Submit your post

Follow Us

कैदी ने जेल में लगाई फांसी, पेट के अंदर पॉलिथीन में लिपटा मिला सुसाइड नोट

महाराष्ट्र के नासिक केंद्रीय कारागार में एक कैदी ने आत्महत्या कर ली. पोस्टमार्टम के लिए दौरान डॉक्टरों को उसके पेट से एक पॉलीथीन मिली जिसमें एक चिट्ठी रखी थी. जब इस चिट्ठी को खोला गया तो पूरा जेल प्रशासन हिल गया. चिट्ठी में जेल अधिकारियों पर गंभीर आरोप लगाए गए थे. हालांकि जेल प्रशासन इन आरोपों से इनकार कर रहा है और जांच की बात कर रहा है लेकिन इस बीच कुछ और कैदियों ने भी चिट्ठी लिख कर उत्पीड़न के आरोप लगाए हैं.

असगर अली मंसूरी ने की आत्महत्या

असगर, नासिक जेल में उम्र कैद की सजा काट रहा था. 7 अक्टूबर को उसके फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली. वो जेल में वार्डर के रूप में भी काम कर रहा था. जब उसकी लाश पोस्टमार्टम हाउस पहुंची तो वहां उसके पेट से पॉलीथीन में लिपटी चिट्ठी मिली जिसमें जेल कर्मचारियों पर उत्पीड़न के आरोप लगाए गए हैं.

क्या कहना है पुलिस का

नासिक रोड पुलिस स्टेशन के एक अधिकारी ने कहा,”पिछले कुछ दिनों से उसे वार्डर के रूप में काम करने की अनुमति नहीं मिली थी. उसके पेट से जो नोट मिला है उसके आधार पर केस की जांच की जा रही है. मंसूरी को पढ़ना और लिखना नहीं आता था तो हमें शक है कि किसी और ने उसकी मदद की होगी.”

जेल अधिकारी क्या कहते हैं

नासिक जेल के अधिकारियों ने तमाम आरोपों से इनकार किया है. इंडियन एक्सप्रेस में छपी एक खबर के मुताबिक, महाराष्ट्र के एडीजीपी जेल ने बताया कि उन्होंने स्पेशल आईजी जेल छेरिंग दोरजे को जांच के लिए कहा है. उन्होंने कहा,”पुलिस इस बात की जांच कर रही है कि क्या ये आपराधिक घटना है. इंटरनल इंक्वायरी में ये जांच की जाएगी कि इसमें जेल स्टाफ की क्या कमी रही है.”

दोरजे ने 15 अक्टूबर को जेल का दौरा किया. एक अधिकारी ने कहा,”जांच इस बात पर भी गौर करेगी कि क्या मंसूरी या जेल के अन्य कैदियों द्वारा किसी अधिकारी के खिलाफ कोई शिकायत की गई थी. साथ ही ये भी देखा जाएगा कि जेल अधिकारियों द्वारा क्या कमियां की गई थीं.”

कैदियों ने लिखी चिट्ठी

मंसूरी के साथ जेल में बंद पांच अन्य कैदियों ने चिट्ठियां लिखी हैं जिनको कई अधिकारियों को भेजा गया है. बॉम्बे हाई कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश को भी ये पत्र भेजा गया है. इसमें कहा गया है कि पांच जेल अधिकारियों के खिलाफ धारा 306 के तहत मामला दर्ज किया जाना चाहिए.

इंडियन एक्सप्रेस की खबर के मुताबिक पत्र में कथित रूप से ये दावा किया गया है कि जेल अधिकारियों में से एक अवैध गतिविधियों में शामिल था. आरोप है कि ये अधिकारी जेल में सेलफोन आदि चीजें भी मुहैया कराता रहा है. और ये बात मंसूरी (जो वार्डर भी था) को पता चल गई थी.

चिट्ठी में दावा किया गया है कि मंसूरी को झूठे मामले में फंसा देने की धमकी दी गई थी, उन्हें एक अलग सेल में डाल दिया गया था और वार्डर का पद भी छीन लिया गया था. कैदियों ने यह भी अनुरोध किया है कि मजिस्ट्रेट के सामने उनके बयान दर्ज किए जाएं. जेल के पांच आरोपी अधिकारी अब भी ड्यूटी पर बने हुए हैं.

कत्ल के मामले में जेल में थे मंसूरी

2007 में एक कत्ल के मामले में मंसूरी को दोषी पाया गया था. वो 13 साल जेल में गुजार चुके थे. उनके परिवार ने इंडियन एक्सप्रेस से कहा कि कुछ दिन पहले ही असगर से उनकी बात हुई थी तब उन्होंने कहा था कि अब और जीने का मन नहीं करता. इस पर परिवार के लोगों ने उन्हें टोका तो उन्होंने इसे मजाक बताया था और बात बदल दी थी.


वीडियो- असम सरकार का टैक्सपेयर्स के पैसों से क़ुरान पढ़ाने से इनकार कितना सही?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

हैदराबाद में भारी बारिश से सड़कों पर भरा पानी, परीक्षाएं टलीं, 11 लोगों की मौत

एनडीआरएफ की टीम मदद में जुटी. लोगों से घरों में रहने की अपील.

सीएम जगनमोहन ने सुप्रीम कोर्ट के जज एनवी रमना की शिकायत चीफ जस्टिस से क्यों कर दी?

ये पूरा मामला तो वाकई हैरान कर देने वाला है.

फारुख अब्दुल्ला बोले- चीन के सपोर्ट से दोबारा लागू किया जाएगा अनुच्छेद 370

कहा- आर्टिकल 370 को हटाया जाना चीन कभी स्वीकार नहीं करेगा.

पीएम मोदी ने जिस स्वामित्व योजना की शुरुआत की है, उसके बारे में जान लीजिए

2024 तक देश के 6.62 लाख गांवों तक सुविधा पहुंचाने का लक्ष्य है.

आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री ने CJI को चिट्ठी लिखी, सुप्रीम कोर्ट के जज एनवी रमन्ना पर लगाए गंभीर आरोप

जस्टिस एनवी रमन्ना अगले संभावित चीफ जस्टिस ऑफ इंडिया बन सकते हैं.

TRP स्कैम: FIR में इंडिया टुडे टीवी का नाम आने पर मुंबई पुलिस ने क्या कहा है?

रिपब्लिक टीवी का आरोप है कि FIR में इंडिया टुडे टीवी का नाम आने पर एक्शन नहीं लिया गया.

IPL 2020: मयंक-राहुल के विकेट से नहीं, इन छह गेंदों से हार गया पंजाब

सीजन बदला पर पंजाब की हालत नहीं.

मुंबई पुलिस का दावा, पैसे देकर TRP खरीदता है रिपब्लिक टीवी

रैकेट में दो और चैनलों के भी नाम हैं, उनके मालिक गिरफ्तार कर लिए गए है.

दो बार छह छ्क्के लगा चुका वह भारतीय, जिसे करोड़पति बनना रास ना आया

गणित के मास्टर भी हैं CSK को पीटने वाले राहुल त्रिपाठी.

आधी रात को क्यों जलाई थी हाथरस विक्टिम की बॉडी, यूपी सरकार ने अब बताया है

साथ ही ये भी बताया कि 14 सितंबर से अब तक क्या-क्या किया.