Submit your post

Follow Us

शक्तिकांत दास को दिवाली तोहफा, 2024 तक RBI गवर्नर रहेंगे

दिसंबर 2018 को उर्जित पटेल के इस्तीफ़े के बाद RBI के 25वें गवर्नर के रूप में नियुक्त किए गए थे शक्तिकांत दास. आने वाली 10 दिसंबर को उनका कार्यकाल खत्म होने वाला था. लेकिन उससे पहले ही मोदी सरकार ने उन्हें दिवाली का तोहफा दे दिया. मतलब शक्तिकांत दास के कार्यकाल को सरकार ने आगे बढ़ा दिया है. खबर है कि केंद्रीय कैबिनेट की नियुक्ति समिति ने शक्तिकांत दास को अब 10 दिसंबर 2024 या अगले आदेश तक के लिए RBI गवर्नर बनाए रखने का फैसला किया है.

कौन हैं शक्तिकांत दास?

मूल रूप से उड़ीसा के रहने वाले शक्तिकांत दास 1980 बैच के IAS अधिकारी रहे हैं. उन्होंने कई अंतरराष्ट्रीय मंचों पर भारत का प्रतिनिधित्व किया है. इनमें IMF, G20, BRICS जैसे प्लेटफॉर्म शामिल हैं.

शक्तिकांत दास ने दिल्ली के St. Stephen’s College से इतिहास में एमए की डिग्री हासिल की. वे 2015 से 2017 तक आर्थिक मामलों के सचिव भी रह चुके हैं. उसी दौरान नवंबर 2016 में देश को नोटबंदी के बड़े बदलाव से गुज़रना पड़ा था. बताया जाता है कि नोटबंदी की योजना तैयार करने वाली टीम में शक्तिकांत दास की भूमिका बहुत अहम रही. नोटबंदी लागू होने के बाद सरकार की तरफ से आलोचना का सामना करने वालों में शक्तिकांत दास भी थे. उन दिनों कई बार उन्होंने सरकार का बचाव किया था.

इसके अलावा पूरे देश में GST लागू करने में भी शक्तिकांत दास की अहम भूमिका मानी जाती है. भारत सरकार के वित्त मंत्रालय में अपने कार्यकाल के दौरान उन्होंने 8 केंद्रीय बजट तैयार करने में हिस्सेदारी निभाई. विश्व बैंक, न्यू डेवलपमेंट बैंक और एशियन इन्फ्रास्ट्रक्चर इन्वेस्टमेंट बैंक (AIIB) में भी शक्तिकांत दास ने भारत के वैकल्पिक गवर्नर के रूप में काम किया है.

यूपीए-2 के दौरान 2013 में शक्तिकांत दास को रसायन और उर्वरक मंत्रालय में सचिव बनाया गया था. लेकिन अगले साल ही यानी 2014 में केंद्र में भाजपा की सरकार बनने के बाद वापस उन्हें वित्त मंत्रालय में राजस्व सचिव बनाया गया.

बतौर आरबीआई गवर्नर शक्तिकांत दास की कुछ बड़ी उपलब्धियां हैं:

केंद्र सरकार को 1.23 लाख करोड़ का डिविडेंड.

बैंकों के सीईओ के लिए रिटायरमेंट की उम्र सीमा 70 साल करवाई.

MSME सेक्टर पर कर्ज़ के बोझ को कम करने के लिए लोन रीस्ट्रक्चरिंग को मंज़ूरी दी.

शक्तिकांत दास के आरबीआई गवर्नर रहते हुए ही भारतीय अर्थव्यवस्था के कोरोना संकट से उबर कर ट्रैक पर आने की बात कही जा रही है. IMF ने तो ये भी अनुमान लगाया है कि 2022 में भारत दुनिया की सबसे तेजी से बढ़ती अर्थव्यवस्था हो सकता है. IMF का कहना है कि अगले वित्तीय वर्ष में भारत की आर्थिक वृद्धि दर 8.5 प्रतिशत तक पहुंच सकती है. कोरोना संकट के कारण पिछले साल ये वृद्धि दर 7.3 प्रतिशत रही.

आलोचना

जब 2018 में पहली बार शक्तिकांत दास को RBI गवर्नर का पद संभालने की ज़िम्मेदारी मिली थी तो उनकी और मोदी सरकार की काफी आलोचना की गई थी. सियासी प्रतिद्वंद्वियों के अलावा आर्थिक जानकारों और आम लोगों ने कहा था कि शक्तिकांत दास इतिहास के जानकार रहे हैं, उन्हें RBI का गवर्नर बनाना सही फ़ैसला नहीं है.

अब शक्तिकांत दास का कार्यालय बढ़ाने पर भी उनकी और मोदी सरकार की आलोचना रुकी नहीं है. कई लोग केंद्र सरकार के इस फैसले की आलोचना करते नज़र आए हैं. कांग्रेस नेता अलका लांबा ने सरकार पर तंज कसते हुए ट्विटर पर लिखा,

चलिए अर्थव्यवस्था टीके ना टीके बहुत सालों बाद कोई गवर्नर तो #RBI में टिक पा रहा है.

हालांकि शक्तिकांत दास को फिर से आरबीआई गवर्नर पद पर नियुक्त करने का फैसला बताता है कि उन पर मोदी सरकार का भरोसा कायम है और उसे आलोचनाओं से फर्क नहीं पड़ता है.


खर्चा-पानी: सरकारी बैंकों की नौकरी से लेकर फ़ंडिंग तक सब ख़तरे में है?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

कांग्रेस को मौलाना तौकीर रजा का समर्थन, BJP ने हिंदुओं को धमकाने वाला वीडियो शेयर कर दिया

कांग्रेस को मौलाना तौकीर रजा का समर्थन, BJP ने हिंदुओं को धमकाने वाला वीडियो शेयर कर दिया

तौकीर रजा कांग्रेस पर आरोप लगा चुके हैं कि उसने मुसलमानों पर आतंकी का टैग लगाया.

देवास-एंट्रिक्स डील क्या थी, जिसे सुप्रीम कोर्ट ने 'जहरीला फ्रॉड' कहा और मोदी सरकार ने राष्ट्रीय सुरक्षा से खिलवाड़?

देवास-एंट्रिक्स डील क्या थी, जिसे सुप्रीम कोर्ट ने 'जहरीला फ्रॉड' कहा और मोदी सरकार ने राष्ट्रीय सुरक्षा से खिलवाड़?

जानिए UPA के समय हुई इस डील ने कैसे देश को शर्मसार किया.

'तुझे यहीं पिटना है क्या', हेट स्पीच पर सवाल से पत्रकार पर बुरी तरह भड़के यति नरसिंहानंद

'तुझे यहीं पिटना है क्या', हेट स्पीच पर सवाल से पत्रकार पर बुरी तरह भड़के यति नरसिंहानंद

बीबीसी का आरोप, टीम के साथ नरसिंहानंद के समर्थकों ने गाली-गलौज और धक्का-मुक्की की.

इंदौर: महिला का दावा, पति ने दोस्तों के साथ मिल गैंगरेप किया, प्राइवेट पार्ट को सिगरेट से दागा

इंदौर: महिला का दावा, पति ने दोस्तों के साथ मिल गैंगरेप किया, प्राइवेट पार्ट को सिगरेट से दागा

मुख्य आरोपी के साथ उसके दोस्तों को पुलिस ने पकड़ लिया है.

BJP और उत्तराखंड सरकार ने हरक सिंह रावत को अचानक क्यों निकाल दिया?

BJP और उत्तराखंड सरकार ने हरक सिंह रावत को अचानक क्यों निकाल दिया?

पार्टी के इस कदम से आहत हरक सिंह रावत मीडिया के सामने भावुक हो गए.

आपको फर्जी शेयर टिप्स देकर इस परिवार ने करोड़ों का मुनाफा कैसे पीट लिया?

आपको फर्जी शेयर टिप्स देकर इस परिवार ने करोड़ों का मुनाफा कैसे पीट लिया?

Bull Run कांड में सेबी का फैसला, एक ही परिवार के 6 लोगों पर लगा बैन.

आदिवासी, आंदोलनकारी, पत्रकार और ऐक्ट्रेस, जानिए यूपी में कांग्रेस ने किन चेहरों पर दांव लगाया है?

आदिवासी, आंदोलनकारी, पत्रकार और ऐक्ट्रेस, जानिए यूपी में कांग्रेस ने किन चेहरों पर दांव लगाया है?

कांग्रेस की पहली लिस्ट में 50 महिला उम्मीदवार शामिल हैं

इस तस्वीर ने यूपी चुनाव से पहले सपा गठबंधन को लेकर क्या सवाल खड़े कर दिए?

इस तस्वीर ने यूपी चुनाव से पहले सपा गठबंधन को लेकर क्या सवाल खड़े कर दिए?

तस्वीर गौर से देखेंगे तो समझ आ जाएगा, हम तो बता ही देंगे.

योगी सरकार को एक और झटका, मंत्री दारा सिंह चौहान ने भी साथ छोड़ा

योगी सरकार को एक और झटका, मंत्री दारा सिंह चौहान ने भी साथ छोड़ा

बीते 24 घंटों के भीतर यूपी के दो कैबिनेट मंत्रियों ने इस्तीफा दे दिया है.

ITR फाइलिंग की डेडलाइन बढ़ी है, लेकिन नाचने से पहले ये खबर पढ़ लो!

ITR फाइलिंग की डेडलाइन बढ़ी है, लेकिन नाचने से पहले ये खबर पढ़ लो!

सेंट्रल बोर्ड ऑफ डायरेक्ट टैक्सेस ने असल में क्या कहा है?