Submit your post

Follow Us

मैच के बीच पूरा ईडन चिल्लाया सचिन-सचिन और फिर 16 नवंबर 2013 की याद आ गई

1
शेयर्स

ईडन गार्डन्स में हो रहे पिंक टेस्ट को बीसीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली ने एक बड़ा इवेंट बनाने की कोशिश की है. इस मैच का टॉस खास सिक्के से हुआ. मैच से पहले बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना कोलकाता आईं. उनके साथ बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बैनर्जी भी मौजूद रहीं. दोनों ने मैच की शुरुआत ईडन का घंटा बजाकर की. इसके अलावा भारत के लिजेंड्री क्रिकेटर्स भी इस टेस्ट का हिस्सा बने हैं.

पहले दिन मैदान पर आने वाले क्रिकेटर्स में सचिन तेंडुलकर, राहुल द्रविड़, अनिल कुंबले, वीवीएस लक्ष्मण और हरभजन सिंह समेत कई और खिलाड़ी शामिल रहे. पहले दिन लंच के समय इन खिलाड़ियों को मैदान के बीच बैठाया गया. इस दौरान द्रविड़ को छोड़ इन सभी ने अपने-अपने किस्से साझा किए.

Sachin Kumble Harbhajan Laxman
Sachin Kumble Harbhajan Laxman

लेकिन फैंस के लिए खेल के अलावा जो सबसे खास पल रहा वो 23 नवंबर को लंच के बाद आया. पल भी ऐसा कि मानो आप फिर से 16 नवंबर 2013 से पीछे आ गए हों. यानी सचिन के संन्यास से पहले. आज इस खास मौके पर एंकर जतिन सपरू के साथ सचिन और बाकी क्रिकेटर्स बैठे थे. इसके बाद जतिन ने मैदान पर मौजूद कोलकाता के फैंस से कहा कि ये सभी के लिए एक फैन बॉय मोमेंट है. उन्होंने आगे कहा, सभी लोग एक साथ मिलकर बोलेंगे ‘सचिन-सचिन’.

इसके बाद मैदान का शोर बिल्कुल वैसा ही था, जैसा सचिन के बल्ला लेकर मैदान पर उतरने के वक्त होता था. फैंस ईडन के मैदान पर ज़ोर-जोर से सचिन-सचिन चिल्लाने लगे. खुद सचिन भी इस शोर को सुनकर बिल्कुल चुप हो गए. भावनाएं उनके चेहरे पर साफ नज़र आ रही थी. सचिन अपने लिए फैंस का प्यार देखकर एक बार फिर से भावुक हो गए.

 

सचिन ने इस खास मौके पर ईडन गार्डन्स के उस ऐतिहासिक 2001 के मैच का ज़िक्र किया. जिसमें भारत ने ऑस्ट्रेलिया को धूल चटाई थी. सचिन ने कहा,

”जब हमें फॉलो ऑन मिला, हमारे पास बल्लेबाज़ी के लिए पूरे ढाई दिन का समय था. गांगुली और कोच राइट ने सिर्फ 10 मिनट में ये फैसला किया कि लक्ष्मण नंबर तीन पर और द्रविड़ नंबर छह पर खेलेंगे. वो बेहतरीन फॉर्म में था. और जब वो दोनों खेल रहे थे तो ड्रेसिंग रूम में से कोई वाशरूम जाने के लिए भी नहीं हिला. उनके लिए ड्रिंक्स-आइसपैक तैयार किए गए. वो जादुई साझेदारी थी और फिर हमें ये लगने लगा कि अगर भज्जी और ज़ैक अच्छी गेंदबाज़ी करें तो हम ये मैच जीत सकते हैं.”

पहले मैदान पर सचिन-सचिन का शोर और उसके बाद सचिन की इस कहानी ने मैदान पर मौजूद दर्शकों का दिन बना दिया.


16 साल के पाकिस्तानी गेंदबाज नसीम शाह की उम्र में बड़ा झोल है

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

कांग्रेस ने अलग से प्रेस कॉन्फ्रेंस क्यों की?

और क्या बोले अहमद पटेल?

महाराष्ट्र में रातों रात बदला गेम, देवेंद्र फडणवीस सीएम और एनसीपी के अजित पवार डिप्टी सीएम बने

शिवसेना ने इसे अंधेरे में डाका डालना बताया.

किसका डर है कि अयोध्या मसले में सुन्नी वक्फ बोर्ड रिव्यू पिटीशन नहीं फ़ाइल कर रहा?

चेयरमैन के ऊपर दो-दो केस!

डूबते टेलीकॉम को बचाने के लिए सरकार 42 हज़ार करोड़ की लाइफलाइन लेकर आई है

तो क्या वोडाफोन आईडिया और एयरटेल बंद नहीं होने वाले हैं?

मालेगांव बम ब्लास्ट की आरोपी प्रज्ञा ठाकुर देश की रक्षा करने जा रही हैं

रक्षा मंत्रालय की कमेटी में शामिल होंगी.

IIT गुवाहाटी के छात्र एक प्रोफेसर के लिए क्यों लड़ रहे हैं?

प्रोफेसर बीके राय लंबे समय से करप्शन के खिलाफ जंग छेड़े हुए हैं.

आर्टिकल 370 हटने के बाद कश्मीर में पत्थरबाजी कम हुई या बढ़ी?

राज्यसभा में सरकार ने आंकड़े बताए हैं.

फोन कंपनियां ये किस बात के लिए हम लोगों से पैसा लेने जा रही हैं?

कॉल और डाटा का पैसा बढ़ने वाला है, पढ़ लो!

BHU के मुस्लिम टीचर के पिता ने कहा, 'बेटे को संस्कृत पढ़ाने से अच्छा था, मुर्गे बेचने की दुकान खुलवा देता'

बीएचयू में मुस्लिम टीचर की नियुक्ति पर बवाल!

बरसों से इंडिया का मित्र राष्ट्र रहा नेपाल क्या अब ज़मीन को लेकर कसमसा रहा है?

'कालापानी' को लेकर उत्तराखंड के CM टीएस रावत चिंता में हैं या गुस्से में, कहना मुश्किल है.