Submit your post

Follow Us

इंडिया में आतंकवाद बढ़ रहा है क्योंकि बाघ हमारा राष्ट्रीय पशु है: महंत

भारत सरकार और बाक़ी एजेंसियों को पता ना चला हो. लेकिन भारत में एक शख्स ऐसा है जिसे पता चल गया है कि आतंकवाद क्यों बढ़ रहा है. और उसने इस आतंकवाद से निपटने का रास्ता भी सुझा दिया है. आतंकवाद की वजह बताया गया है भारत का राष्ट्रीय पशु. ये खोज की है पेजावर मठ के स्वामी विश्वेश तृतीयथा ने.

# क्या है मामला?

पेजावर मठ के स्वामी विश्वेश तृतीयथा ने भारत में आतंकवाद बढ़ने की वजह राष्ट्रीय पशु बाघ को बताया है. कर्नाटक के उडुपी में इन्होंने कहा

‘बाघ और आतंकवादियों की विशेषता एक ही होती है. हमने बाघ को अपना राष्ट्रीय पशु मानकर ग़लती की. हमें गाय को राष्ट्रीय पशु मान लेना चाहिए.’

उडुपी में आयोजित संतों की मंडली ‘संत समागम’ में बाबा रामदेव भी मौजूद थे. रामदेव ने सभा को संबोधित करते हुए कहा कि मांसाहार की वजह से ही ग्लोबल वॉर्मिंग हो रही है. रामदेव ने गोहत्या पर रोक लगाने के लिए कड़े कानूनों की बात कही. इसी कार्यक्रम में अध्यक्षता कर रहे पलिमार मठ के सिद्धांत ने कहा कि अनुच्छेद 370 को हटाए जाने के बाद भारत का अगला कदम पीओके को वापस लाने का होना चाहिए.

# क्या मतलब है इसका?

इसका कुल मिलाकर मतलब यही है कि गाय को जैसे ही राष्ट्रीय पशु बनाया जाएगा आतंकवाद रुक जाएगा. महंत का कहना तो यूं ही है कि आतंकवाद के ख़िलाफ़ दुनिया भर को सारी लड़ाई ख़त्म कर देनी चाहिए. एक गाय सबका उपाय. लेकिन महंत जी को कौन समझाए कि दुनिया भर में फैले आतंकवाद से लड़ने के लिए पूरी दुनिया सारी जुगत भिड़ा रही है और फिर भी बात नहीं बन रही है. ऐसे में महंत का उपाय कितना कारगर होगा इसका सिर्फ़ अंदाज़ा ही लगाया जा सकता है.


ये भी देखें:

फीस बढ़ोतरी का विरोध कर रहे JNU के छात्रों का दिल्ली पुलिस पर जबरन पिटाई करने का आरोप

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

20 अप्रैल से कौन-कौन से लोग अपना काम-धंधा शुरू कर सकते हैं?

और खाने-पीने के सामान को लेकर सरकार ने क्या कहा?

लॉकडाउन के बीच ज़रूरी सामान भेजना है? बस एक कॉल पर हो जाएगा काम

रेलवे अधिकारियों ने शुरू की है 'सेतु' सर्विस.

सड़क पर मजदूरों संग खाना खाने वाले अर्थशास्त्री ने सरकार को कमाल का फॉर्मूला सुझाया है

कोरोना और लॉकडाउन ने मजदूर को कहीं का नहीं छोड़ा.

सरकार की नई गाइडलाइंस, जानिए किन इलाकों में, किन लोगों को लॉकडाउन से छूट

कोरोना से निपटने के लिए लॉकडाउन पहले ही बढ़ाया जा चुका है.

टेस्टिंग किट की बात पर राहुल गांधी ने भारत की तुलना किन देशों से की?

कहा, 'हम पूरे खेल में कहीं नहीं हैं.'

चीन से भारत के लिए चली टेस्टिंग किट की खेप अमरीका निकल गयी!

और अभी तक भारत में नहीं शुरू हो पाई मास टेस्टिंग.

कोरोना: मरीजों की खातिर बेड और लैब के लिए कितना तैयार है भारत, PM मोदी ने बताया

लॉकडाउन बढ़ाने के अलावा पीएम ने क्या-क्या कहा?

15 अप्रैल को लॉकडाउन-2 की जो गाइडलाइंस आनी हैं, उनमें क्या-क्या हो सकता है

पूरे देश में 3 मई तक लॉकडाउन बढ़ चुका है.

सुप्रीम कोर्ट ने बता दिया है कि किन लोगों का कोरोना वायरस टेस्ट फ्री में होगा

प्राइवेट लैब भी नहीं ले सकेंगे इनसे पैसा.

PM CARES Fund पर लगातार उठ रहे सवाल, अब हिसाब-किताब की होगी जांच

वकील ने PM Cares फंड को रद्द करने की मांग की है.