Submit your post

Follow Us

जिस अधिकारी पर प्रियंका गांधी ने गला दबाने का आरोप लगाया उसने क्या कहा है

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी 28 दिसंबर को लखनऊ में थीं. कांग्रेस फाउंडेशन डे पर उन्होंने कांग्रेस कार्यकर्ताओं को संबोधित किया. इस कार्यक्रम के बाद वह पूर्व IPS अफसर एसआर दारापुरी के परिवार से मिलने पहुंचीं. दारापुरी को CAA के खिलाफ प्रोटेस्ट में शामिल होने की वजह से गिरफ्तार कर लिया गया है. प्रियंका जब उनके घर के लिए रवाना हुईं तो यूपी पुलिस ने उन्हें रोकने की कोशिश की. बाद में प्रियंका स्कूटी से उनके घर पहुंची.

परिवार से मुलाकात के बाद प्रियंका ने मीडिया से बातचीत में यूपी पुलिस पर गंभीर आरोप लगाए. उन्होंने कहा-

अपना प्रोग्राम खत्म करके हम चार-पांच लोग गाड़ी में बैठकर यहां आने के लिए निकले. शांतिपूर्वक ताकि किसी को डिस्टर्ब न हो. पुलिस वालों ने अपनी गाड़ी हमारे सामने खड़ी कर दी. कहा कि हम नहीं जा सकते. मैं पैदल चलने लगी. तो उन लोगों ने मुझे घेरा और मेरा गला दबाया.

प्रियंका के पति रॉबर्ड वाड्रा ने भी इस बारे में ट्वीट किया. उन्होंने लिखा कि जिस तरीके से यूपी पुलिस ने प्रियंका को मैनहैंडल किया वो बेहद परेशान करने वाला है. एक महिला पुलिसकर्मी ने उनका गला दबाया, दूसरी ने उन्हें धक्का दिया और वह गिर गईं. लेकिन प्रियंका इससे डरी नहीं, वह टू-व्हीलर से दारापुरी के परिवार से मिलने पहुंचीं.

कांग्रेस ने एक विडियो भी जारी किया. ट्विटर पर. इस विडियो में दो महिला पुलिसकर्मी प्रियंका को रोकने के लिए घेरती दिख रही हैं, लेकिन उसमें गला दबाने या प्रियंका को धक्का देकर गिराने जैसा कुछ नज़र नहीं आ रहा है. आप भी देखें-

चाहे गला दबाओ या धक्का मारो आवाज़ कभी न होगी कम। कान खोल कर सुन लो हुकूमत हम डटे रहेंगे, चाहे जितना कर ले सितम।

इस बीच उस महिला पुलिसकर्मी का भी बयान सामने आया, जिस पर प्रियंका गांधी ने आरोप लगाए थे. उनका नाम डॉ अर्चना सिंह है. वो लखनऊ की सर्किल ऑफिसर हैं. उनका कहना है कि ये सारी बातें सच नहीं हैं. वो प्रियंका गांधी की फ्लीट इंचार्ज थीं. प्रियंका के साथ किसी ने कोई गलत बर्ताव नहीं किया है.

अर्चना ने बताया कि उन्हें साढ़े 4 बजे ये सूचना मिली थी कि प्रियंका गांधी पार्टी कार्यालय से अपने आवास पर जाएंगी. और उसी हिसाब से फ्लीट को गोखले मार्ग के लिए रवाना किया गया. पर प्रियंका गांधी फ्लीट के साथ न जाकर सीधे लोहिया पथ की तरफ चली गईं. अर्चना बस ये जानना चाहती थीं कि प्रियंका कहां जाना चाहती हैं, क्योंकि उसी हिसाब से फिर व्यवस्था की जाती. पर प्रियंका गांधी गाड़ी से उतरकर पैदल चलने लगीं. उन्होंने कहा कि सोशल मीडिया पर अफवाह फैलाई जा रही है. वह अपनी ड्यूटी कर रही थीं. और उस दौरान उनके साथ भी धक्का-मुक्की हुई थी.

ड्यूटी के दौरान आई भाई के मौत की खबर, छुट्टी नहीं मिली अर्चना ने ये भी बताया कि जिस समय वो ड्यूटी कर रही थीं, उसी समय उनके भाई के मौत की खबर भी आई थी. उनके मुताबिक, चचेरे भाई को पीलिया हो गया था. दिल्ली के एक अस्पताल में वो एडमिट था. उसकी मौत की खबर मिलने के बाद उन्होंने छुट्टी मांगी, जो उन्हें नहीं मिली. उधर, लखनऊ के SSP कलानिधि नैथिनी ने कहा कि मॉर्निंग इंचार्ज डॉक्टर अर्चना सिंह ने एडिशनल सुपरीटेंडेंट को एक रिपोर्ट पेश की है, जहां उन्होंने बताया है कि प्रियंका गांधी वाड्रा की गाड़ी तय रूट पर नहीं जा रही थी, किसी अन्य रूट पर थी.

वहीं, प्रियंका गांधी भी अपने बयान से बाद में मुकर गईं. उन्होंने कहा कि उनके ‘गले पर हाथ’ रखा गया था. जबकि पहले उनका बयान आया था कि उनका पुलिस ने ‘गला दबाया’ था.

इन सब के बीच BJP नेता का भी बयान आया है. यूपी के कैबिनेट मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह ने इस पूरे घटनाक्रम को प्रियंका की नौटंकी बताया. उन्होंने ट्वीट किया,

पूरा परिवार झूठ पर फल-फूल रहा है. इस तरह के काम से उन्हें सिर्फ अस्थायी पब्लिसिटी मिलेगी वोट नहीं. प्रियंका वाड्रा की नौटंकी की निंदा होनी चाहिए.

इस घटना के कुछ और विडियो भी सोशल मीडिया पर तैर रहे हैं. हालांकि, किसी भी विडियो में महिला पुलिसकर्मी उनका गला दबाते नहीं दिख रही हैं.


वीडियो देखें: अमित शाह ने बताया क्या है NPR और इसका NRC से क्या संबंध है?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

क्या चल रहा है?

T20 में हैटट्रिक लेने वाले एश्टन एगर ने इस 'इंडियन प्लेयर' को अपना हीरो बताया

एश्टन एगर T20 में हैटट्रिक लेने वाले दूसरे ऑस्ट्रेलियाई गेंदबाज बन गए हैं.

कोरोना वायरसः भारतीयों को वापस लाने के लिए IAF का विमान तैयार है, पर चीन ने लटकाया

वुहान से अब तक 640 भारतीयों को रेस्क्यू किया जा चुका है.

एयरलाइन के CEO बोले- एयरपोर्ट पर मुस्लिम पुरुषों को आतंकी की तरह देखना चाहिए

उनके इस इस्लामोफोबिक बयान की आलोचना हो रही है.

महाशिवरात्रि को लेकर सद्गुरु ने ऐसी बात कह दी कि क्लास लग गई!

जग्गी वासुदेव ने ये भी कहा कि महाशिवरात्रि पर लेटना नहीं चाहिए.

चोट से लौटते ही इस स्टार ने मैच में टीम इंडिया की वापसी करवा दी

ये खिलाड़ी बढ़ती उम्र के साथ घातक होता जा रहा है.

दिल्ली के सरकारी स्कूल में मेलानिया के कार्यक्रम से CM और डिप्टी सीएम का नाम हटाया

मनीष सिसोदिया ने जो 'हैप्पीनेस क्लासेज' शुरू करवाए थे, उनको देखेंगी मेलानिया.

भारत-न्यूज़ीलैंड पहले टेस्ट के दूसरे दिन ऋषभ पंत की कुर्बानी बेकार चली गई

भारतीय गेंदबाज़ों ने कोशिश ज़रूर की लेकिन मामला गड़बड़ाया हुआ है.

नेटफ्लिक्स ने अपने प्लान में ऐसा बदलाव किया है कि नए यूजर्स बिदक जाएंगे

और ये बदलाव सिर्फ भारतीयों के लिए किया है.

राजस्थान में नागौर जैसी एक और घटना, लड़के को शराब पिलाकर गुप्तांग में सरिया डाला

नागौर में दलित युवक के गुप्तांग में पेचकस से पेट्रोल डाल दिया गया था.

जिस खिलाड़ी पर 'चक दे इंडिया' बनी, उसने पति पर घरेलू हिंसा का आरोप लगाया है

उनकी कप्तानी में महिला हॉकी टीम ने कई गोल्ड मेडल जीते हैं.