Submit your post

Follow Us

'रांझणा' वाले ज़ीशान ने बताया कि नेपोट़िजम से भी बड़ी समस्या तो ये है, जिस पर कोई बात नहीं करता

नेपिटिज़म पर पहले भी कई बार बात हुई है. लेकिन सुशांत की मौत के बाद से ये मुद्दा काफी चर्चा में है. हर कोई डायरेक्ट और इनडायरेक्ट तरीके से इस मुद्दे पर अपनी टीका-टिप्पणी कर ही रहा है. सोनू निगम, विक्रांत मेस्सी, मनोज बाजपेयी, सेलिना जेटली, कंगना रनौत, सैफ अली खान, रवीना टंडन जैसे बड़े सेलेब्स ने अपनी राय रखी है. अब ज़ीशान अयूब ने भी एक इंटरव्यू के दौरान बताया कि वो कैसे और कब नेपोटिज़म का शिकार हुए.

हिंदुस्तान को दिए इंटरव्यू में ज़ीशान कहते हैं कि

इसको थोड़ा अजीब बनाया जा रहा है. नेपोटिज़म की ये पूरी बहस मेन मुद्दे को छोटा बना रही है. जबकि इससे भी ज्यादा बड़ी समस्या है. वो ये कि हमसे झूठ बोला जाता है. आपको बोला जाता है कि आपको ऐसा काम करना है. आपसे पोस्टर का भी वादा किया जाता है. फिल्म मेकर असल में आपको ये कहकर रोल बेचते हैं कि ये पोस्टर कैरेक्टर है और फिल्म के मेन लीड है. लेकिन फिल्म करते-करते हम साइड कैरेक्टर बन जाते हैं. और प्रमोशन के दौरान, किसी को उस लड़ाई के बारे में फर्क नहीं पड़ता. वो एक्टर, जो काम करता है, उसके पास लड़ने का समय नहीं होता. हम भी सोचते हैं कि अब कौन लड़ेगा वो भी पोस्टर को लेकर. या फिर कि जहां के लिए नाम बोला गया था, वहां पोस्टर पर नाम क्यों नहीं दिया इस पर.

ज़ीशान ने अपने साथ हुए भी कुछ किस्सों को बताया.  जब ठीक ऐसा ही उनके साथ हुआ था. यानी पोस्टर पर नाम और फोटो का वादा करके गायब कर दिया गया था. वो बताते हैं-

कुछ को छोड़कर, सभी फिल्मों में मुझसे बोला गया कि आप पोस्टर और बाकी जगहों पर होंगे. पर आखिरी में, मैंने देखा जो हुआ. इस तरह की चीजें होती हैं, तो ऑडियंस का भी आपके प्रति नज़रिया बदल जाता है.

ज़ीशान ने नेपोटिज़म के मुद्दे में सुशांत का नाम आने पर दुख जताया. उन्होंने कहा

कुछ लोग तो बस अपना पर्सनल पापड़ सेंक रहे हैं. मुझे बहुत बुरा लग रहा है कि हमारे साथ का एक व्यक्ति चला गया है और लोग उस पर गेम्स खेल रहे हैं. चारों तरफ बहुत ज्यादा नेगेटिविटी है.

ज़ीशान ने कहा कि लोगों को ये भी एहसास होना चाहिए कि अगर वो किसी को झाड़ रहे हैं, तो आटोमैटिकली सुशांत का नाम वो उसमें घसीट रहे हैं. जो कि बहुत ज्यादा गंदा है.

जीशान अयूब ‘रांझणा’, ‘मिशन मंगल’, ‘तनु वेड्स मनु’, ‘रईस’, ‘आर्टिकल-15’, ‘ज़ीरो’ जैसी फिल्मों में काम कर चुके हैं. उनकी अगली फिल्म ‘छलांग’ है, जिसे हंसल मेहता डायरेक्ट कर रहे हैं.


वीडियो देखें : विक्रांत मैसी ने बताया, ‘अवॉर्ड फंक्शन में बेस्ट एक्टर के लिए नॉमिनेट किया गया, लेकिन बुलाया नहीं’

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

PM Cares के पैसों से बने वेंटिलेटर पर सवाल उठे तो बनाने वाले ने राहुल गांधी को घेर लिया

कहा कि राहुल गांधी के सामने डेमो दिखा सकता हूं.

क्या गलवान में पीछे हटकर चीन 1962 वाली चाल दोहरा रहा है?

58 साल पहले भी ऐसा ही हुआ था. पहले चीन गलवान में पीछे हटा और कुछ दिन बाद भारत पर हमला कर दिया.

सरकार ने वो आदेश दिया है कि कंपनियां मास्क और सैनिटाइज़र के दाम में मनचाहा बदलाव कर सकती हैं

राज्यों ने शिकायत नहीं की, तो सरकार ने आदेश निकाल दिया

बुरी खबर! 'मेरे जीवनसाथी', 'काला सोना' जैसी फ़िल्में बनाने वाले प्रड्यूसर हरीश शाह नहीं रहे

कैंसर से जारी जंग आखिरकार हार गए.

दिल्ली की जेल में सजा काट रहे सिख दंगे के दोषी नेता की कोरोना से मौत हो गई

विधायक रह चुके इस नेता की कोरोना रिपोर्ट 26 जून को पॉज़िटिव आई थी.

श्रीलंका का ये क्रिकेटर हत्या के आरोप में गिरफ्तार

44 टेस्ट, 76 वनडे और 26 टी20 खेल चुका है.

लेह में दिए अपने भाषण में पीएम मोदी ने चीन का नाम लिए बिना क्या-क्या कहा?

जवानों पर, बॉर्डर के विकास पर, दुनिया की सोच पर बहुत कुछ बोला है.

ICMR ने एक महीने में कोरोना की वैक्सीन लॉन्च करने का झूठा दावा किया है!

क्या वैक्सीन के ट्रायल में घपला हो रहा है?

भारत-चीन के तनाव के बीच पीएम मोदी ने लद्दाख़ पहुंचकर किससे बात की?

पहले राजनाथ सिंह जाने वाले थे, नहीं गए.

मलेरिया वाली जिस दवा को कोरोना में जान बचाने के लिए इस्तेमाल कर रहे, वो उल्टा काम कर रही है?

हाईड्रॉक्सीक्लोरोक्विन पर चौंकाने वाली रिसर्च!