Submit your post

Follow Us

फिर से कांग्रेस की कमान संभालने के सवाल पर राहुल गांधी ने अब क्या कहा है?

कांग्रेस के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी ने न्यूज़ एजेंसी PTI को दिए एक इंटरव्यू में कई मुद्दों पर अपनी बात रखी है. राहुल गांधी ने कहा कि वह पार्टी के भीतर आंतरिक चुनावों के पक्षधर हैं. कार्यकर्ता ही ये तय करेंगे कि पार्टी का नेतृत्व किसे करना चाहिए. साथ ही उन्होंने इस बात पर भी जोर दिया कि पार्टी उनसे जो भी कहेगी, वह करेंगे.राहुल गांधी ने कहा कि पार्टी के भीतर संगठनात्मक चुनाव समय पर होंगे, लेकिन अभी जरूरत इस बात की है कि जीवन बचाया जाए और महामारी को नियंत्रित किया जाए.

राहुल गांधी ने कहा कि पूरी दुनिया इस समय भारत की स्थिति देखकर हिली हुई है, जिस समय सरकार को एक्शन लेना चाहिए उस समय सरकार ने राज्यों पर चीज़ें छोड़ दी हैं. राहुल गांधी ने कहा,

”आपको अपने आप पर ही निर्भर रहना होगा. कोई आपकी मदद के लिए आगे नहीं आएगा. प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी तो बिल्कुल भी नहीं.”

राहुल गांधी ने पीएम मोदी पर आरोप लगाते हुए कहा कि कोविड-19 के बढ़ते भयावह आंकड़े देखकर यही लग रहा है कि अब स्थिति पीएम के हाथ से निकल गई है. ये देखकर आश्चर्य हो रहा है कि क्या इसी तरह पीएम देशवासियों को आत्मनिर्भर बनाना चाहते थे.

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और अमित शाह पर निशाना साधते हुए राहुल गांधी ने कहा,

”भारत, दुनिया का एकमात्र ऐसा देश होगा जो बिना किसी एक्सपर्ट और विशेषज्ञों के समूह के इस महामारी का सामना कर रहा है. यहां कोई भी ऐसा विशेषज्ञ नहीं है जो वायरस से लड़ सके और लोगों की रक्षा करे और ये तय कर सके कि आगे क्या करना है. लोगों की ज़रूरतों का अनुमान लगा सके और कुछ ऐसे फैसले ले सके जिससे बहुत से लोगों की जान बचाई जा सके.’

राहुल गांधी ने कहा,

”सरकार लगातार कोरोना के बढ़ते केस को इग्नोर करती आ रही है. और कहां बिज़ी है? इलेक्शन कैंपेन में. उन्होंने कुछ बड़े पैमाने के इवेंट्स आयोजित करवा दिए. उसके बारे में डींगे भी हांकते हैं. हमारे प्रधानमंत्री-गृह मंत्री उन्होंने तो पिछले कई महीनों से पब्लिक के बीच मास्क तक नहीं पहना. इससे आम लोगों के बीच क्या संदेश पहुंचता है?”

राहुल गांधी ने हाल ही में संपन्न हुए पश्चिम बंगाल, असम, केरल, तमिलनाडु और पुदुचेरी विधानसभा चुनावों के दौरान हुई रैली का भी ज़िक्र किया. राहुल गांधी, उन नेताओं में से थे जिन्होंने सबसे पहले अपनी चुनावी रैलियों को कैंसिल किया था.

Rahul Gandhi

राहुल गांधी ने वैक्सीन के दामों को भी लेकर बात की. उन्होंने कहा कि सरकार ये वैक्सीन किसी डिस्काउंट सेल की तरह बेच रही है. पहले इसके प्राइज़ बढ़ाए फिर इसे घटा दिए. ताकि पब्लिक की आंखों में धूल झोंकी जा सके.

जब राहुल गांधी से पूछा गया कि इस पूरी स्थिति का ज़िम्मेदार कौन है? तो उन्होंने कहा,

” ये प्रधानमंत्री की गलती है. वो देश की केंद्रीकृत और व्यक्तिगत सरकारी मशीनरी चलाते हैं. वो अपनी खुद की ब्रांड इमेज बनाने में जुटे हुए हैं. वो वास्तविकता के बजाए कल्पनाओं की दुनिया में हैं. फैक्ट तो ये है कि सरकार कोविड-19 महामारी को शुरू से ही समझने और उससे निपटने में नाकाम रही है, जबकि इस बारे में वॉर्निंग भी दी गई थी. अब जब स्थिति हाथ से बाहर निकल गई है तो उन्होंने अपने हाथ खड़े कर लिए, और राज्यों के ऊपर पासा फेंक दिया. अब समय की ज़रूरत है कि हम साथ आएं और साथ मिलकर काम करें.

राहुल गांधी ने आरोप लगाया कि सरकार ने बहुत जल्दी इसकी घोषणा कर दी थी कि कोरोना से जंग जीत गए हैं. ये उनका सबसे बड़ा पागलपन था. उन्होंने कहा,

”भारत के प्रधानमंत्री के पास इससे लड़ने के लिए और बचने के लिए पूरा एक साल था मगर उन्होंने कुछ भी नहीं किया.”

राहुल गांधी ने आगे कहा,

” मोदी सरकार घोर लापरवाह और ओवर कॉन्फिडेंट थी. बीजेपी ने घोषणा की कि हम कोरोना वायरस से जंग से जीत चुके हैं और पीएम को इस सफलता का श्रेय भी दिया, जबकि उसी समय देश में कोरोना वायरस की दूसरी लहर शुरू हो रही थी. पीएम ने खुद इस बात को कुबूल किया है. इसके रिकॉर्ड भी हैं कि हम कोरोना से जीत चुके हैं. मगर असल में उनके पास कोई रणनीति ही नहीं थी.फिर इंडिया के पास वैक्सीन की कमी हो गई. हम ही उसे बना रहे हैं तो हमारे ही लोगों को वैक्सीन सबसे पहले नहीं लगनी चाहिए थी? ये नाकामयाबी नहीं तो और क्या है?”

राहुल गांधी ने कहा कि उन्होंने 2020 में, जब कोविड-19 की शुरुआत हुई थी, तभी सरकार को चेतावनी दी थी कि अगर जल्द ही इसपर कोई रणनीति नहीं बनाई गई या एक्शन नहीं लिया गया तो ये बहुत बड़ी तबाही मचा सकता है. मगर उस समय लोगों ने उनका मज़ाक उड़ाया था.

Pm Modi In Assam

राहुल गांधी ने ये भी आरोप लगाया कि मोदी सरकार ने फरवरी-मार्च 2020 में एयरपोर्ट के रास्ते इस वायरस को इंडिया आने दिया. मगर जब इसका असर शुरू हुआ तो वो घबरा गए और बिना किसी परामर्श के दुनिया का सबसे लंबा लॉकडाउन लगा डाला. उन्होंने कहा कि ये सरकार सबकुछ कंट्रोल करना चाहती है. उन्होंने कहा,

”जब केस घटने लगे तो इन्होंने अपनी जीत की घोषणा कर दी और प्राइम मिनिस्टर ने सारा क्रेडिट ले लिया जैसा कि वो हर बार करते हैं, अब जबकि सिचुएशन फिर से भयानक हो चली है तो आप राज्यों को क्यों ब्लेम कर रहे हैं?”

साथ देना चाहती है कांग्रेस

राहुल गांधी ने कहा कि वो इस समय में सरकार का साथ देना चाहते हैं, मगर दिक्कत ये है कि सरकार बातचीत और परामर्श पर विश्वास नहीं करती. सबको साथ लेकर चलने में इस सरकार को ऐसा लगता है कि किसी से हेल्प मांगना कमज़ोरी का साइन है. सरकार को बातचीत और सलाह लेने पर भरोसा नहीं है.

राहुल गांधी ने 2019 के लोकसभा चुनावों में पार्टी की हार की ज़िम्मेदारी लेते हुए कांग्रेस के अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे दिया था. हालांकि बार-बार ऐसी चर्चा होती रहती है कि राहुल को फिर से कांग्रेस पार्टी की कमान संभालिनी चाहिए.

राहुल गांधी ने कहा,

‘हालांकि अभी ध्यान इस महामारी को नियंत्रित करने, जीवन बचाने और भारत के व्यापक दुख और दर्द को दूर करने पर है. बाकी सभी चीजों के लिए आगे समय मिलेगा.’


वीडियो: मोदी सरकार ने दवाई की कमी, कोरोना मरीजों की परेशानियों वाले कई ट्वीट ब्लॉक करवा दिए!

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

दलितों के घर ढहाने और महिलाओं से छेड़खानी के आरोपों पर क्या बोली आजमगढ़ पुलिस?

दलितों के घर ढहाने और महिलाओं से छेड़खानी के आरोपों पर क्या बोली आजमगढ़ पुलिस?

भीम आर्मी चीफ चंद्रशेखर ने इसे 'पुलिस की गुंडागर्दी' करार दिया है.

मुस्लिम औरतों की बोली लगाने वाली वेबसाइट की लिंक शेयर कर घिरा राइट विंग 'पत्रकार'

मुस्लिम औरतों की बोली लगाने वाली वेबसाइट की लिंक शेयर कर घिरा राइट विंग 'पत्रकार'

बवाल हुआ तो शिकायत करने वाली औरतों को ही कोसने लगे.

नेमावर हत्याकांड: आरोपी सुरेंद्र चौहान की प्रॉपर्टी पर चली जेसीबी, CBI जांच की मांग उठी

नेमावर हत्याकांड: आरोपी सुरेंद्र चौहान की प्रॉपर्टी पर चली जेसीबी, CBI जांच की मांग उठी

कांग्रेस का आरोप है कि भाजपा नेता होने के चलते सुरेंद्र चौहान को इस मामले में संरक्षण मिला.

जम्मू एयरफोर्स स्टेशन पर धमाका, DGP दिलबाग सिंह बोले-ड्रोन से हुआ हमला

जम्मू एयरफोर्स स्टेशन पर धमाका, DGP दिलबाग सिंह बोले-ड्रोन से हुआ हमला

दो संदिग्धों को हिरासत में लिया गया है.

आंदोलन के सात महीने पूरे, किसानों ने देशभर में राज्यपालों को सौंपे ज्ञापन,कुछ जगहों पर झड़प

आंदोलन के सात महीने पूरे, किसानों ने देशभर में राज्यपालों को सौंपे ज्ञापन,कुछ जगहों पर झड़प

चंडीगढ़ और पंचकुला में बवाल.

कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ही नहीं, शशि थरूर का अकाउंट भी लॉक कर दिया था ट्विटर ने

कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ही नहीं, शशि थरूर का अकाउंट भी लॉक कर दिया था ट्विटर ने

ट्विटर ने क्या वजह बताई?

एक्ट्रेस पायल रोहतगी को अहमदाबाद पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया

एक्ट्रेस पायल रोहतगी को अहमदाबाद पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया

मामला एक वायरल वीडियो से जुड़ा है.

CBSE और ICSE की परीक्षाएं रद्द करने के खिलाफ याचिकाओं को सुप्रीम कोर्ट ने खारिज किया

CBSE और ICSE की परीक्षाएं रद्द करने के खिलाफ याचिकाओं को सुप्रीम कोर्ट ने खारिज किया

नंबर देने के फॉर्मूले से सुप्रीम कोर्ट भी सहमत.

LJP में कलह की वजह बताए जा रहे सौरभ पांडेय के बारे में रामविलास पासवान ने चिट्ठी में क्या लिखा था?

LJP में कलह की वजह बताए जा रहे सौरभ पांडेय के बारे में रामविलास पासवान ने चिट्ठी में क्या लिखा था?

चिराग को राजनीति में आने की सलाह किसने दी थी?

सरकार फिल्मों के सर्टिफिकेशन में क्या बदलाव करने जा रही, जो फ़िल्ममेकर्स की आज़ादी छीन सकता है?

सरकार फिल्मों के सर्टिफिकेशन में क्या बदलाव करने जा रही, जो फ़िल्ममेकर्स की आज़ादी छीन सकता है?

कुछ वक़्त से लगातार हो रहे हैं फ़ेरबदल.