Submit your post

Follow Us

मोदी ऐसा बिल लेकर आए कि सोनिया गांधी इस अहम जगह से आउट हो गयीं!

संसद का शीतकालीन सत्र चल रहा है. सरकार कुल 39 बिल पेश करेगी. होगी उन्हें पास कराने की जुगत. आज यानी 19 नवम्बर को सरकार ने एक बिल पेश किया. Jallianwala Bagh National Memorial (Amendment) Bill, 2019. और राज्यसभा से ये बिल पास हो गया. पिछले सत्र में ये बिल लोकसभा से पास हो चुका था.

इस बिल के ज़रिये 1951 जालियांवाला बाग़ नेशनल मेमोरियल बिल में संशोधन किया जाना है. इस बिल के पास होने के बाद इस मेमोरियल के ट्रस्ट बोर्ड में कांग्रेस पार्टी के अध्यक्ष की जगह नहीं रह गयी है. इसके पहले मेमोरियल में कांग्रेस पार्टी के अध्यक्ष की एक स्थायी सीट होती थी. नए संशोधन में कहा गया है कि सदन में जब विपक्ष का कोई नेता नहीं होगा, तो सबसे बड़े विपक्षी दल के नेता को ट्रस्टी बनाया जाएगा.

एक चित्रकार की नज़र से जलियांवाला बाग़ हत्याकांड
एक चित्रकार की नज़र से जलियांवाला बाग़ हत्याकांड

संशोधन के बाद केंद्र सरकार किसी भी ट्रस्टी को कार्यकाल पूरा होने के पहले बर्ख़ास्त कर सकती है. वो भी बिना कोई कारण गिनाए.

इस बिल पर हुए संशोधन ने कांग्रेस पार्टी ने आपत्ति दर्ज की. कांग्रेस नेता प्रताप सिंह बाजवा ने कहा कि बिल के नाम पर राजनीति हो रही है. कांग्रेस पार्टी भारत के स्वतंत्रता आन्दोलन में रही है, और पार्टी के अध्यक्ष को ट्रस्टी के पद पर से हटाना आपत्तिजनक है. उन्होंने सरकार से कहा कि वो बिल को वापिस ले. साथ ही साथ उन्होंने भगत सिंह को भारत रत्न की उपाधि देने की मांग कर डाली.

जलियांवाला बाग़ स्मारक

इस पर संस्कृति मंत्री प्रहलाद पटेल ने कहा कि कांग्रेस पार्टी के अध्यक्ष को ट्रस्ट से हटाने की बात पर कांग्रेस पार्टी क्यों ऑब्जेक्ट कर रही है? उन्होंने कहा कि इस बिल में कोई राजनीति नहीं है. कांग्रेस के अलावा सीपीआई(एम) के सांसद केके राजेश ने भी बिल पर सवाल उठाए. कहा कि इस बिल को गलत मंशा के साथ लाया गया है.

बिल पर वोटिंग हुई तो कांग्रेस सदन से वाकआउट कर गयी. इसके बाद वॉयस वोट से वोटिंग हुई और राज्यसभा में बिल बहुमत से पास हो गया.


लल्लनटॉप वीडियो : राजधानी, दूरंतो, शताब्दी और बाकी ट्रेनों में खाना-पीना महंगा होने जा रहा है

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

3740 श्रमिक ट्रेनों में से 40 प्रतिशत ट्रेनें लेट रहीं, रेलवे ने बताई वजह

औसतन एक श्रमिक ट्रेन 8 घंटे लेट हुई.

कंटेनमेंट ज़ोन में लॉकडाउन 30 जून तक बढ़ाया गया, बाकी इलाकों में छूट की गाइडलाइंस जानें

गृह मंत्रालय ने कंटेनमेंट ज़ोन के बाहर चरणबद्ध छूट को लेकर गाइडलाइंस जारी की हैं.

मशहूर एस्ट्रोलॉजर बेजान दारूवाला नहीं रहे, कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी

बेटे ने कहा- निमोनिया और ऑक्सीजन की कमी से हुई मौत.

लॉकडाउन-5 को लेकर किस तरह के प्रपोज़ल सामने आ रहे हैं?

कई मीडिया रिपोर्ट में दावा किया गया है कि 31 मई के बाद लॉकडाउन बढ़ सकता है.

क्या जम्मू-कश्मीर में फिर से पुलवामा जैसा अटैक करने की तैयारी में थे आतंकी?

सिक्योरिटी फोर्स ने कैसे एक्शन लिया? कितना विस्फोटक मिला?

लद्दाख में भारत और चीन के बीच डोकलाम जैसे हालात हैं?

18 दिनों से भारत और चीन की फौज़ आमने-सामने हैं.

शादी और त्योहार से जुड़ी झारखंड की 5000 साल पुरानी इस चित्रकला को बड़ी पहचान मिली है

जानिए क्या खास है इस कला में.

जिस मंदिर के पास हजारों करोड़ रुपये हैं, उसके 50 प्रॉपर्टी बेचने के फैसले पर हंगामा क्यों हो गया

साल 2019 में इस मंदिर के 12 हजार करोड़ रुपये बैंकों में जमा थे.

पुलवामा हमले के लिए विस्फोटक कहां से और कैसे लाए गए, नई जानकारी सामने आई

पुलवामा हमला 14 फरवरी, 2019 को हुआ था.

दो महीने बाद शुरू हुई हवाई यात्रा, जानिए कैसा रहा पहले दिन का हाल?

दिल्ली में पहले दिन 80 से ज्यादा उड़ानें कैंसिल क्यों करनी पड़ी?