Submit your post

Follow Us

कोरोना काल में पीएम मोदी ने कारोबारियों से क्यों कहा- आपकी पांचों उंगली घी में हैं

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 11 जून को इंडियन चैंबर ऑफ कॉमर्स (ICC) के 95वें सालाना सेशन को संबोधित किया. वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के ज़रिए. स्पीच की शुरुआत बंगाली भाषा से की. कोरोना संकट, आत्मनिर्भर भारत, उद्योगों, किसानों, MSMEs को लेकर अपनी बात रखी. ICC कोलकाता का बिजनेस और इंडस्ट्री से जुड़ा संगठन है और पूर्वी क्षेत्रों, नॉर्थ-ईस्ट में काम करता है. पीएम मोदी ने कहा कि आज जो चीज़ें हमें विदेश से मंगवानी पड़ती है, हमें सोचना होगा कि वो हमारे देश में कैसे बनें. हम एक्सपोर्टर बनें. आज गवर्नमेंट ई-मार्केटिंग (GeM) के जरिए कोई भी मैन्युफैक्चरर सीधे सरकार को अपना सामान बेच सकते हैं. आपका सामान प्रधानमंत्री तक भी पहुंच सकता है.

पीएम मोदी की स्पीच की अहम बातें:

# हमारा देश कई चुनौतियों का सामना कर रहा है. दुनिया कोरोना वायरस से लड़ रही है. भारत भी लड़ रहा है लेकिन बाढ़, टिड्डी, ओलावृष्टि, असम ऑयल फील्ड में आग, छोटे-छोटे भूकंप की खबरें, पूर्वी और पश्चिमी क्षेत्र में दो चक्रवात जैसी चुनौतियां भी आ रही हैं. मुश्किलों से हम कितनी मजबूती से लड़ रहे हैं, ये आने वाले अवसरों को भी तय करता है.

‘आत्मनिर्भर भारत और लोकल के लिए वोकल’

# हर वो सामान जो भारत का लघु उद्यमी बनाता है. हैंडी क्राफ्ट, गरीब बनाते हैं, जो बनता आ रहा है, गलियों-मोहल्लों में बिकता रहा है, उसे छोड़कर विदेशों से सामान मंगाने की प्रवृत्ति पर संयम करना है.

# लोकल के लिए वोकल होने का समय है. पूरे देश को आत्मनिर्भर करने का समय है. आत्मनिर्भर भारत के तहत जिन रिफॉर्म्स की घोषणा की गई है उन्हें तेजी से ज़मीन पर उतारा जा रहा है.

‘MSME, किसानों के लिए काम’

# MSME की डिफिनेशन बदली गई है. उसका दायरा बढ़ाना होगा. कोल और माइनिंग के सेक्टर को कंपीटिटिव बनाने के लिए उद्योग जगत आगे आएं. किसानों और रूरल इकॉनमी के लिए जो निर्णय हुए हैं, उन्होंने एग्रीकल्चर इकॉनमी को मजबूत किया है.

# अब किसानों को अपने प्रोडक्ट कहीं भी बेचने की आज़ादी मिल गई है. एसेंशियल कमोडिटी एक्ट में संशोधन हुआ है. किसानों-इंडस्ट्री के बीच पार्टनरशिप के रास्ते खोले गए हैं. चाहे किसानों के बैंक खाते में पैसे देना हो, MSP हो, पेंशन की योजना हो, उन्हें सशक्त करना है. किसानों को मार्केट फोर्स की तरह विकसित होने में सहायता हो रही है.

‘कोलकाता फिर लीडर बन सकता है’

# क्लस्टर बेस्ड प्रोडक्ट को बढ़ावा दिया जा रहा है. जो चीज जहां पैदा होती है, उसका वहीं क्लस्टर बनेगा. नॉर्थ ईस्ट ऑर्गेनिक खेती का हब बन सकता है. कोलकाता पुराने गौरव से प्रेरणा लेते हुए फिर लीडर बन सकता है, क्योंकि कहा जाता है कि बंगाल जो आज सोचता है, वो पूरा देश आगे सोचता है.

‘पीपल, प्लैनेट, प्रॉफिट’

# आज आपने पीपल, प्लैनेट, प्रॉफिट का विषय उठाया है. बहुत से लोगों को लगता है ये तीनों एक दूसरे के विरोधाभासी हैं. ये एक दूसरे से इंटरलिंक हैं. एक साथ रह सकते हैं.

# पांच साल पहले एक LED बल्ब 350 रुपए में मिलता था, लेकिन अब 50 रुपए में मिलता है. अब देश में करोड़ों घरों में इसका उपयोग हो रहा है. इससे उत्पादन की लागत कम हुई. लाभ हुआ है. अब इससे बिजली का बिल भी कम हुआ है. इसका लाभ प्लैनेट को हुआ है. चार करोड़ टन का कॉर्बन डाई ऑक्साइड कम हुआ है.

# सरकार का जोर इनलैंड वॉटरवेज (जलमार्ग) पर है. हल्दिया से बनारस तक का वॉटरवे चालू हो चुका है.

# देश को सिंगल यूज प्लास्टिक से मुक्त करने का अभियान चल रहा है. इससे पश्चिम बंगाल में जूट का कारोबार काफी बढ़ने की संभावना है. इस एक निर्णय से आईसीसी के कारोबारियों की पांचों उंगलियां घी में हैंं, क्योंकि आप इस इलाके में काम करते हैं. जब पश्चिम बंगाल में बना जूट का बैग हर किसी के हाथ में होगा तो इससे बंगाल का फायदा होगा.

‘GeM के जरिए आपका प्रोडक्ट पीएम तक भी पहुंच सकता है’

# गवर्नमेंट ई-मार्केट प्लेटफॉर्म (GeM) पर MSME हो या बड़ा व्यापारी, वो सीधे भारत सरकार को गुड्स सर्विसेज बेच सकते हैं. आपका सामान प्रधानमंत्री तक भी पहुंच सकता है. आपका माल सरकार को खरीदना ही पड़े ऐसा प्रोडक्ट लाइए. आपसे जुड़ा मैन्युफैक्चरर जेम से जुड़ेगा तो छोटे कारोबारी भी ऐसा कर सकेंगे.

# गुरुवर टैगौर ने अपनी कविता ‘नूतोन जुगेर भोर’ में कहा है, चोलाय चोलाय बाजबे जोयेर मेरी, पाएर बेगेई पोथ केटे जाय कोरिश ना आर देरी. यानी हर आगे बढ़ने वाले कदम पर घोषनाद होगा. दौड़ते पांव ही नया रास्ता बना देंगे. अब देरी मत करो.


मोदी 2.0 कैबिनेट ने किसानों, स्ट्रीट वेंडरों को पहली एनिवर्सरी पर ये राहत दी है

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

WHO ने कोरोना पर राहत देने वाली बात की तो दुनियाभर के वैज्ञानिकों ने कहा, “अरी मोरी मईया!”

पलटकर WHO से ही सबूत मांग रहे हैं लोग.

ज्योतिरादित्य सिंधिया और उनकी मां को हुआ कोरोना इंफेक्शन, दिल्ली के अस्पताल में भर्ती

बीते कुछ दिनों से दोनों की तबीयत खराब थी.

बिहार: अमित शाह ने वर्चुअल रैली में तेजस्वी को घेरा, कहा-लालटेन राज से एलईडी युग में आ गए

तेजस्वी यादव ने रैली पर 144 करोड़ खर्च करने का आरोप लगाया.

गर्भवती ने 13 घंटे तक आठ अस्पतालों के चक्कर लगाए, किसी ने भर्ती नहीं किया, मौत हो गई

महिला की मौत के बाद अब जिला प्रशासन जांच की बात कर रहा है.

दिल्ली के सरकारी और प्राइवेट अस्पतालों में अब सिर्फ दिल्ली वालों का इलाज होगा

दिल्ली के बॉर्डर खोले जाने पर भी हुआ फैसला.

लद्दाख में तनाव: भारत-चीन सेना के कमांडरों की मीटिंग में क्या हुआ, विदेश मंत्रालय ने बताया

6 जून को दोनों देशों के सेना के कमांडरों की मीटिंग करीब 3 घंटे तक चली थी.

पहले से फंसी 69000 शिक्षक भर्ती में अब पता चला, रुमाल से हो रही थी नकल!

शुरू से विवादों में रही 69 हजार शिक्षक भर्ती में जुड़ा एक और विवाद

'निसर्ग' चक्रवात क्या है और ये कितना ख़तरनाक है?

'निसर्ग' नाम का मतलब भी बता रहे हैं.

कोरोना काल में क्रिकेट खेलने वाले मनोज तिवारी ‘आउट’

दिल्ली में हार के बाद बीजेपी का पहला बड़ा फैसला.

1 जून से लॉकडाउन को लेकर क्या नियम हैं? जानिए इससे जुड़े सवालों के जवाब

सरकार ने कहा कि यह 'अनलॉक' करने का पहला कदम है.