Submit your post

Follow Us

करतारपुर कॉरिडोर से जुड़े पाकिस्तान के ये किस 'हिडन एजेंडा' की बात कर रहे हैं कैप्टन अमरिंदर?

करतारपुर कॉरिडोर 9 नवंबर को खुलने वाला है. इसे लेकर दोनों देशों के बीच तैयारियां अंतिम दौर में हैं. ये कॉरिडोर पंजाब स्थित डेरा बाबा नानक को करतारपुर स्थित दरबार साहेब से जोड़ेगा. इस बीच पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने बड़ा बयान दिया है. उन्होंने कहा कि पाकिस्तान के हिडन एजेंडे से सावधान रहने की जरूरत है. आज तक से बातचीत में कैप्टन ने कहा,

एक सिख होने के नाते करतारपुर कॉरिडोर खुलने से खुश हूं. मेरे लिए ये इतिहास में लौटने जैसा है. पूरे सिख समुदाय के लिए ये खुशी की बात है. लेकिन मुझे पाकिस्तान की मंशा पर शक है. करतारपुर कॉरिडोर के बारे में पाकिस्तान ने 70 सालों में क्यों नहीं सोचा. उसने गुरुनानक देव यूनिवर्सिटी बनाने के बारे में पहले क्यों नहीं पहल की. मुझे ये आईएसआई की एक साजिश लग रही है. ऐसा इसलिए क्योंकि जिस दिन इमरान खान का शपथ ग्रहण था, इमरान खान जब पीएम पद की शपथ ले रहे थे, नवजोत सिंह सिद्धू को बुलावा भेजा गया. लेकिन इमरान खान के शपथ ग्रहण से पहले पाकिस्तान के जनरल ने सिद्धू से कहा कि आप इस बात से खुश होंगे कि हम करतारपुर कॉरिडोर खोलने जा रहे हैं. इसके बाद इमरान खान ने पीएम पद की शपथ ली.

दूसरी ओर पाकिस्तान ने एक वीडियो जारी किया है. इस वीडियो में खालिस्तानी आतंकवादी जनरैल सिंह भिंडरावाला, मेजर जनरल शाबेग सिंह और अमरीक सिंह खालसा का पोस्टर दिख रहा है. पाकिस्तान के प्रधानमंत्री हैं इमरान खान. 4 नवंबर को अपने आधिकारिक फेसबुक पेज पर करतारपुर कॉरिडोर के ऑफिशियल सॉन्ग का वीडियो पोस्ट किया. वीडियो में खालिस्तानी आतंकवादियों की तस्वीर दिखी थी. इस पर ‘खालिस्तान 2020’ लिखा था. इसके बाद अंदेशा जताया जाता रहा है. पाकिस्तान करतारपुर कॉरिडोर का इस्तेमाल खालिस्तान समर्थकों की भावनाओं को भड़काने के लिए करना चाहता है. हालांकि पाकिस्तान हमेशा से इससे इनकार करता रहा है.

इस पर पंजाब के मुख्यमंत्री ने कहा,

एक तरफ वो हमें प्यार दिखा रहे हैं और दूसरी तरफ गड़बड़ कर रहे हैं. हमें बहुत केयरफुल रहना पड़ेगा.

हालांकि पाकिस्तान के आधिकारिक ट्विटर हैंडल पर जो वीडियो शेयर किया गया है उसमें 10 सेकेंड का वो हिस्सा गायब है जहां खालिस्तानी पोस्टर दिखता है. करतारपुर कॉरिडोर का पाकिस्तान में शिलान्यास हुआ था. पाकिस्तान में हुए कार्यक्रम में भिंडरावाला के पोस्टर दिखे थे. उस समय भी भारत की तरफ से कड़ी आपत्ति जताई गई थी. इसके बाद पाकिस्तान ने आश्वासन दिया था. कहा था कि ऐसी चीजें नहीं होने दी जाएंगी. लेकिन वीडियो में फिर से ऐसा देखने को मिला है.

आस्था और इतिहास, दोनों के लिहाज से करतारपुर बहुत अहमियत रखता है. यहां का गुरुद्वारा दरबार साहिब सिखों के लिए दुनिया की सबसे पवित्र जगहों में से एक है. सिखों के इबादत की पहली जगह है. कहते हैं कि गुरु नानक देव ने ही करतारपुर को बसाया था. यहीं पर नानक की मिट्टी भी है. करतारपुर असल में गुरदासपुर का हिस्सा था. बंटवारे के समय सिखों को यकीन था कि करतारपुर उनके हिस्से में आएगा. मगर जब बंटवारा हुआ, तो ये जगह पाकिस्तान की हो गई. बरसों से भारत के सिख चाहते रहे कि उनको करतारपुर गुरुद्वारे तक जाने की सहूलियत दी जाए. अब उनकी मांग पूरी होने जा रही है. भारत में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 9 नवंबर को करतारपुर कॉरिडोर का उद्घाटन करेंगे. इसी दिन पाकिस्तान में पीएम इमरान खान इसका उद्धाटन करेंगे.


अयोध्या में बाबरी मस्जिद विध्वंस के समय इंटेलिजेंस ब्यूरो क्या कह रहा था?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

कोरोना: चीन से आई रैपिड टेस्ट किट में गड़बड़ी, ICMR ने इस्तेमाल पर रोक लगाई

भारत ने पांच लाख किट पिछले सप्ताह ही मंगाई थी.

लॉकडाउन : नीतीश कुमार ने बिहारी मज़दूरों को भूखा क्यों छोड़ दिया?

लल्लनटॉप से बातचीत में प्रशांत किशोर ने क्या कहा?

राष्ट्रपति भवन में कोरोना वायरस का केस निकल आया, 125 परिवार आइसोलेट हुए

कोरोना पेशेंट के अंतिम संस्कार में शामिल होने गया था एक कर्मचारी का परिवार.

क्या औरतों के ऑर्गैज़म पर तेजस्वी सूर्या का पुराना ट्वीट अरब देशों से हमारे संबंध ख़राब कर देगा?

अरब महिलाओं को लेकर पांच साल पहले ट्वीट किया था.

महाराष्ट्र के पालघर जिले में दो साधुओं सहित तीन की पीट-पीटकर हत्या, 110 आरोपी अरेस्ट

पालघर मॉब लिंचिग का वीडियो वायरल होने के बाद हुई कार्रवाई.

ऑनलाइन शॉपिंग: 20 अप्रैल की बाद वाली छूट से बाहर हो गईं ये चीजें

ई-कॉमर्स साइट्स ने तो तैयारी भी कर ली थी.

जो रैपिड टेस्ट किट छत्तीसगढ़ ने सस्ते में मंगाई, उसी किट के लिए अन्य राज्य दोगुनी कीमत क्यों दे रहे हैं?

रैपिड टेस्ट किट की कीमत पर सवाल उठ रहे हैं.

3 मई के बाद से ट्रेन और फ्लाइट शुरू होने की कितनी उम्मीद है?

जनता कर्फ्यू से ही धीरे-धीरे पब्लिक ट्रांसपोर्ट बंद होने लगे थे.

गुजरात को मिली पहली प्लाज्मा डोनर, कोरोना से ठीक हुई स्मृति ठक्कर ने डोनेट किया प्लाज्मा

एक व्यक्ति के प्लाज़्मा से कम से कम दो और अधिकतम पांच लोगों का इलाज किया जा सकता है.

इंदौर में फिर मेडिकल टीम पर हमला, पुलिस बोली गलतफहमी में हुआ अटैक

बीच-बचाव करने आए व्यक्ति को लगा चाकू.