Submit your post

Follow Us

जनता के भारी बवाल के बाद रानी मुखर्जी की 'मर्दानी 2' से फिल्म की पहचान छिनने वाली है

5
शेयर्स

हाल ही में रानी मुखर्जी की ‘मर्दानी 2’ का ट्रेलर आया है. और ट्रेलर के आते ही फिल्म विवादों में पड़ गई. एक्चुअली मसला ये है कि ‘मर्दानी 2’ की कहानी राजस्थान के कोटा में घटती है. और जैसा कि आप सब लोगों को पता है कि ये फिल्म एक क्राइम ड्रामा है. इसलिए राजस्थान और कोटा में इस फिल्म के खिलाफ विरोध किया जा रहा है. लोगों का कहना है कि ये फिल्म उनके शहर की छवि खराब कर रही है. फिल्म से जुड़े कुछ सीन्स हटाने की भी मांग की गई है. मतलब एक तरह से ‘मर्दानी 2’ की पहचान ही छिन सकती है.

‘मर्दानी 2’ की कहानी कोटा के एक नाबालिग सीरियल रेपिस्ट की है. वो कोचिंग में पढ़ने वाली लड़कियों का रेप करता है और फिर टॉर्चर  करके उनकी हत्या कर देता है. ट्रेलर में दावा किया गया है कि इस फिल्म की कहानी असल घटनाओं से प्रेरित है.

Kota True
‘मर्दानी 2’ के ट्रेलर का स्क्रीनशॉट जहां, दावा किया गया है कि फिल्म असल घटना से प्रेरित है.

देखते-देखते मामला इतना बढ़ गया कि लोगों ने सड़क पर प्रदर्शन करना शुरू कर दिया. इस मामले कई स्थानीय नेताओं ने लोकसभा अध्यक्ष ओम बिड़ला से भी मुलाकात की है. ओम बिड़ला कोटा से सांसद हैं.

विरोध के बाद ‘मर्दानी 2’ के मेकर्स को ट्रेलर से कोटा शहर का नाम हटाना पड़ेगा. फिल्म को रानी के पति आदित्य चोपड़ा ने यशराज प्रोडक्शन के तले बनाया है. फिल्म वेबसाइटबॉलीवुड हंगामा  की एक रिपोर्ट के मुताबिक, शहर का नाम हटाने के अलावा सत्य घटनाओं पर आधारित वाला दावा भी फिल्म से हटाया जाएगा. साथ ही कोटा की पहचान जाहिर करने वाली सभी चीजें फिल्म से हटानी पड़ेंगी.

Kota
फिल्म में रेपिस्ट एक के बाद एक कई रेप और हत्या करता है और हर बार पुलिस की गिरफ्त से बच निकलता है.

‘मर्दानी 2’ फिल्म 2014 में आई ‘मर्दानी’ का सीक्वल है. इसमें रानी मुखर्जी का किरदार ‘आईपीएस शिवानी रॉय’ का है. कहानी कोटा शहर में घटती है. वहां क्या होता है, आपने दूसरे पैरा में पढ़ लिया है. रिपीट नहीं करेंगे. अब शिवानी इस मामले को सुलझाने में लग जाती है. लेकिन उसके सामने इसी तरह के एक के बाद कई मामले आने लगते हैं. वो इन मामलों को कैसे सुलझाती है, यही फिल्म की कहानी है.

इससे पहले की कोटा की पहचान इस फिल्म से हट जाए, फिल्म का ट्रेलर देख लीजिए:


Video : मर्दानी-2 का ट्रेलर देखने के बाद हो सकता है, आप अपने बच्चों की चिंता करने लगें

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

फोन कंपनियां ये किस बात के लिए हम लोगों से पैसा लेने जा रही हैं?

कॉल और डाटा का पैसा बढ़ने वाला है, पढ़ लो!

BHU के मुस्लिम टीचर के पिता ने कहा, 'बेटे को संस्कृत पढ़ाने से अच्छा था, मुर्गे बेचने की दुकान खुलवा देता'

बीएचयू में मुस्लिम टीचर की नियुक्ति पर बवाल!

बरसों से इंडिया का मित्र राष्ट्र रहा नेपाल क्या अब ज़मीन को लेकर कसमसा रहा है?

'कालापानी' को लेकर उत्तराखंड के CM टीएस रावत चिंता में हैं या गुस्से में, कहना मुश्किल है.

सरकार Facebook से यूजर्स की जानकारी मांग रही है

2 साल में तीन गुनी हुई इमरजेंसी रिक्वेस्ट्स की संख्या.

पुनर्विचार की सभी याचिकाएं खारिज करते हुए सुप्रीम कोर्ट ने रफ़ाल को हरी झंडी दी

राहुल गांधी ने पीएम मोदी को रफ़ाल डील में भ्रष्टाचार के आरोप लगाते हुए खूब घेरा था.

महाराष्ट्र में नहीं बनी शिवसेना-एनसीपी की सरकार, अब लगेगा राष्ट्रपति शासन

एनसीपी को सरकार बनाने के लिए आज शाम साढ़े आठ बजे तक का समय मिला था.

करतारपुर कॉरिडोर: PM मोदी ने इमरान को शुक्रिया कहा, लेकिन इमरान का जवाब पीएम मोदी को पसंद नहीं आएगा

वहां पर भी कॉरिडोर से ज़्यादा 'विवादित मुद्दे' पर ही बोलता नज़र आया पाकिस्तान.

सुप्रीम कोर्ट का फैसला: विवादित ज़मीन रामलला को, मुस्लिम पक्ष को कहीं और मिलेगी ज़मीन

जानिए, कोर्ट ने अपने फैसले में और क्या-क्या कहा है...

नेहरु से इतना प्यार? मोदी अब बिना कांग्रेस के नेहरू का ख्याल रखेंगे

एक भी कांग्रेस का नेता नहीं. एक भी नहीं.

शरद पवार बोले- महाराष्ट्र में राष्ट्रपति शासन लगने से बचाना है, तो बस एक ही तरीका है

शिवसेना के साथ मिलकर सरकार बनाने की मिस्ट्री पर क्या कहा?