Submit your post

Follow Us

IPL 2020 खेलने से रोके गए भारतीय क्रिकेटर ने शाहरुख खान की टीम के लिए कमाल कर दिया

प्रवीण तांबे. 48 साल के भारतीय क्रिकेटर. आजकल सात समंदर पार कैरेबियन धरती पर कमाल दिखा रहे हैं. वे कैरेबियन प्रीमियर लीग (सीपीएल) 2020 में खेल रहे हैं. शाहरुख खान की टीम ट्रिनबैगो नाइट राइडर्स (टीकेआर) में हैं. सीपीएल में खेलने वाले पहले भारतीय हैं. 6 सितंबर को सेंट किट्स एंड नेविस पेट्रियट्स के खिलाफ तांबे ने बॉलिंग और फील्डिंग से समां बांध दिया.

तांबे ने फवाद अहमद की गेंद पर बेन डंक का कैच लपका. डंक ने गेंद पर स्वीप शॉट खेलना चाहा. लेकिन गेंद किनारा लेकर शॉर्ट थर्ड मैन की ओर उछल गई. यहां पर तांबे ने लंबी दौड़ लगाने के बाद डाइव लगाकर गेंद को जमीन पर गिरने से पहले ही लपक लिया.

सोशल मीडिया तांबे की वाहवाही में बह चला

तांबे के कैच को देखकर उनके टीम साथी भी हैरान रह गए. कैच का वीडियो सोशल मीडिया पर आते ही हिट हो गया. जिसने भी उनका कैच देखा, उन्होंने दांतों तले अंगुली दबा ली. सोशल मीडिया पर वाहवाही की बाढ़ आ गई. कुछ रिएक्शन देखिए-

अगले महीने 49 के हो जाएंगे तांबे

प्रवीण तांबे अभी सीपीएल 2020 के सबसे उम्रदराज प्लेयर हैं. वे अगले महीने 49 साल के होने वाले हैं. लेकिन उनके खेल में किसी तरह की सुस्ती नहीं दिख रही. सेंट किट्स एंड नेविस के खिलाफ तांबे ने एक विकेट भी चटकाया. रन देने में तो वे वैसे भी कंजूसी बरतते ही हैं. उन्होंने चार ओवर के अपने कोटे में केवल नौ रन दिए और एक विकेट चटकाया. यह मुकाबला टीकेआर ने बड़ी आसानी से जीत लिया.

सीपीएल में विकेट का जश्न मनाते हुए प्रवीण तांबे.
सीपीएल में विकेट का जश्न मनाते हुए प्रवीण तांबे.

यह टीकेआर की इस सीजन में लगातार 10वीं जीत रहीं. इसके साथ ही उसने सेमीफाइनल में जगह बना ली. यहां 8 सितंबर को जमैका ताल्वाह से उसकी टक्कर होगी. टीकेआर अभी तक दो बार सीपीएल का खिताब जीत चुकी है. साल 2017 और 2018 में वह चैंपियन बनी थी.

चैंपियंस लीग में तांबे रहे सबसे आगे

प्रवीण तांबे मुंबई के क्रिकेटर हैं. हालांकि आईपीएल खेलने के बाद उन्हें फर्स्ट क्लास क्रिकेट में खेलने का मौका मिला. आईपीएल 2013 में 41 साल की उम्र में उन्होंने डेब्यू किया. राहुल द्रविड़ की कप्तानी में वे आईपीएल खेले. अपने पहले सीजन में तांबे को केवल तीन आईपीएल मैच खेलने को मिले. इनमें एक विकेट उनके हाथ आया. लेकिन 2013 की चैंपियंस लीग में तांबे की लेग स्पिन का जादू चला. उन्होंने सबसे ज्यादा 13 विकेट चटकाए. अगले साल आईपीएल 2014 में भी तांबे ने शानदार बॉलिंग की. उन्होंने 13 मैचों में 15 विकेट लिए. एक समय तो वे पर्पल कैप की दौड़ में थे.

डेल स्टेन के साथ प्रवीण तांबे.
डेल स्टेन के साथ प्रवीण तांबे.

तांबे के नाम 28 आईपीएल विकेट

बाद में तांबे गुजरात लॉयंस के लिए भी खेले. आईपीएल में उनके नाम 33 मैचों में 28 विकेट हैं. इसमें एक हैट्रिक भी शामिल है. 20 रन देकर चार विकेट लेना उनका बेस्ट प्रदर्शन रहा. राहुल द्रविड़ ने भी तांबे की काफी तारीफ की थी. आईपीएल 2019 की बोली में कोलकाता नाइटराइडर्स ने तांबे को खरीदा था. लेकिन वे कनाडा में टी10 टूर्नामेंट में खेले थे. इस वजह से बीसीसीआई ने तांबे को दोबारा आईपीएल खेलने की परमिशन नहीं दी. ऐसे में तांबे सीपीएल खेलने चले गए. और अब वहां कमाल-धमाल कर रहे हैं.

तांबे की कहानी कहती है कि उम्र पर मत जाओ, वो तो केवल एक संख्या भर है.


Video: IPL से इन खिलाड़ियों ने नाम वापस क्यों लिया?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

GDP गिरने पर रघुराम राजन ने सरकार को बहुत बड़ी नसीहत दे दी है

किस बात पर रघुराम राजन ने कहा, 'सरकार अपने खोल में चली गयी'

अर्जुन कपूर के बाद मलाइका अरोड़ा भी कोरोना पॉज़िटिव!

मलाइका की बहन ने एक न्यूज़ वेबसाइट को दी जानकारी.

एक्टर और सांसद अनुभव मोहंती पर पत्नी ने घरेलू हिंसा का आरोप लगाया

कोर्ट में याचिका दायर की, सात सितंबर को होगी सुनवाई.

बेंगलुरु से पहला केस सामने आया, कोरोना को लेकर जिस बात का डर था, वही हुआ!

डॉक्टरों ने भी इसी बात का डर जताया था.

अर्जुन कपूर की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव, घर में ही खुद को आइसोलेट किया

इंस्टाग्राम पर पोस्ट कर जानकारी दी.

गुजरात दंगा: तीन मामलों से कोर्ट ने पीएम नरेंद्र मोदी का नाम हटाया

कोर्ट ने कहा- “आरोप अस्पष्ट हैं. सबूत नहीं हैं.”

अरुणाचल के कांग्रेस विधायक का दावा- बॉर्डर से पांच भारतीयों को उठा ले गया चीन

पुलिस ने कहा, कुछ भी कंफर्म नहीं, सेना ही दे सकती है जानकारी.

पबजी बैन, सोशल मीडिया ने कहा- ‘उनका’ वीडियो डिसलाइक करने का नतीजा है

118 ऐप्स बैन कर दिए गए हैं.

चेन्नई सुपरकिंग्स के लिए पॉज़िटिव न्यूज़ आई है

बड़े दिनों के बाद.

सेरो सर्वे की मानें, तो ठीक होने के बाद दोबारा हो सकता है कोरोना!

208 में से 97 लोगों में नहीं मिली एंटीबॉडी.