Submit your post

Follow Us

डेटिंग ऐप की मदद से चीन-पाकिस्तान में बैठे शातिरों ने भारतीय व्यापारियों से करोड़ों ऐंठ लिए

मध्य प्रदेश और दिल्ली पुलिस की साइबर सेल ने अमीर भारतीय व्यापारियों से ठगी करने वाले एक अंतरराष्ट्रीय गैंग का पर्दाफाश किया है. इंडिया टुडे/आजतक से जुड़े रिपोर्टरों ने बताया है कि इस गैंग के लोग भारतीय करोड़पतियों को डेटिंग ऐप्स के जरिये रोमांस के जाल में फंसाकर ठगते थे. रिपोर्टर रवीश सिंह के मुताबिक, इस गैंग ने भोपाल के एक युवा कारोबारी को निशाना बनाते हुए उससे लगभग एक करोड़ रुपये ठग लिए. इसी तरह दो अन्य भारतीय व्यापारियों से 75 लाख रुपये की ठगी की गई. इनमें से एक व्यापारी इंदौर का रहने वाला बताया जा रहा है. रवीश सिंह के अलावा दो अन्य रिपोर्टर तन्सीम हैदर और अरविंद ओझा ने पुलिस के हवाले से बताया कि इस रैकेट के तार पाकिस्तान और चीन से जुड़े हैं.

खबर के मुताबिक, भोपाल के कारोबारी की शिकायत पर एमपी साइबर सेल ने एसआईटी गठित कर मामले की जांच शुरू की. उसने कार्रवाई करते हुए गुजरात, दिल्ली और गुड़गांव से चार आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया. उन्हीं से पूछताछ में पता चला कि इस अंतरराष्ट्रीय गैंग को पाकिस्तान और चीन से कंट्रोल किया जा रहा था. गैंग में शामिल भारतीय उनका साथ दे रहे थे.

E6a6850b C108 40b2 9d52 D057d8903f79
दिल्ली पुलिस ने रैकेट के दो लोगों को गिरफ्तार किया. (तस्वीर- अरविंद ओझा/आजतक)

चीन से लेकर पाकिस्तान के नागरिक शामिल

मध्य प्रदेश साइबर सेल के एडीजी योगेश चौधरी ने भोपाल के युवा कारोबारी से एक करोड़ की ऑनलाइन ठगी होने की पुष्टि की. उन्होंने जांच के आधार पर बताया कि ये अंतराष्ट्रीय रैकेट भारतीय नागरिकों के नाम पर फर्जी कंपनियां चलाता है और ठगी गई रकम इन कंपनियों के खाते में डलवाकर क्रिप्टो करेंसी के जरिए पाकिस्तान भिजवाता है. चूंकि गैंग के तार पाकिस्तान के रावलपिंडी और पलन्दरी शहर से जुड़े बताए गए हैं, इसलिए केंद्रीय और खुफिया एजेंसियां भी इस मामले की जांच से जुड़ गई हैं.

पुलिस के अनुसार, इस रैकेट का जाल पूरे देश मे फैला हुआ है. इसमें चीनी और पाकिस्तानों नागरिकों के अलावा रजिस्टर्ड चार्टेड अकाउंटेंट और कारोबारी शामिल हैं. एडीजी चौधरी ने बताया कि गैंग ने लगभग 50 करोड़ रुपये की ठगी की है. अधिकारी के मुताबिक, इस गैंग के कम से कम 6 लोग फरार हैं. इनमें एक चीनी नागरिक भी शामिल है. पुलिस ने इन आरोपियों पर 10 हजार रुपये का इनाम रखा है और लगातार उनकी तलाश में जुटी हुई है.

कैसे करते थे ठगी?

पुलिस को पता चला है कि डोरिस और सू योन पार्क नाम की महिलाएं ‘बंबल’ और ‘टिंडर’ डेटिंग ऐप के जरिये कारोबारियों से दोस्ती करती थीं. वे उनसे लगातार बातचीत करती रहती थीं. डोरिस ने भोपाल के व्यापारी से वाइन और मसालों के व्यापार के बारे में बात की. पुलिस के मुताबिक, कारोबार के बहाने महिला ने मार्च 2021 से मई 2021 के बीच व्यापारी से 98 लाख रुपये ऐंठ लिए. वहीं, दिल्ली के एक व्यापारी को निवेश के बदले मुनाफे का झांसा दिया गया.

Thumbnail Img 20210706 230219
मध्य प्रदेश की साइबर सेल ने रैकेट का भंडाफोड़ किया. (तस्वीर- रवीश सिंह/आजतक)

इस पूरे रैकेट में शामिल कुछ आरोपियों के नाम भी सामने आए हैं. रिपोर्टों के मुताबिक, गुड़गांव का एक चार्टर्ड अकाउंटेंट एविक केड़िया फर्जी फर्म को पंजीकृत कराकर बैंक में खाता खुलवाता था. वो इनकी जानकारी संदिग्ध चीनी नागरिकों को उपलब्ध कराता था. वहीं, दिल्ली में कंपनी का सेक्रेटरी बना डोली मखीजा परिचितों के नाम पर फर्म बनवाता और चालू खाता खुलवाकर ठगी गई रकम ऊपर के लोगों तक पहुंचाता था. इसके अलावा, गुजरात से धरा गया एक आरोपी दिलीप पटेल फर्जी मेल बनाता और पैसे को क्रिप्टो में ट्रांसफर कराने का काम करता था. दिल्ली का एक और आरोपी विक्की मखीजा फर्मों को बेचकर पैसा हासिल करता था.

रैकेट के बारे में एक जांच अधिकारी ने कहा,

‘हमने जिन बैंक खातों का पता लगाया, उनमें दो महीने के भीतर 20 करोड़ रुपये से अधिक का लेन-देन हुआ है. ये कंपनियां देश के अलग-अलग हिस्सों में थीं और पैसा एक खाते से दूसरे खाते में ट्रांसफर किया जाता था.’

रवीश सिंह के मुताबिक, पुलिस ने आईपीसी की धारा 420 और आईटी ऐक्ट की धारा 66डी के तहत एफआईआर दर्ज की है. अभी तक गिरफ्तार किए गए आरोपियों के पास से 60 डिजीटल सिग्नेचर, 3 लैपटॉप, 4 पेन ड्राइव, मोबाइल फोन, क्रिप्टो ट्रेडिंग स्टेटमेंट, शेल फर्म से संबंधित दस्तावेज, शेल फर्म की सूची, अलग-अलग लोगों के आधार और पेन कार्ड के अलावा कई बैंकों की चेक बुक बरामद की गई हैं. वहीं, तन्सीम हैदर ने बताया कि दिल्ली पुलिस ने दो आरोपियों से सिम कार्ड और उनके खाते से करोड़ों रुपये सीज किए हैं.

(ये खबर हमारे यहां इंटर्नशिप कर रहे रौनक ने लिखी है.)


वीडियो- शबाना आज़मी एक तो ऑनलाइन धोखाधड़ी का शिकार हुईं, फिर ट्रोल हुईं 

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

दलितों के घर ढहाने और महिलाओं से छेड़खानी के आरोपों पर क्या बोली आजमगढ़ पुलिस?

भीम आर्मी चीफ चंद्रशेखर ने इसे 'पुलिस की गुंडागर्दी' करार दिया है.

मुस्लिम औरतों की बोली लगाने वाली वेबसाइट की लिंक शेयर कर घिरा राइट विंग 'पत्रकार'

बवाल हुआ तो शिकायत करने वाली औरतों को ही कोसने लगे.

नेमावर हत्याकांड: आरोपी सुरेंद्र चौहान की प्रॉपर्टी पर चली जेसीबी, CBI जांच की मांग उठी

कांग्रेस का आरोप है कि भाजपा नेता होने के चलते सुरेंद्र चौहान को इस मामले में संरक्षण मिला.

जम्मू एयरफोर्स स्टेशन पर धमाका, DGP दिलबाग सिंह बोले-ड्रोन से हुआ हमला

दो संदिग्धों को हिरासत में लिया गया है.

आंदोलन के सात महीने पूरे, किसानों ने देशभर में राज्यपालों को सौंपे ज्ञापन,कुछ जगहों पर झड़प

चंडीगढ़ और पंचकुला में बवाल.

कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ही नहीं, शशि थरूर का अकाउंट भी लॉक कर दिया था ट्विटर ने

ट्विटर ने क्या वजह बताई?

एक्ट्रेस पायल रोहतगी को अहमदाबाद पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया

मामला एक वायरल वीडियो से जुड़ा है.

CBSE और ICSE की परीक्षाएं रद्द करने के खिलाफ याचिकाओं को सुप्रीम कोर्ट ने खारिज किया

नंबर देने के फॉर्मूले से सुप्रीम कोर्ट भी सहमत.

LJP में कलह की वजह बताए जा रहे सौरभ पांडेय के बारे में रामविलास पासवान ने चिट्ठी में क्या लिखा था?

चिराग को राजनीति में आने की सलाह किसने दी थी?

सरकार फिल्मों के सर्टिफिकेशन में क्या बदलाव करने जा रही, जो फ़िल्ममेकर्स की आज़ादी छीन सकता है?

कुछ वक़्त से लगातार हो रहे हैं फ़ेरबदल.