Submit your post

Follow Us

रोहित शर्मा ने इस शतक के साथ कई खिलाड़ियों को किनारे कर दिया है

5
शेयर्स

विशाखापत्तनम में भारत और साउथ अफ्रीका के साथ सीरीज़ का पहला टेस्ट मैच खेला जा रहा है. इस मैच की पहली पारी में रोहित शर्मा ने 176 रन बनाए. इस पारी में 23 चौके और 6 छक्के शामिल थे. यानी करीब 73 फीसद रन उन्होंने चौके और छक्के से बनाए.

पिछले कई दिनों से से यह बात चल रही थी कि रोहित शर्मा को टेस्ट में ओपन करने का मौका दिया जाना चाहिए क्योंकि केएल राहुल लगातार नाकाम हो रहे. ऐसे में रोहित को मौक़ा मिला और उन्होंने मौके को भुनाया. कई खिलाड़ी ओपनिंग की रेस में शामिल हैं, रहे हैं और वापसी करना चाह रहे हैं लेकिन रोहित की इस पारी ने कईयों के लिए दरवाजे करीब-करीब बंद कर दिए हैं. कुछ और मैच में रोहित अगर ओपनिंग करते हुए चल जाएं तो इन खिलाड़ियों के लिए रास्ते बंद हो सकते हैं.

KL Rahul

केएल राहुल

केएल राहुल पिछले एक साल से फॉर्म में नहीं हैं. आख़िरी शतक उन्होंने इंग्लैंड के खिलाफ सितंबर 2018 में लगाया था. उसके बाद से 7 टेस्ट मैच में एक फिफ्टी तक न बना सके. इसके बाद इन्हें टीम से बाहर रखा गया है. पिछले 7 मैच में राहुल ने सिर्फ 195 रन बनाए हैं.

Murli Vijay

मुरली विजय

भारत के लिए 61 टेस्ट मैच खेलकर 3982 रन बना चुके हैं लेकिन ऑस्ट्रेलिया सीरीज़ के बाद से टीम से बाहर हैं. ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड के खिलाफ 4 टेस्ट की 8 पारी में विजय सिर्फ 75 रन बना सके थे. इससे पहले अफ्रीकी दौरे पर भी विजय का बल्ला नहीं चला था. तीन मैच की इस सीरीज़ में विजय सिर्फ 102 रन बना सके थे. खराब परफॉरमेंस के कारण ही इन्हें वेस्ट इंडीज़ दौरे पर शामिल नहीं किया गया था.

Shikhar Dhawan

शिखर धवन

टेस्ट क्रिकेट की पहली पारी में 187 रन बनाने वाले शिखर धवन ने साल भर से कोई टेस्ट मैच नहीं खेला है. इंग्लैंड दौरे पर इनका ख़राब परफॉरमेंस इन पर भारी पड़ा. इस सीरीज़ में धवन 20.25 की औसत से सिर्फ 162 रन बना सके थे. धवन वन-डे टीम में तो टीम मैनेजमेंट के ख़ास बने हुए हैं क्योंकि उनका परफॉरमेंस जबरदस्त रहा है लेकिन टेस्ट में उनकी जगह बनती नहीं दिख रही है. वजह खुद ही हैं.

शुभमन गिल

Gillpic1

शुभमन गिल को साउथ अफ्रीका के खिलाफ टेस्ट टीम में पहली बार मौका चुना गया है. इससे पहले उन्हें न्यूज़ीलैंड सीरीज़ के 2 वन-डे मैच में मौका मिला था जिसमें वह सिर्फ 16 रन बना सके थे. शुभमन डोमेस्टिक क्रिकेट में ओपनिंग करते हैं. शुभमन को लेकर कभी विराट कोहली ने कहा था –

मैंने उसे नेट्स पर बैटिंग करते हुए देखा है. 19 साल की उम्र में मैं उसके 10 फीसदी के बराबर भी नहीं था.

अब वो 20 साल के हो गए हैं लेकिन उनका फर्स्ट क्लास का रिकॉर्ड शानदार रहा है. उन्होंने 14 मैच में 72.15 की औसत से 1443 रन बनाए हैं. लेकिन उन्हें इस सीरीज़ में मौक़ा मिलता दिख नहीं रहा है.

शुभमन गिल के साथ ही अभिमन्यु ईश्वरन, प्रियांक पंचाल जैसे खिलाड़ियों को दिल्ली और दूर नज़र आ रही होगी. अभिमन्यु ने फर्स्ट क्लास क्रिकेट में करीब 50 की औसत से 4067 रन और प्रियांक ने करीब 47 की औसत से 6186 रन बनाए हैं. ये खिलाड़ी टीम में आने के लिए लगातार दस्तक दे रहे हैं. लेकिन रोहित शर्मा और मयंक अग्रवाल ने जिस तरह से साउथ अफ्रीका के साथ पहले विकेट के लिए 317 रन की साझेदारी की है इन खिलाड़ियों के लिए राह आसान नहीं है. रोहित शर्मा के साथ ही मयंक अग्रवाल ने भी शतक लगाया है. मयंक ऑस्ट्रेलिया सीरीज़ से भारतीय टीम के साथ जुड़े हुए हैं और अच्छे फॉर्म में हैं.


वीडियो- जिसे भारत ने 21 सालों तक एक भी मैच नहीं खिलाया, उसे साउथ अफ्रीका ने कोच बना लिया है

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

योगी का नया ऐप ये काम कर देगा, किसी ने सोचा भी नहीं था

ये क्या बवाल मोल ले लिया योगी जी ने.

चिन्मयानंद और कुलदीप सेंगर के फोन में ऐसा क्या ख़ास है कि पुलिस उलझ गयी है

माथापच्ची हो रही, लेकिन उनका फोन नहीं खुल पा रहा.

13 साल की लड़की 'भाई, भाई' कहते गिड़गिड़ाती रही, लड़के रेप करते रहे, वीडियो बनाते रहे

एक ऐसा बर्बर वीडियो वायरल किया गया, जिसे देखा नहीं जा सकता.

गोरखपुर हादसा : यूपी सरकार ने जांच में कफ़ील खान को क्लीन चिट दे दी

जांच रिपोर्ट में और क्या कहा गया है?

अयोध्या : मुस्लिम पक्ष ने कोर्ट में वो बात कह दी जो किसी ने सोचा भी नहीं होगा

मस्जिद के नीचे खुदाई में किसके अवशेष मिले थे?

शाहजहांपुर रेप केस : पीड़िता के बाप ने बताया कि योगी सरकार कैसे चिन्मयानंद को बचा रही है

और बताया कि बात के बहाने कैसे पीड़िता की गिरफ्तारी हो गयी.

RBI के फैसले से हड़कंप, इस बैंक से 1000 रुपए से ज्यादा नहीं निकाल पाएंगे आप

आपसे जुड़ा मामला हो सकता है, पढ़ लीजिए.

अयोध्या मामले में सुप्रीम कोर्ट ने मुस्लिम पक्ष से बहुत रोचक सवाल पूछ दिया है

फिर जवाब भी मिला है सोचने वाला.

UP : छात्रा का गैंगरेप हुआ, फिर उसके स्कूल ने जो किया, वो और भी बुरा है

और स्कूल ने बचाव करने में खुद को और फंसा लिया.

"अबकी बार, ट्रंप सरकार" बोलकर मोदी ने अपने करीबी को धोख़ा दे दिया!

क्या है पूरा मामला, जल्दी से पढ़िए.