Submit your post

Follow Us

17 तारीख से साउथ अफ्रीका दौरा होगा या नहीं BCCI ने बता दिया

भारत और न्यूज़ीलैंड टेस्ट सीरीज़ के बाद क्या भारतीय टीम साउथ अफ्रीका के साथ सीरीज़ खेलेगी? इस चीज़ का फैसला हो गया है. BCCI ने इस बात की पुष्टि कर दी है कि किवी टीम के साथ सीरीज़ के बाद टीम इंडिया साउथ अफ्रीका दौरे पर जाएगी. साउथ अफ्रीका दौरे पर टीम इंडिया तीन मैचों की टेस्ट सीरीज और तीन मैचों की वनडे सीरीज खेलेगी. हालांकि, क्रिकेट साउथ अफ्रीका और BCCI की आपसी सहमति के बाद T20 सीरीज रद्द कर दी गई है.

गौरतलब है कि दोनों टीमों के बीच चार मैचों की T20 सीरीज खेली जानी थी. लेकिन कोविड के नए वैरिएंट Omicron की वजह से दौरे में बदलाव किया गया है. इससे पहले ये खबरें आ रही थीं कि साउथ अफ्रीका दौरे को पूरी तरह से रद्द कर दिया जाएगा.

बता दें कि भारत का साउथ अफ्रीका दौरा 17 दिसंबर से शुरू हो रहा है. दोनों टीमें पहला टेस्ट मैच 17 दिसंबर से वांडरर्स स्टेडियम में खेलेंगी. BCCI सचिव जय शाह ने इस बारे में न्यूज़ एजेंसी ANI से बात करते हुए कहा,

‘BCCI ने CSA को बता दिया है कि भारतीय टीम तीन टेस्ट और तीन वनडे के लिए साउथ अफ्रीका का दौरा करेगी. चार मैचों की T20I सीरीज बाद में खेली जाएगी.’

#दर्शक नहीं देख पाएंगे मैच

समाचार एजेंसी PTI की रिपोर्ट मानें तो भारत और साउथ अफ्रीका के मुकाबले बंद दरवाजे में खेले जाएंगे. यानि दर्शक स्टेडियम आकर मैच नहीं देख पाएंगे. और ये फैसला कोविड के नए वैरिएंट Omicron की वजह से लिया जा रहा है. BCCI के एक अधिकारी ने बताया,

‘हमें जो जानकारी मिली है वो ये है कि CSA द्वारा बनाया गया बायो बबल काफी सुरक्षित है. साथ ही अभी तक ऐसा कोई डेटा नहीं है जो ये बता सके कि Omicron वायरस कितना ज्यादा खतरनाक है. इसके अलावा हमें सरकार की तरफ से साउथ अफ्रीका दौरे के संबंध में कोई जानकारी नहीं मिली है. टीम जल्दी बायो-बबल में एंट्री करेगी. अगर देरी भी होती है तो ये बबल टू बबल ट्रांसफर होगा इसलिए कोई सख्त क्वारंटीन की ज़रूरत नहीं होगी.’

आपको बताते चलें कि क्रिकेट साउथ अफ्रीका के लिए भारत के खिलाफ आगामी सीरीज़ काफी अहम होने वाली है. इस दौरे से साउथ अफ्रीका को टीवी राइट्स के जरिए करोड़ों की कमाई होगी.  BCCI पहले ही इंडिया-ए टीम को साउथ अफ्रीका दौरे पर भेज चुका है. जहां तीन मैचों की अनऑफिशियल टेस्ट सीरीज खेली जा रही है.


विराट कोहली के विकेट के बीच BCCI फैंस को क्यों ले आया?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

ट्रैवल हिस्ट्री नहीं होने के बाद भी डॉक्टर के ओमिक्रॉन से संक्रमित होने पर डॉक्टर्स क्या बोले?

ट्रैवल हिस्ट्री नहीं होने के बाद भी डॉक्टर के ओमिक्रॉन से संक्रमित होने पर डॉक्टर्स क्या बोले?

बेंगलुरु में 46 साल के एक डॉक्टर कोरोना के नए वेरिएंट ओमिक्रॉन से संक्रमित पाए गए हैं.

क्या BYJU'S अच्छी शिक्षा देने के नाम पर लोगों को अनचाहा लोन तक दिलवा रही है?

क्या BYJU'S अच्छी शिक्षा देने के नाम पर लोगों को अनचाहा लोन तक दिलवा रही है?

ये रिपोर्ट कान खड़े कर देगी.

Jack Dorsey ने Twitter का CEO पद छोड़ा, CTO पराग अग्रवाल को बताया वजह

Jack Dorsey ने Twitter का CEO पद छोड़ा, CTO पराग अग्रवाल को बताया वजह

इस्तीफे में पराग अग्रवाल के लिए क्या-क्या बोले जैक डोर्से?

पेपर लीक होने के बाद UPTET परीक्षा रद्द, दोबारा कराने पर सरकार ने ये घोषणा की

पेपर लीक होने के बाद UPTET परीक्षा रद्द, दोबारा कराने पर सरकार ने ये घोषणा की

UP STF ने 23 संदिग्धों को गिरफ्तार किया.

26 नए बिल कौन-कौन से हैं, जिन्हें सरकार इस संसद सत्र में लाने जा रही है

26 नए बिल कौन-कौन से हैं, जिन्हें सरकार इस संसद सत्र में लाने जा रही है

संसद का शीतकालीन सत्र 29 नवंबर से 23 दिसंबर तक चलेगा.

नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट के चकाचक निर्माण से लोगों को क्या-क्या मिलने वाला है?

नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट के चकाचक निर्माण से लोगों को क्या-क्या मिलने वाला है?

पीएम मोदी ने गुरुवार 25 नवंबर को इस एयरपोर्ट का शिलान्यास किया.

कृषि कानून वापस लेने की घोषणा के बाद पंजाब की राजनीति में क्या बवंडर मचने वाला है?

कृषि कानून वापस लेने की घोषणा के बाद पंजाब की राजनीति में क्या बवंडर मचने वाला है?

पिछले विधानसभा चुनाव में त्रिकोणीय मुकाबला था, इस बार त्रिकोणीय से बढ़कर होगा.

UP पुलिस मतलब जान का खतरा? ये केस पढ़ लिए तो सवाल की वजह जान जाएंगे

UP पुलिस मतलब जान का खतरा? ये केस पढ़ लिए तो सवाल की वजह जान जाएंगे

कासगंज: पुलिस लॉकअप में अल्ताफ़ की मौत कोई पहला मामला नहीं.

कासगंज: हिरासत में मौत पर पुलिस की थ्योरी की पोल इस फोटो ने खोल दी!

कासगंज: हिरासत में मौत पर पुलिस की थ्योरी की पोल इस फोटो ने खोल दी!

पुलिस ने कहा था, 'अल्ताफ ने जैकेट की डोरी को नल में फंसाकर अपना गला घोंटा.'

ये कैसे गिनती हुई कि बस एक साल में भारत में कुपोषित बच्चे 91 प्रतिशत बढ़ गए?

ये कैसे गिनती हुई कि बस एक साल में भारत में कुपोषित बच्चे 91 प्रतिशत बढ़ गए?

ये ख़बर हमारे देश का एक और सच है.