Submit your post

Follow Us

फेमिनिस्ट फिल्म बनाने वाले इस डायरेक्टर पर लगा है यौन शोषण का आरोप

बुधवार को मुंबई मिरर ने फ्रंट पेज पर एक स्टोरी छापी थी जिसमें बिना नाम लिए बॉलीवुड के एक डायरेक्टर पर यौन शोषण के आरोप लगाए थे. स्टोरी में कहा गया कि एक बड़ी हिट फिल्म दे चुका यह डायरेक्टर अपनी फिल्म कंपनी के तीन जिगरी पार्टनर्स से अलग हो गया है और ऐसा तब हुआ जब उनकी कंपनी में काम करने वाली एक लड़की ने मोलेस्टेशन की शिकायत की. जब इसे लेकर अंदरूनी जांच चल रही थी, तब कुछ और महिलाएं भी सामने आईं और कहा कि उस डायरेक्टर ने हमारे साथ भी ऐसा ही किया है.

स्टोरी में दावा किया गया कि इसके बाद से उस डायरेक्टर ने ऑफिस आना छोड़ दिया है. खबर में कंपनी के कई सूत्रों के हवाले से इसकी पुष्टि की गई. हालांकि प्रवक्ता ने कहा कि उनके यहां कोई सेक्सुअल हरासमेंट नहीं हुआ है और वो डायरेक्टर कंपनी से अलग नहीं हुए हैं बल्कि जल्द ही वो अपनी अगली फिल्म शुरू करने वाले हैं.

इसके एक दिन बाद गुरुवार को अपनी दूसरी स्टोरी में मुंबई मिरर ने उस डायरेक्टर के नाम का खुलासा किया है. वो डायरेक्टर हैं विकास बहल जो पहले यूटीवी में क्रिएटिव प्रोड्यूसर हुआ करते थे और वहां ‘नो विन किल्ड जेसिका’ जैसी फिल्म का प्रोडक्शन भी देखा. फिर 2011 में वे डायरेक्टर बन गए और नितेश तिवारी के साथ मिलकर बाल किरदारों वाली फिल्म ‘चिल्लर पार्टी’ का सह-निर्देशन किया. फिर उसी साल उन्होंने अनुराग कश्यप, विक्रमादित्य मोटवाने और मधु मंटेना के साथ मिलकर फिल्म प्रोडक्शन और डिस्ट्रीब्यूशन कंपनी फैंटम फिल्म्स बनाई जिसमें डायरेक्टरों की रचनात्मक स्वतंत्रता और अच्छे सिनेमा पर जोर दिया जाना था.

‘चिल्लर पार्टी’ अच्छी फिल्म थी लेकिन बतौर डायरेक्टर अपनी दूसरी फिल्म ‘क्वीन’ के बाद विकास को पीछे मुड़कर नहीं देखना पड़ा. इस फेमिनिस्ट फिल्म ने लीड एक्टर कंगना रनोट की जिंदगी भी बदल दी. उनका इमेज मेकओवर हो गया. वे ए-लिस्ट की एक्ट्रेस में शामिल हो गईं. अमिताभ और आमिर जैसे टॉप एक्टर्स ने उन्हें बधाई दी. इसी फिल्म के बाद से कंगना ने महिला विषयों पर बोलना शुरू किया. फिर 2015 में विकास ने शाहिद कपूर और आलिया भट्ट को लेकर ‘शानदार’ भी बनाई जो फ्लॉप रही.

मिरर की रिपोर्ट में कहा गया है कि फैंटम फिल्म्स में काम करने वाले एक युवती ने आरोप लगाया है कि विकास ने उनका शोषण किया और गोवा की एक ट्रिप के दौरान शराब के नशे में जबरदस्ती करने की कोशिश की.

फैंटम फिल्म्स की स्थापना करने वाले अनुराग कश्यप, विकास बहल, मधु मंटेना और विक्रमादित्य मोटवाने.
फैंटम फिल्म्स की स्थापना करने वाले अनुराग कश्यप, विकास बहल, मधु मंटेना और विक्रमादित्य मोटवाने.

इसके बाद बात फैंटम के साझेदार अनुराग कश्यप, विक्रम मोटवाने और मधु मंटेना से लेकर कंपनी में 50 फीसदी हिस्सेदारी रखने वाली रिलायंस एंटरटेनमेंट के अधिकारियों तक पहुंची. आरोपों की गंभीरता को देखते हुए विशाखा गाइडलाइन्स के अनुसार जांच के लिए एक समिति बनाई गई है. रिपोर्ट के मुताबिक कंपनी ने अब तक के आरोपों को नजर में रखते हुए विकास के खिलाफ कड़ा स्टैंड लिया है. यहां तक कि उन्हें 28 मार्च को कहा गया कि वे अपने पद से इस्तीफा दे दें. कंपनी के एक साझेदार ने मिरर को बतायाः

“बहुत हो गया था. ये फैसला लेने की जरूरत थी. एक, दो या तीन नहीं बल्कि कई पीड़िता हैं. मैं अपनी फिल्म के शूट के बीच था तब मुझे पहले वाकये के बारे में पता चला और मुझे अपना शूट छोड़कर मुंबई लौटना पड़ा. आखिर ये एक यंग लड़की का मामला है जिससे विकास ने शराब के नशे में जबरदस्ती करने की कोशिश की थी जब वो लोग गोवा में थे. विकास ने इससे पहले भी बुरा बर्ताव रखा है लेकिन जब ये शिकायत आई तो हमें इस पर कदम उठाना ही था.”

हालांकि कंपनी के एक प्रमुख संस्थापक मधु मंटेना ने इन आरोपों का खंडन किया है और उन्होंने कहा है कि विकास के खिलाफ कोई एक्शन नहीं लिया गया है. मिरर ने खुद विकास से इस बारे में बात की तो उन्होंने भी सब आरोपों को गलत बताया. वे अपनी बीमार मां को देखने दिल्ली गए हुए हैं. उन्होंने फोन पर कहा:

“कुछ भी नहीं हुआ है. मैं ही कंपनी चला रहा हूं. हमारे एचआर को कोई शिकायत नहीं आई है. कोई विशाखा समिति नहीं बैठी है. मैंने इस महिला के बारे में सुना है जो गोवा वाकये को लेकर बातें कर रही है. वो मेरी कर्मचारी है ही नहीं. हां मैं उसका दोस्त हूं और हमने साथ में काम किया है. हमने साथ में प्रोडक्शन किया है. अगर उसे फिर भी कुछ लग रहा है तो मैं बैठकर बात करने को तैयार हूं. मैं उससे पूछना चाहूंगा अगर मैंने कोई हद पार की है या उसे ठेस पहुंचाने जैसा कुछ किया है. अगर उसे ऐसा लगता है तो मैं माफी मांगने को तैयार हूं. मैं उसे बहुत लंबे समय से जानता हूं. ढाई साल में उसने मुझे कभी भी अहसास नहीं दिलाया कि वो मेरे साथ अच्छा महसूस नहीं कर रही है.”

विकास ने कहा कि जैसे इंसान वे हैं उसे लेकर उन्होंने बहुत मेहनत की है. उन्होंने कहा कि वे खुद को यहां पीड़ित महसूस कर रहे हैं और नहीं जानते कि क्या करना चाहिए. उन्होंने बाद में ये भी कहा कि लोग उन्हें बहुत पसंद करते हैं और पता नहीं कोई (वो महिला) इस हद तक कैसे गिर सकता है.

जहां तक फैंटम फिल्म्स से इस्तीफा देने की बात है तो विकास ने कहा कि उन्होंने इस कंपनी को शुरू करने के लिए बहुत बड़ी नौकरी छोड़ दी थी. उनके शेयर कंपनी में बाकी सबके बराबर हैं. कि वे सब बराबरी के भागीदार और बेस्ट फ्रेंड हैं और हमेशा रहेंगे.

विकास और उन पर आरोप लगाने वाली महिलाओं ने भी सार्वजनिक तौर पर कुछ नहीं कहा है. इस मामले पर अभी कंपनी के संस्थापक अनुराग कश्यप या किसी ओर की तरफ से कोई सार्वजनिक बयान नहीं आया है. विकास की फिल्म ‘क्वीन’ में काम करने वाली कंगना रनोट ने भी अब तक कुछ नहीं कहा है जो महिलाओं के हकों को लेकर बोलती हैं, और स्टैंड लेती हैं. वे नेपोटिज़्म यानी भाई-भतीजावाद को लेकर भी हाल में बोली हैं, तो उनसे उम्मीद है कि अगर मामले में ठोस तथ्य सामने आते हैं तो दोस्ती को परे रखकर वे विकास पर भी टिप्पणी करेंगी.

अभी तक टीवीएफ के अरुनाभ कुमार पर लगे यौन शोषण के आरोपों वाले मामले में उनकी प्रतिक्रिया से निराशा ही हाथ लगी है. जबकि उनके वीडियोज़ और कंटेंट को देखकर ये आभास होता रहा कि वे सुलझे हुए दिमाग वाले और नारीवादी हैं. अब नजरें फैंटम फिल्म्स के तीन मालिकों पर है जिन्होंने सुलझे हुए सिनेमा और सही इश्यूज़ को सपोर्ट किया है और चीजों को नए तरीके से करके दिखाया है. चाहे सच कुछ भी हो लेकिन फिल्म इंडस्ट्री या भारत की दूसरी कंपनियों में वर्कप्लेस पर महिलाओं से छेड़छाड़ और यौन हिंसा के मामलों को कैसे हैंडल किया जाए इसे लेकर वे लोग निराश भी कर सकते हैं और मिसाल भी बना सकते हैं.

Do read:
ऑफिस में औरत काम करने आती है, सेक्सी कहलाने नहीं
यूट्यूब सनसनी TVF पर बदनामी का दाग!
TVF के मुखिया पर लगे आरोपों की एक कहानी ये भी
SHAME पर एक निबंध

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

क्या चल रहा है?

क्या सेक्स करने से कोई खिलाड़ी डोप पॉज़िटिव हो सकता है?

अमेरिकी बॉक्सर जिन्होंने दिल्ली में हुई वर्ल्ड चैंपियनशिप में ब्रॉन्ज जीता था, उनका मामला क्या है?

दिल्ली के इस सरकारी अस्पताल में भर्ती कोरोना के मरीज देखभाल के लिए अपने परिवार के भरोसे!

परिजनों का आरोप, अस्पताल में कई तरह की गड़बड़ियां हो रही हैं.

क्या BMC ने दोगुनी कीमत पर खरीदे कोरोना मृतकों के लिए बॉडी बैग?

हड़बड़ी में BMC ने अपनी पोल-पट्टी खोलने वाला काम कर डाला.

ओडिशा की नदी में डूबा हुआ प्राचीन मंदिर फिर से दिखा, तो इतिहास की परत खुल गई

150 साल पहले आई बाढ़ में डूब गया था पूरा गांव.

पुलिसवालों से खुन्नस निकालने के लिए बदमाशों ने शातिर चाल चली, पर सब पकड़े गए

लुधियाना के क्वारंटीन सेंटर का मामला.

पता चल गया कि IPL 2020 कब होगा

BCCI से आई बड़ी अपडेट.

कोरोना को हराने के पांच दिन बाद उर्दू शायर आनंद मोहन जुत्शी उर्फ गुलजार देहलवी का निधन

‘पद्मश्री’ और ‘मीर तकी मीर’ पुरस्कार मिल चुका है.

क्या कोलकाता में कोरोना से मरे लोगों के शव को घसीटकर श्मशान पहुंचाया गया?

राज्यपाल ने भी ममता बनर्जी सरकार से सवाल पूछा है.

शादी के बाद पंडित जी ने कथा सुनाई थी, जब उनकी कोरोना रिपोर्ट आई, तो खलबली मच गई!

दूल्हे के परिवार को भारी पड़ गया कथा करवाना.

सालभर के इंतज़ार के बाद हुई शादी, पहली ही रात दुल्हन को मारकर दूल्हे ने फांसी लगा ली

पुलिस ने इस मामले पर क्या कहा?