Submit your post

Follow Us

RTI कार्यकर्ता संग बर्बरता, हाथ-पैर तोड़े, पैरों में कीलें ठोंकी

RTI कार्यकर्ताओं (RTI Activist) पर हो रहे हमलों को रोकने के लिए केंद्रीय गृह मंत्रालय की जो सिफारिशें लागू की गई हैं, वे कहती हैं कि आरटीआई कार्यकर्ता को अगर धमकाया जाता है अथवा उस पर हमला होता है तो इस मामले में तुरंत कार्रवाई की जाएगी. साथ ही इस तरह के मामलों में डीएम और एसपी की देखरेख में जांचकर कार्रवाई जाएगी. गृह मंत्रालय के इस सख्त रुख के बाद भी देश में RTI कार्यकर्ताओं पर हमले रुकने का नाम नहीं ले रहे हैं.

अब राजस्थान के बाड़मेर में एक आरटीआई कार्यकर्ता के साथ बर्बरता का मामला सामने आया है. पहले इस कार्यकर्ता का अपहरण किया गया, फिर उसके हाथ-पैर तोड़ दिए गए. इंडिया टुडे के रिपोर्टर दिनेश बोहरा के मुताबिक इसके बाद उसके पैरों में सरिया और कीलें ठोंक दी गईं. आरोप है कि इस RTI कार्यकर्ता का ये हाल इसलिए किया गया क्योंकि उसने अपनी ग्राम पंचायत में भ्रष्टाचार और अवैध शराब बिक्री की शिकायत की थी.

पैरों में छह जगह सरिया और कीलें ठोंक दीं

इंडिया टुडे के रिपोर्टर दिनेश बोहरा के मुताबिक बाड़मेर के जोसोड़ो की बेरी इलाके के रहने वाले आरटीआई कार्यकर्ता अमराराम का जोधपुर के एक अस्पताल में इलाज चल रहा है. उनके साथ यह घटना तब घटी जब वे जोधपुर से बाड़मेर अपने घर लौट रहे थे, वे बस से उतरकर कुछ दूर ही चल पाए थे कि आठ नकाबपोश बदमाशों ने उन्हें उठाकर एक गाड़ी में डाल दिया. इसके बाद किसी सुनसान जगह ले जाकर उनके साथ मारपीट की. पहले तो उनके दोनों पैरों को सरिया से वार कर तोड़ दिया. फिर पैरों में छह जगह सरिया और कीलें ठोंक दीं. इसके बाद उनके हाथ भी तोड़ दिए. अमराराम के मुताबिक उन्हें कई घंटे तक यातना देने के बाद मरा हुआ समझकर सड़क पर फेंक दिया गया.

Rti2
जब अमराराम को अस्पताल लाया गया तो उनकी हालत बेहद नाजुक थी (फोटो: आजतक)

अमराराम ने पुलिस को क्या बताया?

बाड़मेर पुलिस ने मीडिया को बताया कि सड़क पर किसी के बेसुध पड़े होने की सूचना मिली थी. पुलिस ने मौके पर पहुंचकर अमराराम को बाड़मेर के बालोतरा इलाके में स्थित एक अस्पताल में एडमिट करवाया. हालांकि, हालत नाजुक थी इसलिए डॉक्टर्स ने प्राथमिक उपचार के बाद अमराराम को जोधपुर रेफर कर दिया. पुलिस के मुताबिक अमराराम को जोधपुर में होश आया, तो उन्होंने बताया,

“मैं जोधपुर से बस से अपने गांव पहुंचने के बाद पैदल जा रहा था. इसी दौरान स्कॉर्पियो में कुछ नकाबपोश बदमाश आए और मुझे उठाकर किसी सुनसान जगह पर ले गए. यहां मारपीट करने के बाद सड़क किनारे फेंक कर चले गए.”

अमराराम ने आजतक से बातचीत में ये भी बताया कि कुछ दिन पहले उन्होंने गांव में नरेगा के तहत हुए सड़क निर्माण में धांधली को लेकर आरटीआई के जरिये सूचना मांगी थी. इसके चलते पूर्व संरपच नगराज उससे बेहद नाराज था. नगराज इलाके में अवैध रूप से शराब भी बिकवाता है, जिसकी शिकायत भी उसने की थी. उसके इशारे पर ही यह हमला किया गया है. अमराराम के मुताबिक उसका गांव बाड़मेर जिले के गिडा थाना क्षेत्र में आता है, इस थाने के अधिकारी व पुलिसकर्मियों की नगराज से सांठ-गांठ है. नगराज की कई अवैध शराब की दुकानें उनके संरक्षण में चल रही हैं. ऐसे में उनसे किसी तरह की न्याय की उम्मीद नहीं की जा सकती है. अमराराम का कहना है कि बाडमेर के एसपी ही इस मामले में सही जांच करवा सकते हैं.

पुलिस ने चार टीमें गठित कीं

बाड़मेर जिले एसपी दीपक भार्गव ने बताया कि अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक की देखरेख में आरटीआई कार्यकर्ता अमराराम का इलाज करवाया जा रहा है. शरीर में काफी गंभीर चोटें आई हैं. पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ संबंधित धाराओं के तहत मामला दर्ज कर उन्हें पकड़ने के लिए चार टीमें गठित की हैं. पुलिस कई बिंदुओं पर जांच पड़ताल कर रही है.


वीडियो: पड़ताल: बांग्लादेश में धर्म परिवर्तन की तस्वीर को राजस्थान से जोड़कर किया वायरल

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

1 अप्रैल से E-Invoicing अनिवार्य, फर्जी बिल बनाने वालों की नींद उड़ी

1 अप्रैल से E-Invoicing अनिवार्य, फर्जी बिल बनाने वालों की नींद उड़ी

20 करोड़ सालाना बिक्री पर ई-इनवॉइसिंग जरूरी, टैक्स चोरी थमेगी.

रुचि सोया के FPO के 'चमत्कार' को नमस्कार करने के बजाय SEBI ने क्यों दिखाई सख्ती?

रुचि सोया के FPO के 'चमत्कार' को नमस्कार करने के बजाय SEBI ने क्यों दिखाई सख्ती?

वजह पतंजलि समूह का एक कथित संदेश बताया गया है?

योगी सरकार 2.0 में राज्यमंत्री बने नेताओं के बारे में ये बातें जानते हैं आप?

योगी सरकार 2.0 में राज्यमंत्री बने नेताओं के बारे में ये बातें जानते हैं आप?

कई पुराने तो कुछ नए चेहरों को मंत्रीमंडल में जगह मिली है.

योगी आदित्यनाथ ने ली CM पद की शपथ, जानें कौन-कौन बना मंत्री

योगी आदित्यनाथ ने ली CM पद की शपथ, जानें कौन-कौन बना मंत्री

योगी आदित्यनाथ के साथ 52 मंत्रियों ने भी ली शपथ

बीरभूम हिंसा पर सीएम ममता बनर्जी ने क्या कहकर अपनी ही पुलिस पर निशाना साधा?

बीरभूम हिंसा पर सीएम ममता बनर्जी ने क्या कहकर अपनी ही पुलिस पर निशाना साधा?

ममता बनर्जी ने घटना के पीछे साजिश होने की आशंका भी जताई.

बिहार विधानसभा में शून्य हुई VIP, तीनों विधायक बीजेपी में शामिल

बिहार विधानसभा में शून्य हुई VIP, तीनों विधायक बीजेपी में शामिल

बोचहां विधानसभा उपचुनाव और एमएलसी इलेक्शन से पहले मुकेश सहनी को तगड़ा झटका.

यूनिवर्सिटी बनी ही नहीं, राजस्थान सरकार ने बिल पेश कर दिया, फिर हुई मिट्टी पलीद!

यूनिवर्सिटी बनी ही नहीं, राजस्थान सरकार ने बिल पेश कर दिया, फिर हुई मिट्टी पलीद!

सरकार को बिल वापस लेना पड़ा, बीजेपी बोली- पूरे कुएं में भांग है.

थोक ग्राहकों के लिए 25 रुपये प्रति लीटर महंगा हुआ डीजल, आम लोगों पर ये असर पड़ेगा

थोक ग्राहकों के लिए 25 रुपये प्रति लीटर महंगा हुआ डीजल, आम लोगों पर ये असर पड़ेगा

कीमतें बढ़ने से ब्लैक मार्केटिंग बढ़ने की आशंका. बंद हो सकते हैं कई पंप.

हरभजन सिंह को राज्यसभा में भेजने के साथ AAP उन्हें एक और बड़ी जिम्मेदारी दे सकती है

हरभजन सिंह को राज्यसभा में भेजने के साथ AAP उन्हें एक और बड़ी जिम्मेदारी दे सकती है

पंजाब के सीएम भगवंत मान और भज्जी काफी करीबी दोस्त माने जाते हैं.

इराक में अमेरिकी दूतावास के पास मिसाइल हमला करने की ईरान ने क्या वजह बताई?

इराक में अमेरिकी दूतावास के पास मिसाइल हमला करने की ईरान ने क्या वजह बताई?

ईरान ने इजरायल का नाम क्यों लिया है?