Submit your post

Follow Us

प्रणब मुखर्जी ने कुछ ऐसा बोल दिया, जिससे मनमोहन सिंह का ज़ायका बिगड़ सकता है

282
शेयर्स

दिल्ली का इंडिया इंटरनेशल सेंटर. आम भाषा में IIC कहते हैं. कहा जाता है कि बड़े और अमीर लोगों की जगह है. बड़े-बड़े नेता और अधिकारी यहां आते हैं. दिल्ली के बीचोंबीच. कल यानी 15 जुलाई को यहां एक किताब का लोकार्पण हुआ था. किताब यशवंत सिन्हा की आत्मकथा. किताब का नाम “Relentless :  An Autobiography by Sinha”.

यशवंत सिन्हा की किताब का कवर
यशवंत सिन्हा की किताब का कवर

कल इस किताब की लॉन्चिंग के समय बड़े-बड़े लोग थे. पूर्व केन्द्रीय मंत्री अरुण शौरी थे. कांग्रेस सांसद शशि थरूर और पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी भी थे. किताब पर बात करते हुए प्रणब मुखर्जी ने ऐसा कुछ कहा है जिससे पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह का मूड थोड़ा खराब हो सकता है.

यशवंत सिन्हा की किताब पर बात करते हुए प्रणब मुखर्जी ने कहा कि यशवंत सिन्हा एक ऐसे वित्त मंत्री हो सकते थे, जिनके पास ऐसा बजट था, जिससे बहुत कुछ बदल सकता था. लेकिन यशवंत सिन्हा वो बजट पेश नहीं कर पाए. प्रणब मुखर्जी इस समय पूर्व प्रधानमंत्री चंद्रशेखर के कार्यकाल के बारे में बात कर रहे थे.

चंद्रशेखर
चंद्रशेखर (बीच में)

थोड़ा इतिहास आपको बता रहे हैं. चंद्रशेखर 1990 में भारत के प्रधानमंत्री बने. सत्ता में थी उनकी पार्टी जनता दल. कांग्रेस ने बाहर से समर्थन दिया था. इस सरकार में एक ऐसे आदमी के पास वित्त मंत्रालय था, जो महज छः सालों पहले यानी 1984 में राजनीति में आया था. पहले IAS अधिकारी के रूप में उसकी धाक थी. डीएम रहा था. कई मंत्रालयों में सचिव के पद पर कार्यरत था. उस आदमी का नाम है यशवंत सिन्हा.

ये सरकार नवंबर 1990 में बनी, और जून 1991 में गिर गयी. क्योंकि कांग्रेस ने समर्थन वापिस ले लिया था. यशवंत सिन्हा के पास इस सात महीनों की सरकार के अधीन बनाया गया बजट था. उसे पेश किया जाना था. जैसा कल प्रणब मुखर्जी ने बताया कि ऐसा लग रहा था कि इस बजट में भारी टैक्स लगाए गए थे. और सरकार की सहयोगी कांग्रेस पार्टी को ये पसंद नहीं आ रहा था.

प्रणब मुखर्जी
प्रणब मुखर्जी

राजीव गांधी ने प्रणब मुखर्जी और यशवंत सिन्हा को बजट पर बात करने के लिए बुलाया भी था. लम्बी बातचीत हुई, लेकिन कोई सहमति नहीं बन पा रही थी.

प्रणब मुखर्जी ने आगे बताया कि यशवंत सिन्हा देश का पहला reformist बजट पेश करने के लिए तैयार थे. Reformist से मतलब यानी वो बजट जो देश की आर्थिक स्थिति में बहुत अच्छे परिवर्तन ला सकता था.  इस बजट को पेश किया गया बाद में. पेश करने वाले थे मनमोहन सिंह.

लग तो रहा कि मनमोहन सिंह का मूड खराब हो जाएगा.
लग तो रहा कि मनमोहन सिंह का मूड खराब हो जाएगा.

प्रणब मुखर्जी ने ये भी बताया कि राजीव गांधी के साथ हुई बातचीत में हमें पता चला कि यशवंत सिन्हा भारी भरकम टैक्स के साथ बजट नहीं पेश करने वाले थे, बल्कि वो वही बजट पेश करने वाले थे, जिसे कुछ दिनों बाद मनमोहन सिंह ने संसद में पेश किया था.

प्रणब मुखर्जी ने कहा,

“यशवंत सिन्हा बजट पेश करने के लिए रेडी हो रहे थे, लेकिन वे ऐसा नहीं कर सके. उन्हें ऐसा करने से रोकने वालों में मेरे जैसे लोग शामिल थे, जो कांग्रेस की ओर से सांसद बनकर संसद में मौजूद थे.”

1991 में कांग्रेस की सरकार बन गयी. चंद्रशेखर की सरकार चली गयी. कांग्रेस को जीत मिली और प्रधानमंत्री बने पीवी नरसिम्हा राव. राव ने मनमोहन सिंह को अपना वित्तमंत्री बनाया. बतौर वित्तमंत्री मनमोहन सिंह ने वही बजट पेश किया, जो कुछ ही दिनों पहले यशवंत सिन्हा पेश करने के लिए तैयार हो रहे थे.


लल्लनटॉप वीडियो : लोकसभा में ओवैसी से बोले अमित शाह, सुनने की आदत डालिए

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

क्या चल रहा है?

चंद्रयान-2 के लैंडर विक्रम ने चांद की पहली तस्वीर भेज दी है, देख लीजिए

2650 किलोमीटर की ऊंचाई से ली गई तस्वीर में 2 खास बात है.

सहवाग ने क्यों कहा सचिन का एक रिकॉर्ड कोहली से कभी नहीं टूटेगा?

जे कोन रिकॉर्ड हो भाऊ?

विवियन रिचर्ड्स ने बताया कि वे बिना हेलमेट के बैटिंग क्यों करते थे?

विराट कोहली ने विवियन से बातचीत की है.

मीका सिंह ने इधर देश से मांगी माफ़ी, उधर उन्हें इसका फायदा भी मिलना होना शुरू हो गया

पाकिस्तान में परफॉर्म करने पर ट्रोल हो चुकने के बाद अब मीका कह रहे होंगे कि अंत भला, सो भला.

BJP सांसद सुब्रमण्यम स्वामी की मांग सरकार ने मान ली तो चिदंबरम की सारी संपत्ति चली जाएगी

कांग्रेस नेता पी चिदंबरम की तुलना नीरव मोदी और विजय माल्या से क्यों होने लगी है?

एक और बाबा ने लड़कियों का यौन शोषण किया, उनमें से एक ने वीडियो वायरल कर दिया

बाबा हो गए हैं फरार. लड़की कह रही 600 घंटों की वीडियो फुटेज है.

फंस गए पी. चिदंबरम तो राहुल गांधी ने वही कहा, जो हमेशा कहते हैं

और प्रियंका ने बताया चिदंबरम ने देश के लिए क्या किया?

सैफई यूनिवर्सिटी में भयानक रैगिंग, डेढ़ सौ छात्रों के सिर मुंडवा दिए

वीसी ने एक्शन लेने की जगह कहा ये तो हमारे जमाने का दस फीसदी भी नहीं है.

इधर इंडिया-पाकिस्तान में तनाव है, उधर पाक क्रिकेटर ने इंडियन लड़की से शादी कर ली

अब दोनों मुल्कों के लोग बधाइयां दे रहे हैं.

योगी ने 23 नए मंत्री बनाए, मगर ये 4 मंत्री हुए पैदल और विदाई की वजह जानने लायक है

योगी, मोदी का डंडा चला है.