Submit your post

Follow Us

भतीजा नशे में गाड़ी चलाता पकड़ा गया तो कांग्रेस MLA ने थाने में धरना दे दिया, कहा- क्या हो गया पी ली तो!

डाका तो नहीं डाला चोरी तो नहीं की है
हंगामा है क्यों बरपा थोड़ी-सी जी पी ली है

जो मामला आपको बताने जा रहे हैं, उस पर गुलाम अली की गाई एक बहुत मशहूर गजल का ये शेर फिट बैठता है. ज्यादा घुमाएंगे नहीं, सीधे मुद्दे पर आते हैं.

मीना कंवर. राजस्थान के शेरगढ़ विधानसभा क्षेत्र से कांग्रेस की विधायक हैं. इनका एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल है. इसमें विधायक मीना कंवर अपने पति के साथ एक थाने में धरना देती और पुलिस से बहस करती दिख रही हैं. जानते हैं किस बात के लिए? कि इनके भतीजे को पुलिस ने कथित रूप से नशे में गाड़ी चलाने के आरोप में पकड़ लिया. मीना कंवर को जब ये पता चला तो वो सीधे थाने पहुंच गईं और पुलिस के खिलाफ धरना प्रदर्शन शुरू कर दिया. पुलिस से मांग की कि उनके भतीजे को छोड़ दिया जाए, क्या हो गया अगर उसने शराब पी ली तो.

आजतक से जुड़े अशोक शर्मा की रिपोर्ट के मुताबिक, वायरल वीडियो जोधपुर के रातानाडा थाने का है. विधायक मीना कंवर ने पहले फोन पर यहां की पुलिस से बात की और मांग की उनके भतीजे को छोड़ दिया जाए. लेकिन पुलिस नहीं मानी तो मैडम MLA थाने आ गईं और धरने पर बैठ गईं. पुलिस ने नशे में गाड़ी चला रहे विधायक के भतीजे के खिलाफ चालान की कार्रवाई भी की थी. मीना कंवर विधायक हैं तो उनके पति उम्मेद सिंह प्रदेश कांग्रेस कमेटी के सदस्य. दोनों ने सोचा कि मामला फोन पर ही सुलझ जाएगा. इसलिए पहले पुलिस को फोन मारा. लेकिन मामला टेढ़ी खीर साबित हुआ. सो थाने पहुंच कर दोनों ने पुलिस से बहस शुरू कर दी. इसमें विधायक मीना कंवर भतीजे के शराब पीने को नॉर्मलाइज करती दिखीं. कहा,

“मैंने आपको (पुलिस) फोन करके रिक्वेस्ट किया था, लेकिन आप नहीं माने. मुझे थाने आना पड़ा… बच्चें हैं, थोड़ी बहुत पी भी ली तो क्या हो गया? सबके बच्चें पीते है, पार्टी ही तो की थी.”

 

मीना कंवर वीडियो बना रहे शख्स को चेतावनी देती है. पहले कहती हैं- बनाइए-बनाइए वीडियो. लेकिन कुछ ही सेकेंड बाद उनके सुर बदल जाते हैं. वो उस शख्स कहती हैं- आप ये ठीक नहीं कर रहे हैं. उन्होंने ये भी कहा,

“पुलिस थाने में मेरे साथ कैसा व्यवहार किया गया? क्या आप मुझे जेल भेजोगे? नहीं चाहिए कुर्सी आपकी, हम नीचे ही बैठेंगे.”

रिपोर्टर अशोक शर्मा के मुताबिक, बहस के दौरान उम्मेद सिंह ने ये तक कह दिया,

“कल (यानी शनिवार) ही आपके थाने का थानेदार और बाकी सस्पेंड हुए है. भूल गए क्या?”

उम्मेद सिंह ने ये बात जोधपुर एनकाउंटर मामले में रातानाडा के थाना प्रभारी और तीन पुलिसकर्मियों के निलंबन के संबंध में कही.

बाद में क्या सफाई दी?

वीडियो वायरल हुआ तो मीना कंवर को सामने आकर सफाई देनी पड़ी. न्यूज एजेंसी ANI से बात करते हुए कांग्रेस विधायक ने कहा,

“मैंने पुलिस से ये दरखास्त की थी की मेरे रिश्तेदार के बेटे को छोड़ दे, जो कि उस वक्त उनकी हिरासत में था. लेकिन पुलिस ने ऐसा नहीं किया, बल्कि मेरे और मेरे पति के साथ दुर्व्यवहार किया गया. मैं उस पुलिस के खिलाफ स्ट्रिक्ट ऐक्शन की मांग करती हूं. एसपी ने मुझे ये भरोसा दिया है की उचित कार्रवाई होगी.”

खबर के मुताबिक, कांग्रेस विधायक अपने भतीजे की सीज की हुई गाड़ी खुद ही लेकर गईं. कोई भी अधिकारी इस घटना को लेकर कुछ भी बोलने से बचता रहा. उधर, आला अधिकारियों ने वीडियो वायरल होने को लेकर जांच के आदेश दिए. रिपोर्ट के मुताबिक, उनके आश्वासन के बाद भी वीडियो डिलीट नहीं किया गया और मनाही के बावजूद सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया गया.

ट्विटर पर खिंचाई

वीडियो वायरल हुआ तो विधायक जी और उनके पति की खिंचाई भी होनी थी. लोगों ने नसीहतें दे दीं. राजकुमार गुप्ता ने कहा,

“कानून अपना काम करेगा मैडम. आपके कहने से पुलिस छोड़ने लगी तो आप ही जज बन जाएंगी. आप विधायक हैं, उससे भी पहले आप आम आदमी ही हैं.”

 

वहीं, दीपक नाम के ट्विटर यूजर ने कहा,

“ये दिखाता है कि पॉलिटिशियन सच में हैं क्या? वो कोई भी दल के हों, काम एक जैसा ही करते हैं. पहले ओछी हरकत करेंगे, फिर जो अपना काम कर रहा होगा उसके खिलाफ ही शिकायत करेंगे.”

This, this right here is what politicians truly are. Irrespective of which party they belong to they all behave in the same manner, first they will do nonsense things and then want action against a person performing his duty.

— Deepak 🇮🇳 (@Deepak_DT_) October 19, 2021

बता दें कि रविवार 17 अक्टूबर की रात का ये वीडियो सोमवार 18 अक्टूबर को वायरल हुआ. माना जा रहा है कि थाने के किसी पुलिसवाले ने ही इसे बनाया था.

(ये स्टोरी हमारे यहां इंटर्नशिप कर रहीं अश्विनी सिंह ने लिखी है.)


वीडियो- REET, JEN, SI: राजस्थान में एक के बाद एक पेपर क्यों लीक हो रहे? 

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

क्या BYJU'S अच्छी शिक्षा देने के नाम पर लोगों को अनचाहा लोन तक दिलवा रही है?

क्या BYJU'S अच्छी शिक्षा देने के नाम पर लोगों को अनचाहा लोन तक दिलवा रही है?

ये रिपोर्ट कान खड़े कर देगी.

Jack Dorsey ने Twitter का CEO पद छोड़ा, CTO पराग अग्रवाल को बताया वजह

Jack Dorsey ने Twitter का CEO पद छोड़ा, CTO पराग अग्रवाल को बताया वजह

इस्तीफे में पराग अग्रवाल के लिए क्या-क्या बोले जैक डोर्से?

पेपर लीक होने के बाद UPTET परीक्षा रद्द, दोबारा कराने पर सरकार ने ये घोषणा की

पेपर लीक होने के बाद UPTET परीक्षा रद्द, दोबारा कराने पर सरकार ने ये घोषणा की

UP STF ने 23 संदिग्धों को गिरफ्तार किया.

26 नए बिल कौन-कौन से हैं, जिन्हें सरकार इस संसद सत्र में लाने जा रही है

26 नए बिल कौन-कौन से हैं, जिन्हें सरकार इस संसद सत्र में लाने जा रही है

संसद का शीतकालीन सत्र 29 नवंबर से 23 दिसंबर तक चलेगा.

नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट के चकाचक निर्माण से लोगों को क्या-क्या मिलने वाला है?

नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट के चकाचक निर्माण से लोगों को क्या-क्या मिलने वाला है?

पीएम मोदी ने गुरुवार 25 नवंबर को इस एयरपोर्ट का शिलान्यास किया.

कृषि कानून वापस लेने की घोषणा के बाद पंजाब की राजनीति में क्या बवंडर मचने वाला है?

कृषि कानून वापस लेने की घोषणा के बाद पंजाब की राजनीति में क्या बवंडर मचने वाला है?

पिछले विधानसभा चुनाव में त्रिकोणीय मुकाबला था, इस बार त्रिकोणीय से बढ़कर होगा.

UP पुलिस मतलब जान का खतरा? ये केस पढ़ लिए तो सवाल की वजह जान जाएंगे

UP पुलिस मतलब जान का खतरा? ये केस पढ़ लिए तो सवाल की वजह जान जाएंगे

कासगंज: पुलिस लॉकअप में अल्ताफ़ की मौत कोई पहला मामला नहीं.

कासगंज: हिरासत में मौत पर पुलिस की थ्योरी की पोल इस फोटो ने खोल दी!

कासगंज: हिरासत में मौत पर पुलिस की थ्योरी की पोल इस फोटो ने खोल दी!

पुलिस ने कहा था, 'अल्ताफ ने जैकेट की डोरी को नल में फंसाकर अपना गला घोंटा.'

ये कैसे गिनती हुई कि बस एक साल में भारत में कुपोषित बच्चे 91 प्रतिशत बढ़ गए?

ये कैसे गिनती हुई कि बस एक साल में भारत में कुपोषित बच्चे 91 प्रतिशत बढ़ गए?

ये ख़बर हमारे देश का एक और सच है.

आर्यन खान केस से समीर वानखेड़े की छुट्टी, अब ये धाकड़ अधिकारी करेगा जांच

आर्यन खान केस से समीर वानखेड़े की छुट्टी, अब ये धाकड़ अधिकारी करेगा जांच

क्या समीर वानखेड़े को NCB जोनल डायरेक्टर पद से हटा दिया गया है?