Submit your post

Follow Us

एक तो 'पानीपत' चल ही नहीं रही थी, अब 11 मिनट का ये सीन भी उड़ा दिया गया

आशुतोष गोवारिकर की फिल्म ‘पानीपत’ को लेकर एक और बुरी खबर आई है. फिल्म में राजा सूरजमल को गलत तरीके से दिखाए जाने के बाद इसे बैन करने की मांग की जा रही थी. इंटरनेट पर भी बायकॉट ‘पानीपत’ चल रहा था. अब खबर ये है कि फिल्म से राजा सूरजमल से संबंधित विवादास्पद सीन हटाया जा चुका है. इसकी वजह से फिल्म की लंबाई 11 मिनट कम हो गई है. रिपोर्ट्स के मुताबिक, फिल्म के प्रोड्यूसर विवादित हिस्से को हटा चुके हैं. और एडिटिंग के बाद फिल्म सेंसर बोर्ड के सामने रखी है. एडिट होने के बाद फिल्म को फिर से सेंसर बोर्ड से सर्टिफिकेट मिलेगा. और इसे रिलीज किया जाएगा.

फिल्म में क्या दिखाया गया?

फिल्म ‘पानीपत’ में एक सीन है, जहां मराठा योद्धा सदाशिवराव भाऊ, राजा सूरजमल से अफगानों (अब्दाली) को हराने के लिए मदद मांगते हैं. लेकिन इस मदद के बदले राजा सूरजमल आगरा का किला मांग लेते हैं. भाऊ वो किला देने से मना कर देते हैं. जिन वजहों से सदाशिवराव की सेना यानी मराठा सेना अब्दाली के खिलाफ युद्ध हार जाती है, उनमें से राजा सूरजमल के बैकआउट को भी एक अहम वजह बताया गया है.

22
फिल्म ‘पानीपत’ के एक सीन में अफगान सैनिकों के खिलाफ लड़ता अर्जुन का किरदार सदाशिवराव भाऊ.

कौन बने हैं राजा सूरजमल, जिनके रोल पर कैंची चल गई

‘पानीपत’ में राजा सूरजमल का रोल मनोज बख्शी ने किया है. मनोज उतने पॉपुलर एक्टर तो नहीं हैं कि लोग उन्हें नाम से जानते हों. लेकिन उन्होंने ‘मदारी’, ‘बधाई हो’ और ‘हैप्पी भाग जाएगी’ जैसी फिल्मों में काम किया है. सलमान खान की फिल्म ‘बजरंगी भाईजान’ में उन्होंने पाकिस्तान के पुलिस वाले का रोल किया है. और हालिया रिलीज हुई फिल्म ‘उजड़ा चमन’ में उन्होंने डॉक्टर का कैरेक्टर किया था, जो सनी सिंह के कैरेक्टर को पहले हेयर ट्रांसप्लान्ट, फिर नकली बालों का बिग लगाने की सलाह देता है.

Elgh Ihvaaafj4r
‘पानीपत’ में राजा सूजरमल के रोल में मनोज बख्शी.

क्या है पूरा मामला?

विवाद है कि राजस्थान और हरियाणा में लोगों का कहना है कि राजा सूरजमल के किरदार को गलत तरीके से पेश किया गया है. इसी के खिलाफ राजस्थान के कई इलाकों में रविवार (8 दिसंबर) से ही लोग सड़क पर उतरकर ‘पानीपत’ के खिलाफ विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं. इन स्थितियों के मद्देनज़र जयपुर एडमिनिस्ट्रेशन के अगले आदेश तक पर ‘राज मंदिर’, ‘सिनेपोलिस’ और ‘आईनॉक्स’ जैसे मल्टीप्लेक्स में इस फिल्म की स्क्रीनिंग रोक दी गई.

इसके अलावा एक मुद्दा और है, जिस पर लोग गरम हैं. लोगों का कहना है कि फिल्म में कई किरदार हरियाणवी और राजस्थानी में बात करते दिखाए गए हैं. जो कि गलत है क्योंकि उस दौर में लोग ब्रज भाषा में बात करते थे. इसे फैक्चुअल एरर मानते हुए राजस्थान के भरतपुर में भी फिल्म के खिलाफ प्रदर्शन किए गए. पहले ही फिल्म की कमाई उम्मीद के मुताबिक नहीं हो रही. ऊपर से फिल्म में इतनी सारी ‘गलतियों’ का निकल आना फिल्म के मेकर्स पर भारी पड़ता नज़र आ रहा है.

इन फैक्ट्स के चक्कर में कई लोकल नेताओं ने फिल्म पर बैन की मांग की. राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने अपने ट्वीट में लिखा कि सेंसर बोर्ड इस मामले पर ध्यान दे और जल्द से जल्द निपटे. वसुंधरा राजे और रणदीप हुड्डा ने भी फिल्म को लेकर सोशल मीडिया पर अपनी बात रखी.

22

मामला ज़्यादा बढ़ता और विरोध दंगों का रूप लेता उससे पहले ही मेकर्स ने समझदारी भरा फैसला लिया. जिसके बाद फिल्म 11 मिनट के एक कट के बाद लोगों को देखने को मिलेगी. वैसे भी हिंदी सिनेमा का इतिहास रहा है कि जब-जब इतिहास पर फिल्में बनी हैं, कॉन्ट्रोवर्सी होती रही हैं. आप ‘पद्मावत’ को हालिया उदाहरण के तौर पर ले सकते हैं.


Video : अक्षय कुमार के बारे में एक बात बोलकर ऋतिक रोशन ‘वाह वाही’ लूट रहे हैं

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

अब केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर ने लगवाया नारा, "देश के गद्दारों को, गोली मारो *लों को"

क्या केन्द्रीय मंत्री ऐसे बयान दे सकता है?

माओवादियों ने डराया तो गांववालों ने पत्थर और तीर चलाकर माओवादी को ही मार डाला

और बदले में जलाए गए गांववालों के घर

बंगले की दीवार लांघकर पी. चिदम्बरम को गिरफ्तार किया, अब राष्ट्रपति मेडल मिला

CBI के 28 अधिकारियों को राष्ट्रपति पुलिस मेडल दिया गया.

झारखंड के लोहरदगा में मार्च निकल रहा था, जबरदस्त बवाल हुआ, इसका CAA कनेक्शन भी है

एक महीने में दूसरी बार झारखंड में ऐसा बवाल हुआ है.

BJP नेता कैलाश विजयवर्गीय लोगों को पोहा खाते देख उनकी नागरिकता जान लेते हैं!

विजयवर्गीय ने कहा- देश में अवैध रूप से रह रहे लोग सुरक्षा के लिए बड़ा खतरा हैं.

CAA-NRC, अयोध्या और जम्मू-कश्मीर पर नेशन का मूड क्या है?

आज लोकसभा चुनाव हुए तो क्या होगा मोदी सरकार का हाल?

JNU हिंसा केस में दिल्ली पुलिस की बड़ी गड़बड़ी सामने आई है

RTI से सामने आई ये बात.

CAA पर सुप्रीम कोर्ट में लगी 140 से ज्यादा याचिकाओं पर बड़ा फैसला आ गया

असम में NRC पर अब अलग से बात होगी.

दिल्ली चुनाव में BJP से गठबंधन पर JDU प्रवक्ता ने CM नीतीश को पुरानी बातें याद दिला दीं

चिट्ठी लिखी, जो अब वायरल हो रही है.

CAA और कश्मीर पर बोलने वाले मलयेशियाई PM अब खुद को छोटा क्यों बता रहे हैं?

हाल में भारत और मलयेशिया के बीच रिश्तों में खटास बढ़ती गई है.