Submit your post

Follow Us

जिस बैंक में BJP MP तेजस्वी सूर्या के परिवार का खाता है, उस पर RBI ने कई पाबंदियां लगा दीं

5
शेयर्स

पिछले साल सितंबर में RBI ने पंजाब एंड महाराष्ट्र को-ऑपरेटिव बैंक (PMC) पर कई तरह की रोक लगाई थी. खाताधारियों को केवल 1000 रुपए निकालने की परमिशन थी. हालांकि इसे बाद में बढ़ाकर 50,000 कर दिया गया था. अब इसी तरह की रोक RBI ने श्री गुरु राघवेंद्र सहकारा बैंक पर लगाई है. 10 जनवरी के दिन जब बैंक का रोज का कामकाज खत्म हुआ, तब RBI ने बैंक पर शिकंजा कस दिया.

RBI की तरफ से जारी बयान में कहा गया,

’10 जनवरी, 2020 के कामकाज के बाद से राघवेंद्र सहकारा बैंक कोई नया लोन नहीं देगा या लोन रिन्यू नहीं करेगा, कोई निवेश नहीं करेगा. बैंक में जिनका बचत खाता है, या चालू खाता है या दूसरा कोई डिपॉजिट खाता है या किसी भी तरह का कोई खाता है, ऐसे लोग अगले 6 महीने में 35000 रुपए से ज्यादा नहीं निकाल सकेंगे.’

बेंगलुरु स्थित राघवेंद्र सहकारा बैंक के चेयरमैन हैं के. रामकृष्णा. इनका कहना है कि खाताधारकों का पैसा बैंक में पूरी तरह से सुरक्षित है और उन्होंने इन पैसों को सुरक्षित रखने की जिम्मेदारी अपने ऊपर ली है.

बैंक के खाताधारकों तक जब RBI की पाबंदियों की बात पहुंची, तो अफरा-तफरी मच गई. अकाउंट होल्डर्स 35 हजार रुपए निकालने के मकसद से राघवेंद्र सहकारा बैंक पहुंच गए. बैंक की सभी ब्रांच में इस वक्त खाताधारकों की काफी भीड़ है.

BJP सांसद के परिवार का भी खाता है इसमें

साउथ बेंगलुरु से BJP सांसद हैं तेजस्वी सूर्या है. उनके परिवार का भी अकाउंट इस बैंक में है. तेजस्वी ने लोगों से अपील की है कि वो घबराएं नहीं. जानकारी दी कि उन्होंने इस मामले में वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण से बात की है और मंत्री ने उनसे कहा है कि इस मामले पर ध्यान दिया जाएगा.

समाचार एजेंसी ANI के मुताबिक, तेजस्वी ने कहा,

‘मैं बैंक के कई खाताधारकों से मिला. ईमानदारी से बताऊं, तो मेरे परिवार का भी इस बैंक में अकाउंट है. मैंने वित्तमंत्री से बात की है. इस मामले में बैंक प्रशासन RBI से मीटिंग कर रहा है.’

तेजस्वी ने ट्वीट करके भी खाताधारकों तक अपनी बात पहुंचाने की कोशिश की. उन्होंने लिखा,

‘मैं श्री गुरु राघवेंद्र को-ऑपरेटिव बैंक के खाताधारकों को ये आश्वासन देना चाहता हूं कि उन्हें घबराने की जरूरत नहीं है. वित्तमंत्री इस मामले को व्यक्तिगत तौर पर इसे देख रही हैं. उन्होंने आश्वासन दिया है कि सरकार खाताधारकों के हितों की रक्षा करेगी.’

अकाउंट होल्डर परेशान हैं

बैंक में अचानक पाबंदियां लगने के बाद खाताधारक परेशान हैं. एक अकाउंट होल्डर का कहना है,

‘मेरे पति ने 15 से 20 लाख रुपए इस बैंक में जमा कर रखे हैं. वो रिटायर हो चुके हैं. हम इसी पैसे पर निर्भर हैं. जब हमें ये मैसेज मिला, तो हम बहुत चिंतित हो गए. लेकिन जब हम यहां आए, तो बैंक ने हमें बताया कि हमारा पैसा सुरक्षित है, लेकिन हमें उन पैसों के लिए 6 महीने तक इंतजार करना होगा. हम खुश नहीं हैं.’

बैंक के अधिकारियों का कहना है कि वो इस मामले को लेकर 19 जनवरी को मीटिंग करेंगे.


वीडियो देखें:

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

यूपी पुलिस में मचा हंगामा, तो योगी ने की ये बड़ी कार्रवाई

सेक्स चैट से शुरू हुआ था मामला, "घूसखोरी" और पोस्टिंग पर अटकी बात

JNU : जिस समय आइशी घोष को पीटा जा रहा था, उसी वक़्त उन पर FIR हो रही थी

और नक़ाबपोश गुंडों का न कोई नाम, न कोई सुराग

बवाल हुआ तो JNU प्रशासन ने मंत्रालय से कैम्पस को बंद करने की मांग उठा दी

मंत्रालय ने भी ये जवाब दिया.

5 जनवरी की रात तीन बजे तक JNU कैम्पस में क्या-क्या हुआ?

जेएनयू कैम्पस में 5 जनवरी को नकाबपोशों ने स्टूडेंट्स और टीचर्स पर हमला किया.

2015 और इस बार के दिल्ली विधानसभा चुनाव में क्या अंतर है?

चुनाव के नतीजे 11 फरवरी को आएंगे.

JNU छात्रों पर हमले के बाद VC एम जगदीश कुमार क्या बोले?

नकाबपोश गुंडों ने कैंपस में मारपीट की थी.

जानिए, 5 जनवरी की दोपहर और शाम JNU कैंपस में क्या हुआ?

दो-तीन दिनों से कैंपस में तनाव था. अगले सेमेस्टर के रजिस्ट्रेशन पर स्टूडेंट्स में झड़पों की भी ख़बरें आईं थीं.

कोर्ट के आदेश के बाद वो 3 मौके, जब योगी सरकार ने 'दंगाइयों' से जुर्माना नहीं वसूला

और सवाल उठ रहे कि इस बार ही क्यों?

मोदी के जिस ड्रीम प्रोजेक्ट पर सरकार ने करोड़ों खर्च किये वो फ्लॉप हो गया

इसके प्रचार के लिए सरकार ने जगह-जगह बड़े-बड़े होर्डिंग्स लगवाए थे.

नए साल की पहली खुशखबरी आ गई, रेलवे का किराया बढ़ गया

सेकंड क्लास, स्लीपर, फ़र्स्ट क्लास, एसी सबका किराया बढ़ा है रे फैज़ल...