Submit your post

Follow Us

मुजफ्फरनगर: मिड डे मील में परोस दिया चूहे वाला खाना, उसे खाकर 9 बच्चे बीमार हो गए

5
शेयर्स

यूपी का मुजफ्फरनगर. यहां के मुस्तफाबाद पचेंडा में एक जनता इंटर कॉलेज स्कूल है. यहां पर बच्चों को मिड-डे मील परोसा गया. ये खाना खाकर बच्चे बीमार हो गए. उन्हें स्थानीय अस्पताल में भर्ती करवाया गया है.

इंडिया टुडे से जुड़े संदीप सैनी ने हमें बताया कि ये घटना मंगलवार 3 दिसंबर की है. मिड-डे मील पकाते वक्त उसमें चूहा गिर गया था. पकाने वालों ने ये नहीं देखा. खाना बच्चों को परोसा गया. नौ बच्चों को खाना परोसा जा चुका था, वो खाना शुरू भी कर चुके थे. जब दसवें बच्चे को खाना परोसा जा रहा था तब चूहे पर नज़र पड़ी. इसके बाद बाकी बच्चों को खाना नहीं परोसा गया. लेकिन जिन बच्चों ने खाना खा लिया था वो बीमार पड़ गए.

जिलाधिकारी सेल्वी कुमारी ने इस मामले में संज्ञान लेते हुए ब्लॉक शिक्षा अधिकारी और SDM को मौके पर जाने का आदेश दिया. वो वहां पहुंचे और मामले की जांच की. बताया जा रहा है कि स्कूल में मिड-डे मील हापुड़ की जन कल्याण सेवा समिति के माध्यम से परोसा जाता है. इस मामले में प्रिंसिपल विनोद कुमार का कहना है कि मामले की जांच के बाद ही पता चलेगा कि लापरवाही किसकी है.


वीडियो देखें : एचआरडी मिनिस्टर रमेश पोखरियाल ने खुद उत्तर प्रदेश में मिड डे मील के भ्रष्टाचार के आंकड़े बताए

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

नागरिकता कानून में हुए संशोधन पर संविधान एक्सपर्ट्स का क्या कहना है?

एक्सपर्ट्स का दावा, ये संशोधन संविधान के आर्टिकल 14, 5 और 11 का उल्लंघन है.

पासपोर्ट पर कमल छाप तो दिया लेकिन सरकार खुद इसे राष्ट्रीय फूल नहीं मानती

बवाल मचा तो सरकार ने कहा था राष्ट्रीय प्रतीकों को छाप रहे हैं.

16 दिसंबर को इस वजह से नहीं होगी निर्भया के चारों दोषियों को फांसी

सुप्रीम कोर्ट की सुनवाई के बाद ही डेथ वारंट पर फैसला होगा.

CAB विरोध: असम में पुलिस की फायरिंग से दो की मौत, कर्फ़्यू मान नहीं रही है भीड़

तीन BJP विधायकों के घर पर हमला. मेघालय के भी कुछ इलाकों में कर्फ़्यू. तीन राज्य में इंटरनेट बंद.

नागरिकता संशोधन बिल पास होने पर IPS ऑफिसर ने विरोध में इस्तीफा दिया

उन्होंने कहा, 'ये बिल देश को बांटने वाला है.'

कर्नाटक में 15 विधानसभा सीटों पर हुए उपचुनाव में BJP का क्या हुआ?

BJP सरकार बनी रहेगी या जाएगी?

मोदी सरकार के इस कदम से घरेलू इंडस्ट्री चमक सकती है, पर रिस्क भी बहुत बड़ी है

सरकार नई नौकरियों का दावा कर रही. पर आंकड़ा किसी को नहीं पता.

अगर संसद में ये बिल पास हो गया तो एक ही तमंचे पर डिस्को हो पाएगा

वैसे नए कानून के मुताबिक, तमंचे पर डिस्को करने पर भी 2 साल की सज़ा हो सकती है.

तेलंगाना पुलिस ने खुद बताई एनकाउंटर के पीछे की पूरी कहानी

'आरोपियों ने पुलिस से हथियार छीनकर फायरिंग की'.

हैदराबाद डॉक्टर रेप केस: चारों आरोपी पुलिस एनकाउंटर में मारे गए

उसी जगह मारे गए, जहां रेप किया. पुलिस का कहना है कि आरोपियों ने उनपर हमला करके भागने की कोशिश की.