनुमानगढ़ी के गेट पर पहले लगाया ताला, फिर सड़क पर फेंके जाने लगे लड्डू

अयोध्या में प्रसिद्ध हनुमानगढ़ी के संत और लड्डू विक्रेता आमने-सामने आ गए. कुछ साधु-संतों ने लड्डू बेचने वाले दुकानदारों पर अपना गुस्सा उतारा. लड्डू की ट्रे उठा-उठाकर सड़क पर फ़ेंकनी शुरू कर दी. मामला गर्मा गया. दुकानदारों ने विरोध कर दिया. अयोध्या की बहुत सी दुकानें बंद करवा दीं. चौंकाने वाली बात ये कि यह सब पुलिस के सामने हुआ. लड्डुओं को लेकर विवाद के कारण हनुमानगढ़ी मंदिर का मेन गेट करीब डेढ़ घंटे तक बंद रहा. श्रद्धालु दर्शन नहीं कर पाए.

महंत और पुजारियों में विवाद

लॉकडाउन के कारण प्रशासन ने हनुमानगढ़ी मंदिर में प्रसाद और फूल चढ़ाने पर बैन लगा रखा था. 29 जून को प्रसाद चढ़ाने की इजाजत दे दी गई. लेकिन मंदिर के पुजारियों ने श्रद्धालुओं द्वारा लाया गया प्रसाद चढ़ाने से इनकार कर दिया. उनका आरोप था कि प्रसाद की क्वालिटी खराब है.

इंडिया टुडे के रिपोर्टर बनबीर सिंह की रिपोर्ट के मुताबिक, अगले दिन 30 जून को भी ऐसा ही हुआ. श्रद्धालुओं का लाया प्रसाद नहीं चढ़ाए जाने से मंदिर के गद्दीनशीन महंत प्रेमदास नाराज थे. उनका कहना था कि लोग श्रद्धा से प्रसाद लाते हैं. भोग न लगाए जाने से उनकी आस्था को चोट पहुंचती है. लेकिन पुजारी फिर भी तैयार नहीं थे. इसे लेकर महंत और पुजारियों के बीच विवाद हुआ. गद्दीनशीन महंत ने गुस्से में मंदिर के गेट पर ताला लगा दिया.

…और सड़क पर फेंके जाने लगे लड्डू

मंदिर का गेट बंद होने की सूचना पर पुलिस पहुंची. समझाने-बुझाने का दौर चल ही रहा था कि पुजारियों ने गोलबंद होकर ताला खुलवा दिया. कुछ लोग लड्डू बेचने वाले दुकानदारों के यहां पहुंच गए. लड्डुओं की क्वालिटी को लेकर विरोध करने लगे. फिर देखते ही देखते लड्डुओं से भरी ट्रे उठाकर सड़क पर फेंकी जाने लगीं. इसका वीडियो भी वायरल है.

लड्डू फेंके जाने का दुकानदार विरोध करने लगे. उन्होंने एकजुट होकर आसपास की सभी दुकान बंद करवा दीं. मामला बढ़ता देख पुलिस ने दोनों पक्षों को समझाया. इसके बाद महंत प्रेमदास ने लड्डू बेचने वालों को बुलाकर बातचीत की. आगे इस तरह की घटना नहीं होने का भरोसा दिया. तब जाकर इसके बाद व्यापारियों ने दुकानें खोलीं. दुकानें तो खुल गईं, लेकिन पुजारी अब भी बासी और मिलावटी लड्डू बेचे जाने का आरोप लगा रहे हैं.

निर्वाणी अनी अखाड़ा के महंत गौरी शंकर दास ने कहा कि,

‘मंदिर में आपस में चर्चा-परिचर्चा थी. किसी तरीके का कोई विवाद नहीं था. हनुमानगढ़ी में पंचायती व्यवस्था आज भी लागू है. कुछ वजह से ताला बंद किया गया था. लेकिन प्रसाद विक्रेता निम्न क्वालिटी का प्रसाद बेच रहे हैं. हमारी प्रशासन से मांग है कि इसकी जांच कराकर इनके खिलाफ विधिक कार्रवाई की जाए.’

प्रशासन का क्या कहना है?

घटना के बारे में सीओ राजेश कुमार राय ने बताया कि प्रसाद चढ़ाने और ना चढ़ाने को लेकर साधु-संतों में हनुमानगढ़ी परिसर में वार्ता चल रही थी. इसी बीच कुछ लोग आकर प्रसाद की दुकानों को बंद कराने लगे. उसी दौरान व्यापारियों के लड्डू जमीन पर गिर गए. आक्रोशित व्यापारियों ने दुकानें बंद करानी शुरू कर दीं. हम लोगों ने बातचीत करके दुकान फिर से खुलवाईं.

 

दुकानदारों का आरोप, वर्चस्व की लड़ाई है

हालांकि दुकानदार कुछ अलग ही कहानी बता रहे हैं. इंडिया टुडे की रिपोर्ट के मुताबिक, आनंद गुप्ता नाम के एक व्यापारी ने आरोप लगाया कि

‘हनुमानगढ़ी पर प्रसाद को लेकर कुछ मामला चल रहा था. साधु-संतों में आपस में कुछ बातें चल रही थीं. जिला प्रशासन बिचौलिया का काम कर रहा था. सीओ अयोध्या और अन्य अधिकारी मौजूद थे. साधु का एक गुट हनुमानगढ़ी पर अपना वर्चस्व कायम करना चाहता है. कई बार इसके प्रयास कर चुके हैं. मारपीट तक की नौबत आ चुकी है.’

आनंद ने लड्डू फेंके जाने के घटना के बारे में बताया कि 30-35 की संख्या में लोग आए थे. दुकानदारों को मारा पीटा. उनके जितने भी लड्डू थे, उन्हें सड़कों पर फेंक दिया. जिला प्रशासन की मौजूदगी में यह सब हुआ. अगर इस तरह से गुंडागर्दी होती रहेगी तो व्यापारी चुप नहीं बैठेंगे.


विडियो- अयोध्या ज़मीन विवाद के बीच पत्रकार ने चंपत राय का नाम ज़मीन घोटाले में लिया, FIR दर्ज

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

पश्चिम बंगाल के पूर्व CM बुद्धदेव भट्टाचार्य की साली बेघर हैं, फुटपाथ पर सोती हैं

पश्चिम बंगाल के पूर्व CM बुद्धदेव भट्टाचार्य की साली बेघर हैं, फुटपाथ पर सोती हैं

इरा बसु वायरोलॉजी में PhD हैं और 30 साल से भी ज्यादा समय तक पढ़ाया है.

'माओवादी' बताकर CRPF ने 8 आदिवासियों का एनकाउंटर किया था, 8 साल बाद ये 'एक भूल' साबित हुई है

'माओवादी' बताकर CRPF ने 8 आदिवासियों का एनकाउंटर किया था, 8 साल बाद ये 'एक भूल' साबित हुई है

यहां तक कि CRPF कान्स्टेबल की मौत भी फ्रेंडली फायर में हुई थी!

अक्षय कुमार की मां का निधन

अक्षय कुमार की मां का निधन

अपने जन्मदिन से सिर्फ एक दिन पहले अक्षय को मिला गहरा सदमा.

अफगानिस्तान: तालिबान ने नई सरकार की घोषणा की, किसे बनाया मुखिया?

अफगानिस्तान: तालिबान ने नई सरकार की घोषणा की, किसे बनाया मुखिया?

नई अफगानिस्तान सरकार का लीडर यूएन की आतंकियों की लिस्ट में शामिल है.

छत्तीसगढ़ के सीएम भूपेश बघेल के पिता गिरफ्तार, कोर्ट ने 15 दिन के लिए भेजा जेल

छत्तीसगढ़ के सीएम भूपेश बघेल के पिता गिरफ्तार, कोर्ट ने 15 दिन के लिए भेजा जेल

रायपुर पुलिस ने नंद कुमार बघेल को ब्राह्मणों पर आपत्तिजनक टिप्पणी के आरोप में गिरफ्तार किया.

एक्टर रजत बेदी ने रोड पार करते व्यक्ति को टक्कर मारी!

एक्टर रजत बेदी ने रोड पार करते व्यक्ति को टक्कर मारी!

पीड़ित इस वक़्त कूपर अस्पताल में भर्ती है, जहां उसकी हालत बेहद नाज़ुक है.

अक्षय कुमार की मां ICU में एडमिट, यूके से शूटिंग छोड़ वापस आए अक्षय

अक्षय कुमार की मां ICU में एडमिट, यूके से शूटिंग छोड़ वापस आए अक्षय

कई दिनों से अक्षय कुमार की मां अरुणा भाटिया की तबीयत खराब है.

तस्वीरों में देखिए मुजफ्फरनगर में किसानों की महापंचायत

तस्वीरों में देखिए मुजफ्फरनगर में किसानों की महापंचायत

500 लंगर, 100 चिकित्सा शिविर, 5 हज़ार वॉलेंटियर्स.

Hurricane Ida से अमेरिका में तबाही, दिल दहलाने वाली तस्वीरें आ रही हैं

Hurricane Ida से अमेरिका में तबाही, दिल दहलाने वाली तस्वीरें आ रही हैं

न्यूयॉर्क समेत पूरे अमेरिका में अब तक 44 लोगों के मारे जाने की बात कही गई है.

तालिबान का समर्थन करने वाले भारतीय मुसलमानों को नसीरुद्दीन शाह ने तगड़ा पाठ पढ़ाया

तालिबान का समर्थन करने वाले भारतीय मुसलमानों को नसीरुद्दीन शाह ने तगड़ा पाठ पढ़ाया

सोशल मीडिया पर नसीरुद्दीन शाह का ये वीडियो वायरल है.