Submit your post

Follow Us

करतारपुर कॉरिडोर से जुड़े पाकिस्तान के ये किस 'हिडन एजेंडा' की बात कर रहे हैं कैप्टन अमरिंदर?

करतारपुर कॉरिडोर 9 नवंबर को खुलने वाला है. इसे लेकर दोनों देशों के बीच तैयारियां अंतिम दौर में हैं. ये कॉरिडोर पंजाब स्थित डेरा बाबा नानक को करतारपुर स्थित दरबार साहेब से जोड़ेगा. इस बीच पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने बड़ा बयान दिया है. उन्होंने कहा कि पाकिस्तान के हिडन एजेंडे से सावधान रहने की जरूरत है. आज तक से बातचीत में कैप्टन ने कहा,

एक सिख होने के नाते करतारपुर कॉरिडोर खुलने से खुश हूं. मेरे लिए ये इतिहास में लौटने जैसा है. पूरे सिख समुदाय के लिए ये खुशी की बात है. लेकिन मुझे पाकिस्तान की मंशा पर शक है. करतारपुर कॉरिडोर के बारे में पाकिस्तान ने 70 सालों में क्यों नहीं सोचा. उसने गुरुनानक देव यूनिवर्सिटी बनाने के बारे में पहले क्यों नहीं पहल की. मुझे ये आईएसआई की एक साजिश लग रही है. ऐसा इसलिए क्योंकि जिस दिन इमरान खान का शपथ ग्रहण था, इमरान खान जब पीएम पद की शपथ ले रहे थे, नवजोत सिंह सिद्धू को बुलावा भेजा गया. लेकिन इमरान खान के शपथ ग्रहण से पहले पाकिस्तान के जनरल ने सिद्धू से कहा कि आप इस बात से खुश होंगे कि हम करतारपुर कॉरिडोर खोलने जा रहे हैं. इसके बाद इमरान खान ने पीएम पद की शपथ ली.

दूसरी ओर पाकिस्तान ने एक वीडियो जारी किया है. इस वीडियो में खालिस्तानी आतंकवादी जनरैल सिंह भिंडरावाला, मेजर जनरल शाबेग सिंह और अमरीक सिंह खालसा का पोस्टर दिख रहा है. पाकिस्तान के प्रधानमंत्री हैं इमरान खान. 4 नवंबर को अपने आधिकारिक फेसबुक पेज पर करतारपुर कॉरिडोर के ऑफिशियल सॉन्ग का वीडियो पोस्ट किया. वीडियो में खालिस्तानी आतंकवादियों की तस्वीर दिखी थी. इस पर ‘खालिस्तान 2020’ लिखा था. इसके बाद अंदेशा जताया जाता रहा है. पाकिस्तान करतारपुर कॉरिडोर का इस्तेमाल खालिस्तान समर्थकों की भावनाओं को भड़काने के लिए करना चाहता है. हालांकि पाकिस्तान हमेशा से इससे इनकार करता रहा है.

इस पर पंजाब के मुख्यमंत्री ने कहा,

एक तरफ वो हमें प्यार दिखा रहे हैं और दूसरी तरफ गड़बड़ कर रहे हैं. हमें बहुत केयरफुल रहना पड़ेगा.

हालांकि पाकिस्तान के आधिकारिक ट्विटर हैंडल पर जो वीडियो शेयर किया गया है उसमें 10 सेकेंड का वो हिस्सा गायब है जहां खालिस्तानी पोस्टर दिखता है. करतारपुर कॉरिडोर का पाकिस्तान में शिलान्यास हुआ था. पाकिस्तान में हुए कार्यक्रम में भिंडरावाला के पोस्टर दिखे थे. उस समय भी भारत की तरफ से कड़ी आपत्ति जताई गई थी. इसके बाद पाकिस्तान ने आश्वासन दिया था. कहा था कि ऐसी चीजें नहीं होने दी जाएंगी. लेकिन वीडियो में फिर से ऐसा देखने को मिला है.

आस्था और इतिहास, दोनों के लिहाज से करतारपुर बहुत अहमियत रखता है. यहां का गुरुद्वारा दरबार साहिब सिखों के लिए दुनिया की सबसे पवित्र जगहों में से एक है. सिखों के इबादत की पहली जगह है. कहते हैं कि गुरु नानक देव ने ही करतारपुर को बसाया था. यहीं पर नानक की मिट्टी भी है. करतारपुर असल में गुरदासपुर का हिस्सा था. बंटवारे के समय सिखों को यकीन था कि करतारपुर उनके हिस्से में आएगा. मगर जब बंटवारा हुआ, तो ये जगह पाकिस्तान की हो गई. बरसों से भारत के सिख चाहते रहे कि उनको करतारपुर गुरुद्वारे तक जाने की सहूलियत दी जाए. अब उनकी मांग पूरी होने जा रही है. भारत में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 9 नवंबर को करतारपुर कॉरिडोर का उद्घाटन करेंगे. इसी दिन पाकिस्तान में पीएम इमरान खान इसका उद्धाटन करेंगे.


अयोध्या में बाबरी मस्जिद विध्वंस के समय इंटेलिजेंस ब्यूरो क्या कह रहा था?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

IPL 2020: रोहित, कोहली, धोनी सब एक टीम से खेलते दिख सकते हैं

टाइमिंग और वेन्यू पर भी बड़े-बड़े फैसले हुए हैं.

अब केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर ने लगवाया नारा, "देश के गद्दारों को, गोली मारो *लों को"

क्या केन्द्रीय मंत्री ऐसे बयान दे सकता है?

माओवादियों ने डराया तो गांववालों ने पत्थर और तीर चलाकर माओवादी को ही मार डाला

और बदले में जलाए गए गांववालों के घर

बंगले की दीवार लांघकर पी. चिदम्बरम को गिरफ्तार किया, अब राष्ट्रपति मेडल मिला

CBI के 28 अधिकारियों को राष्ट्रपति पुलिस मेडल दिया गया.

झारखंड के लोहरदगा में मार्च निकल रहा था, जबरदस्त बवाल हुआ, इसका CAA कनेक्शन भी है

एक महीने में दूसरी बार झारखंड में ऐसा बवाल हुआ है.

BJP नेता कैलाश विजयवर्गीय लोगों को पोहा खाते देख उनकी नागरिकता जान लेते हैं!

विजयवर्गीय ने कहा- देश में अवैध रूप से रह रहे लोग सुरक्षा के लिए बड़ा खतरा हैं.

CAA-NRC, अयोध्या और जम्मू-कश्मीर पर नेशन का मूड क्या है?

आज लोकसभा चुनाव हुए तो क्या होगा मोदी सरकार का हाल?

JNU हिंसा केस में दिल्ली पुलिस की बड़ी गड़बड़ी सामने आई है

RTI से सामने आई ये बात.

CAA पर सुप्रीम कोर्ट में लगी 140 से ज्यादा याचिकाओं पर बड़ा फैसला आ गया

असम में NRC पर अब अलग से बात होगी.

दिल्ली चुनाव में BJP से गठबंधन पर JDU प्रवक्ता ने CM नीतीश को पुरानी बातें याद दिला दीं

चिट्ठी लिखी, जो अब वायरल हो रही है.