Submit your post

Follow Us

दिलेरी देखिए, CM गहलोत की मीटिंग में बैठकर रिश्वत की डीलिंग कर रही थीं SDM साहिबा

राजस्थान में भ्रष्ट अफ़सरों के हौसले कितने बुलंद है, इसका अंदाज़ा इसी से लगाया जा सकता है कि सीएम के साथ मीटिंग के दौरान भी रिश्वत की डीलिंग हो रही थी. ये अजब-गजब वाकया राजधानी जयपुर में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की कलेक्टर कॉन्फ्रेंस के दौरान पेश आया. गहलोत भ्रष्टाचार के ख़िलाफ़ सख़्त क़दम उठाने पर जोर दे रहे थे. उसी मीटिंग में बैठीं एक SDM फ़ोन पर रिश्वत की डीलिंग कर रही थीं, ऐसा आरोप है. लाखों के इस मामले में एंटी करप्शन ब्यूरो ने दौसा ज़िले के दो SDM को गिरफ्तार कर लिया है. इलाके में उस वक्त बतौर एसपी तैनात रहे अधिकारी मनीष अग्रवाल के कथित दलाल को भी अरेस्ट किया गया है. मनीष इस समय SDRF  के SP हैं.

क्यों मांगी जा रही थी रिश्वत?

आजतक संवाददाता शरत कुमार के अनुसार, राजस्थान से गुज़र रहे नेशनल हाइवे को बनाने के लिए दौसा के ग्रामीण इलाकों की जमीन का अधिग्रहण हो रहा है. सरकार किसानों से हाइवे के लिए अपनी जमीन उपलब्ध कराने को कह रही है. उसके बदले तय शर्तों के हिसाब से मुआवजा दिया जा रहा है. दौसा ज़िले के दोनों SDM इस काम में लगाए गए थे. ये थे बांदीकुई की SDM पिंकी मीणा और दौसा के SDM पुष्कर मित्तल. हाइवे तैयार करने वाली कंपनी के लिए सरकार जो जमीन अधिगृहीत करवा रही है, उसे लेकर कुछ विवाद भी हुए थे. उसका मुक़दमा भी चल रहा था. इसकी सुनवाई उस समय SP रहे मनीष अग्रवाल कर रहे थे.

एसपी मनीष अग्रवाल के खिलाफ शिकायत मिलने के बाद उन्हें इस प्रक्रिया से हटा दिया गया था. इसके बावजूद दलाल नीरज मीणा हाइवे बनाने वाली कंपनी पर पैसे देने का दबाव बना रहा था. आरोप ये कि एसपी और कंपनी की डील हुई थी कि हर महीने कंपनी 7 लाख रुपए देगी. इसके एवज में अधिगृहण की प्रक्रिया आराम से चलेगी. पिछले 4 महीने से यह रकम एसपी के पास नहीं पहुंची थी. चार महीने के हिसाब से दलाल ने कंपनी से 28 लाख रुपए की रकम मांगी. एक दूसरा मामला निपटाने के लिए वह 10 लाख रुपए कंपनी से अलग से मांग रहा था. इस तरह कुल 38 लाख रुपए की मांग SP मनीष अग्रवाल के लिए दलाल नीरज कर रहा था.

Rajasthan
रिश्वत लेने के आरोप में एंटी करप्शन ब्यूरो ने बांदीकुई की एसडीएम पिंकी मीणा (दाएं), दौसा के एसडीएम पुष्कर मित्तल के साथ डीलर नीरज मीणा (बाएं) को भी गिरफ्तार किया. (फोटो-शरत कुमार)

बाहर आते ही पकड़ ली गईं SDM

बांदीकुई की SDM पिंकी मीणा की यह पहली पोस्टिंग थी. वह मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के साथ कलेक्टर कॉन्फ्रेंस में बैठी थीं, तभी जमीन हाइवे बनाने वाली कंपनी की तरफ से फोन आया. फोन पर 10 लाख रुपये ले लेने की बात कही गई. एंटी करप्शन ब्यूरो का आरोप है कि पिंकी मीणा ने फ़ोन पर कहा कि कंपनी के लायजनिंग अधिकारी को पैसे दे दो. वह जब मीटिंग से निकलकर बाहर आएंगी, तब पैसे ले लेंगी. उन्हें पता नहीं था कि इस मामले में ब्यूरो के अधिकारी लगातार नजर बनाए हुए हैं. जब यह डीलिंग चल रही थी, उस वक्त अधिकारी दो घंटे से बाहर बैठकर SDM का इंतजार कर रहे थे. जैसे ही मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की मीटिंग से SDM बाहर निकलीं और पैसे लिए, उन्हें रंगे हाथों गिरफ़्तार कर लिया गया.

दूसरे अधिकारी पुष्कर मित्तल ने तो पैसे देने वालों को घर ही बुला लिया. पुष्कर मित्तल दौसा के SDM हैं. जैसे ही कंपनी से जुड़े लोग पैसे लेकर पुष्कर मित्तल के घर पहुंचे, एंटी करप्शन ब्यूरो ने पुष्कर को रंगे हाथों गिरफ़्तार कर लिया. दलाल नीरज मीणा को एंटी करप्शन ब्यूरो ने दौसा से पीछा करके जयपुर में पकड़ा. उसके पास मिले 2 फोन जब्त कर लिए गए हैं. सूत्रों के मुताबिक, अब एंटी करप्शन ब्यूरो एसपी रहे मनीष अग्रवाल पर शिकंजा कसने की तैयारी कर रही है.

इतना भ्रष्टाचार, सुनकर दंग रह गई ACB

राजस्थान पत्रिका अखबार के मुताबिक, हाइवे बनाने वाली कपनी का मालिक एंटी करप्शन ब्यूरो (ACB) के पास शिकायत लेकर 35 दिन पहले पहुंचा था. एसीबी के डीजी बीएल सोनी ने पूरा मामला सुना तो पहली बार में उन्हें इस पर भरोसा ही नहीं हुआ. उन्होंने एडीजी दिनेश एमएन और दूसरे अधिकारियों को बुलाकर उनके सामने पूरी कहानी फिर सुनी. कंपनी के प्रतिनिधि का दावा था कि वो क्षेत्र में पुलिस व प्रशासन के अधिकारियों को रिश्वत की सामान्य राशि देते रहे हैं, लेकिन अधिकारियों की डिमांड अचानक बढ़ गई, जो पूरी करना संभव नहीं था. इसके बाद उन्होंने एसीबी को शिकायत करने का निर्णय लिया.


वीडियो – BJP पार्षद 10 लाख की रिश्वत मांगने के आरोप में गिरफ्तार, बोले-अब सैलरी से तो इनकम होती नहीं

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

कृषि कानून पर फैसले के बाद वो सवाल, जिनके जवाब सुप्रीम कोर्ट को देने चाहिए

कृषि कानून पर फैसले के बाद वो सवाल, जिनके जवाब सुप्रीम कोर्ट को देने चाहिए

SC ने फैसले में ऐसा क्या कह दिया, जिस पर सवाल उठ रहे हैं.

सुप्रीम कोर्ट ने जिन चार लोगों की कमिटी बनाई है, क्या उनमें ज्यादातर कृषि कानूनों के समर्थक हैं?

सुप्रीम कोर्ट ने जिन चार लोगों की कमिटी बनाई है, क्या उनमें ज्यादातर कृषि कानूनों के समर्थक हैं?

किसान आंदोलन को लेकर सुप्रीम कोर्ट के फ़ैसले से किसे ख़ुश होना चाहिए?

क्या सुप्रीम कोर्ट ने तीनों कृषि कानूनों को ग़लत माना?

क्या सुप्रीम कोर्ट ने तीनों कृषि कानूनों को ग़लत माना?

क्या सुप्रीम कोर्ट कृषि कानूनों को होल्ड पर रखने जा रही है?

डॉनल्ड ट्रम्प के समर्थकों ने अमेरिका की राजधानी में मचाया दंगा, 4 लोगों की मौत, वॉशिंगटन में कर्फ़्यू

डॉनल्ड ट्रम्प के समर्थकों ने अमेरिका की राजधानी में मचाया दंगा, 4 लोगों की मौत, वॉशिंगटन में कर्फ़्यू

फ़ेसबुक, ट्विटर और इंस्टाग्राम ने ट्रम्प पर बैन लगा दिया है.

चांदनी चौक: हनुमान मंदिर तोड़ने के पीछे की असल वजह क्या है, जान लीजिए

चांदनी चौक: हनुमान मंदिर तोड़ने के पीछे की असल वजह क्या है, जान लीजिए

BJP, AAP और कांग्रेस मंदिर ढहाने का ठीकरा एक दूसरे पर फोड़ रही हैं.

शाहजहांपुर बॉर्डर से हरियाणा में घुस रहे किसानों पर पुलिस ने किया लाठीचार्ज

शाहजहांपुर बॉर्डर से हरियाणा में घुस रहे किसानों पर पुलिस ने किया लाठीचार्ज

किसान नेताओं ने क्या ऐलान किया है?

कॉमेडियन मुनव्वर फारुकी को किस मामले में जेल भेज दिया गया है?

कॉमेडियन मुनव्वर फारुकी को किस मामले में जेल भेज दिया गया है?

मध्य प्रदेश में बीजेपी विधायक के बेटे ने दर्ज करवाया था केस.

तीसरे टेस्ट से पहले टीम इंडिया के पांच खिलाड़ियों को आइसोलेट क्यों कर दिया गया?

तीसरे टेस्ट से पहले टीम इंडिया के पांच खिलाड़ियों को आइसोलेट क्यों कर दिया गया?

इसमें रोहित शर्मा का नाम भी शामिल है.

देश के स्वास्थ्य मंत्री बोले सबको फ्री देंगे वैक्सीन, फिर ट्वीट करके कुछ और बात कह दी

देश के स्वास्थ्य मंत्री बोले सबको फ्री देंगे वैक्सीन, फिर ट्वीट करके कुछ और बात कह दी

जानिए देश में कहां-कहां वैक्सीन का ड्राई रन चल रहा है.

BCCI अध्यक्ष और पूर्व क्रिकेटर सौरव गांगुली अस्पताल में भर्ती

BCCI अध्यक्ष और पूर्व क्रिकेटर सौरव गांगुली अस्पताल में भर्ती

ममता बनर्जी का ट्वीट-गांगुली को हल्का कार्डियक अरेस्ट आया है.