Submit your post

Follow Us

वडनगर रेलवे स्टेशन का कायाकल्प देख हैरान रह जाएंगे पीएम मोदी!

पीएम मोदी ने शुक्रवार, 16 जुलाई को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए गुजरात में कई प्रोजेक्ट्स का उद्घाटन किया. इनमें गांधीनगर रेलवे स्टेशन, वडनगर रेलवे स्‍टेशन, एक्वेटिक और रोबोटिक्स गैलरी, गुजरात साइंस सिटी में नेचर पार्क समेत कई प्रोजेक्ट्स शामिल हैं. पीएम नरेंद्र मोदी ने गांधीनगर के रेलवे स्टेशन को नए भारत की पहचान बताया और कहा कि ये तमाम लोगों की आकंक्षाओं का प्रतीक है. पीएम ने कहा कि वे चाहते हैं कि देश के हर नागरिक को रेलवे स्टेशन पर एयरपोर्ट जैसी सुविधाएं मिलें.

वडनगर रेलवे स्‍टेशन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के लिए विशेष महत्‍व रखता है. उनके मुताबिक, इसी स्‍टेशन पर वे अपने पिता के साथ चाय बेचा करते थे. ये स्टेशन अब पूरी तरह बदल चुका है. स्टेशन को हेरिटेज लुक दिया गया है. तस्वीरों में देखिए कि ये रेलवे स्टेशन पहले कैसा था और अब कैसा हो गया है.

Modi Tea Stall
इसी दुकान पर चाय बेचते थे पीेएम मोदी.

वडनगर शहर पीएम मोदी का जन्मस्थान भी है. 2014 के लोकसभा चुनावों से पहले मोदी ने कई बार कहा था कि वे बचपन में वडनगर रेलवे स्टेशन पर चाय बेचते थे.

Vadnagar

अक्षय कुमार के साथ एक इंटरव्यू में पीएम मोदी ने बताया था कि ट्रेन में चाय बेचते हुए उन्हें लोगों को समझने का मौका मिला. पीएम ने बताया कि कभी-कभी मालगाड़ी से मुंबई के कारोबारी आते थे. वे उन्हें चाय पिलाते और उनसे बातें करते. ऐसा करते-करते नरेंद्र मोदी ने हिंदी सीख ली.

Vadnagar (2)
पूरे रेलवे स्टेशन को हेरिटेज लुक दिया गया है.
Rail Track
अंदर से ऐसा दिखता है स्टेशन.

वरेथा मेहसाणा जिले का एक छोटा सा गांव है और प्रसिद्ध तरंगा हिल के करीब है, जो एक लोकप्रिय पर्यटन स्थल होने के साथ-साथ धार्मिक स्थान भी है. अभी तक मेहसाणा स्टेशन तरंगा पहाड़ी से मीटर गेज रेलवे लाइन के माध्यम से जुड़ा हुआ था. वडनगर रेलवे स्टेशन उस मार्ग पर पड़ने वाले प्रमुख स्टेशनों में से एक है.

पश्चिम रेलवे के मंडल रेल प्रबंधक दीपक कुमार झा का कहना है कि वडनगर शहर हेरिटेज सर्किट में आता है. यही कारण है कि रेलवे स्‍टेशन के बदलाव में इस बात का खास ख्‍याल रखा गया है. दीपक ने बताया कि स्टेशन की इमारत को 8.5 करोड़ रुपये की लागत से हेरिटेज लुक दिया गया है.

Vadnagar Lake
शार्मिष्‍ठा झील

पीएम मोदी के बारे में एक किस्सा है कि वे बचपन में शार्मिष्‍ठा झील में खेलने के लिए जाया करते थे. उन्हें पता नहीं था कि झील में मगरमच्छ भी हैं. उनके बचपन के जीवन पर छपी किताब ‘बाल नरेंद्र’ के मुताबिक, नरेंद्र मोदी एक बार झील से मगरमच्छ के एक बच्चे को पकड़कर घर ले आए थे. इससे उनकी मां नाराज हुईं. उनकी डांट सुनकर मोदी मगरमच्छ के बच्चे को वापस छोड़ आए.

गांधीनगर रेलवे स्टेशन

पीएम मोदी ने गुजरात की राजधानी गांधीनगर में भारत के पहले पुनर्विकसित रेलवे स्टेशन का भी वर्चुअली उद्घाटन किया. गांधीनगर कैपिटल स्टेशन अत्याधुनिक सुविधाओं से लैस है. रेलवे स्टेशन में कई विश्व स्तरीय सुविधाएं हैं. स्टेशन के रेलवे ट्रैक के ऊपर बना 5 स्टार होटल आकर्षण का केंद्र है. इसके अलावा यहां यात्रियों को एयरपोर्ट जैसी सुविधाएं दी जाएंगी. इंटरफेथ प्रेयर हॉल से लेकर सेपरेट बेबी फीडिंग रूम का भी इंतजाम है. गांधीनगर रेलवे एंड अर्बन डेवलेपमेंट कॉरपोरेशन लिमिटेड ने 71.50 करोड़ रुपये की लागत से इस स्टेशन को पुनर्विकसित किया है.

Gandhi Nagar Hotel
पीएम मोदी ने इस फोटो को ट्वीट किया है.

स्टेशन को लेकर पीएम मोदी ने ट्वीट कर कहा था, ‘मैंने हमेशा चाहा है कि हमारे रेलवे स्टेशन टॉप क्वालिटी के हों. जहां यात्रा के अलावा कॉमर्स, हॉस्पिटैलिटी और अन्य को बढ़ावा मिले. ऐसा ही एक प्रयास गांधीनगर में किया गया है.’

Gandhi Nagar Railway Station
गांधी नगर रेलवे स्टेशन का प्लेटफॉर्म

इस स्टेशन पर वर्तमान में तीन प्लेटफॉर्म हैं. बाद में दो और प्लेटफॉर्म बनाए जाएंगे. पीएम मोदी शुक्रवार को स्टेशन से दो नई ट्रेनों को भी हरी झंडी दिखाएंगे. इनमें से एक एक गांधीनगर राजधानी और वाराणसी के बीच चलेगी और दूसरी मेमू ट्रेन होगी.

E6v5rjmvkawz520
होटल का नजारा.

देश में ऐसा पहली बार है जब रेलवे स्टेशन को पांच सितारा होटल और कई सुविधाएं दी गई हैं. गांधीनगर रेलवे स्टेशन में आधुनिक सुविधाओं के साथ-साथ खूबसूरत लाइट्स भी लगाई गई हैं, जो इसकी सुंदरता को और बढ़ा रही हैं.

2
रेलवे स्टेशन से ही होटल में जाने का रास्ता है.

यहां आने वाले यात्रियों की सुविधा का ध्यान रखते हुए रेलवे स्टेशन से ही होटल में जाने का रास्ता बनाया गया है. साथ ही इलाज के लिए एक छोटा सा अस्पताल भी तैयार किया गया है.

3
होटल का नजारा.

टिकट विंडो के पास ही लिफ्ट और एस्कलेटर लगाए गएं हैं, जिनकी मदद से लोग आराम से होटल में एंट्री कर सकते हैं. प्रबंध निदेशक और भारतीय रेलवे स्टेशन विकास निगम के सीईओ, एसके लोहिया ने बताया कि स्टेशन में एक इंटरफेथ प्रार्थना हॉल भी है, जो किसी भी रेलवे स्टेशन में दी गई ऐसी पहली जगह है. इसके अलावा एलईडी वॉल डिस्प्ले लाउंज के साथ एक आर्ट गैलरी, एक बेबी फीडिंग रूम, एक सेंट्रलाइज्ड एसी वेटिंग हॉल, विशाल टिकट सुविधा के साथ डबल ऊंचाई वाली प्रवेश लॉबी भी है.

4
होटल और स्टेशन का बाहर का नजारा.

होटल की बिल्डिंग गांधी नगर की सबसे ऊंची इमारत है. इस बिल्डिंग से आप महात्मा मंदिर और विधानसभा को देख पाएंगे. होटल में 300 कमरे हैं. इस होटल को लीला ग्रुप के जरिए चलाया जाएगा. स्टेशन में एक सेंट्रलाइज्ड एसी मल्टीपरपज वेटिंग रूम है, जिसमें 40 लोगों के बैठने की क्षमता है. प्रदर्शनियों, सामाजिक कार्यक्रमों जैसे इवेंट की मेजबानी के लिए किराए पर जगह भी ली जा सकती है.


वीडियो- पीएम मोदी वाराणसी दौरे पर योगी सरकार को लेकर क्या बोल गए?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

टी-सीरीज़ वाले भूषण कुमार पर रेप का आरोप लगा, मुंबई में रिपोर्ट दर्ज

मुंबई के डीएन थाने में तीस साल की महिला ने रिपोर्ट दर्ज कराई.

अफगानिस्तान में भारतीय पत्रकार दानिश सिद्दीकी की हत्या, तालिबान ने किया था हमला

दानिश सिद्दीकी अपनी तस्वीरों के लिए फेमस थे, 2018 में Pulitzer अवार्ड भी मिला था.

MP के विदिशा में 30 से ज्यादा लोग कुएं में गिरे, 4 की मौत, 13 लापता, 19 बचाए गए

बच्चा कुएं में गिरा, तो बड़ी संख्या में ग्रामीण कुएं की छत पर चढ़ गए थे.

'नदिया के पार' जैसी बड़ी फ़िल्मों में काम कर चुकीं एक्ट्रेस सविता बजाज की हताशा, "मेरा गला घोंट दो"

इलाज के लिए पैसे नहीं हैं.

PM मोदी ने वाराणसी में जिस रुद्राक्ष कन्वेंशन सेंटर का उद्घाटन किया, वो है क्या?

योगी सरकार के लिए क्या बोले PM?

कांवड़ यात्रा पर सुप्रीम कोर्ट ने दिखाई सख्ती, लेकिन यूपी सरकार पीछे हटने को तैयार नहीं?

योगी सरकार में स्वास्थ्य मंत्री के बयान से तो कुछ ऐसा ही लग रहा.

पीएम मोदी के मंत्रिमंडल विस्तार में ऐसा क्या हुआ कि महाराष्ट्र बीजेपी में उथल-पुथल मच गई?

क्या पंकजा मुंडे की नाराजगी महाराष्ट्र बीजेपी को भारी पड़ेगी?

पंजाबी सिंगर मनमीत सिंह का शव बरामद हुआ, भारी बारिश के बाद बह गए थे

एक नाला पार करते वक्त गिर गए थे मनमीत सिंह.

कोंगु नाडु: मोदी कैबिनेट का विस्तार तमिलनाडु के विभाजन से जुड़े इस पुराने मुद्दे को कैसे हवा दे गया?

तमिल मीडिया के एक हिस्से में इसे लेकर काफी गर्मजोशी दिखाई जा रही है.

कोरोना की तीसरी लहर का सामना करने के लिए कितने तैयार हैं हम?

पीएम मोदी ने मुख्यमंत्रियों की बैठक में क्या बता दिया?