Submit your post

Follow Us

नेटफ्लिक्स पर आने वाली शाहरुख़ की 'बार्ड ऑफ़ ब्लड' में कश्मीर क्यूं खचेर रहा है पाकिस्तान?

107
शेयर्स

शाहरुख़ खान एक वेब-सीरीज ला रहे हैं. नाम है ‘बार्ड ऑफ़ ब्लड’. कुछ दिन पहले ही इसका ट्रेलर रिलीज हुआ है. इसके ट्रेलर के साथ ही शाहरुख़ खान ने एक ट्वीट किया. शाहरुख़ ने अपने ट्वीट में लिखा-

हमारी पहली नेटफ्लिक्स सीरीज ‘बार्ड ऑफ़ ब्लड’ का ट्रेलर आ गया है. ये जासूसी, प्रतिशोध, प्यार और ड्यूटी की कहानी है. 

बस इसी ट्वीट के बाद से ही पाकिस्तान भड़क गया. चूंकि ये वेब सीरीज पाकिस्तान में रॉ एजेंट्स की कहानी कहती है. इसलिए स्वाभाविक है कि इसमें भारतीय जासूसों की बहादुरी को दिखाया गया होगा. लेकिन ये भी उतना ही स्वाभाविक है कि पाकिस्तान की तरफ से इस पर प्रतिक्रिया आती. और आ भी गई. पाकिस्तान आर्मी के प्रवक्ता आसिफ गफूर ने एक ट्वीट करते हुए शाहरुख़ को ज्ञान देने का प्रयास किया है-

शाहरुख आप अपने बॉलीवुड सिंड्रोम में ही रहो. अगर हकीकत देखनी हो तो रॉ एजेंट कुलभूषण जाधव, विंग कमांडर अभिनंदन को देख लें और 27 फरवरी, 2019 को याद करें (वो दिन, जिस दिन अभिनंदन को पकड़ा था).

शाहरुख़ को सलाह देते हुए गफूर ने आगे लिखा-

इससे बढ़िया तो तुम जम्मू कश्मीर में हो रहे अत्याचारों के खिलाफ, हिंदुत्व के खिलाफ और नाज़ीवाद से ऑबसेस्ड आरएसएस के खिलाफ बोलकर शांति और मानवता को बढ़ावा देते. 

 

वो ज्ञान तो देने चले थे शाहरुख़ को. लेकिन मामला उल्टा उन पर ही पड़ गया है. सोशल मीडिया पर लोगों ने उन्हें ही आड़े हाथ ले लिया.

पाकिस्तान के एक पत्रकार तहा सिद्दीकी ने लिखा है-

हां! शाहरुख़ तुम्हारी हिम्मत कैसे हुई ऐसी सीरीज़ बनाने की? केवल पाकिस्तानियों को ही इस तरह की सब-स्टैण्डर्ड, हाइपर नेशनलिस्ट, प्रोपोगंडा फ़िल्में बनाने का हक़ है.

एक ट्वीट कहता है-

आईएसपीआर की तो अपनी ही एक सिनेमाई परंपरा रही है.

ऐसे ही कई अन्य ट्वीटस की बाढ़ आ गई-

बेवकूफ बनने का सबको अधिकार है. लेकिन तुम तो अपने प्रिविलेज का ही दुरूपयोग करने लगे.

अंकल प्लीज बैठ जाओ.

और पाकिस्तानी बॉलीवुड को फॉलो करने से खुद को नहीं रोक सकते, चाहे कुछ भी हो जाए.  

 

# क्या है बार्ड ऑफ़ ब्लड

‘बार्ड ऑफ़ ब्लड’ नेटफ्लिक्स पर आने वाली एक वेब सीरीज है. जिसे शाहरुख खान को-प्रोड्यूस कर रहे हैं. इसके लीड रोल में हैं इमरान हाशमी. इमरान हाशमी इसमें कबीर आनंद उर्फ अडोनिस बने हैं जोकि एक कॉलेज में शेक्सपीयर के बारे में पढ़ाता है. इससे पहले अडोनिस बलूचिस्तान में एक जासूस हुआ करता था. लेकिन एक मिशन में हुई गड़बड़ी के कारण उसे रॉ एजेंसी से निकाल दिया गया था. लेकिन हुआ ऐसा कि चार भारतीय एजेंटों को बलूचिस्तान में आतंकवादियों ने पकड़ लिया है. उन्हें सही सलामत बचाने के लिए अडोनिस को रॉ ने दोबारा से बुला लिया है. बाकी सब कहानी है. जोश की, जुनून की, देशभक्ति की. बार्ड ऑफ़ ब्लड बिलाल सिद्दीकी द्वारा 2015 में लिखे गए इसी नाम के नाम के नॉवेल पर आधारित है. इसे डायरेक्ट कर रहे हैं रिभु दासगुप्ता.

पूरा ट्रेलर आप यहां देख लीजिए-


ये स्टोरी हमारे यहां इंटर्नशिप कर रहे श्याम ने की है.


Bard of Blood Trailer: जब इंडिया के चार जासूसों को Terrorists ने कैद किया तो क्या हुआ

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

क्या चल रहा है?

इंडियन फास्ट बोलर्स के ये आंकड़े देखेंगे, तो गर्व से छाती चौड़ी हो जाएगी

इस साल पूरी दुनिया में बेस्ट हैं हमारे तेज गेंदबाज, कोई नहीं है आगे.

दो महिला सांसदों का आरोपः भरी संसद में मार्शल्स ने धक्का दिया

ये सब तब हुआ जब स्पीकर ने मार्शल्स से कहा कि हंगामा कर रहे सांसदों को बाहर निकाल दें.

संजय राउत ने नया पटाखा छोड़ा, बीजेपी-अजित पवार की सीक्रेट डील के बारे में बताया

और तो और अजित पवार-बीजेपी गठबंधन को डकैत तक कह दिया.

अजित पवार की नाक के नीचे से 2 और विधायक उड़ा ले गया NCP यूथ ब्रिगेड

अब एनसीपी के 54 में से 52 विधायक शरद पवार के साथ.

अजित पवार पहले भी सिग्नल दे रहे थे, शरद पवार ने अनदेखा कर बड़ी गलती की

17 नवंबर को ही अजित ने अपने इरादे साफ़ कर दिए थे.

गोविंदा-जैकी ने तेल के विज्ञापन में झूठ बोला था, अब एक आम आदमी ने खटिया खड़ी कर दी है

हजारों का जुर्माना भरेंगे दोनों स्टार्स.

20 दिन तक बच्ची स्कूल नहीं आई, स्कूल ने घर फ़ोन किया तो भावुक कर देने वाली कहानी पता चली

किसी बच्ची के ऊपर ऐसा बोझ न आए.

विराट कोहली ने सौरव गांगुली की तारीफ़ की तो गावस्कर को भयानक गुस्सा आ गया

कोहली ने कहा था कि गांगुली ने टीम को विदेशों में जीतना सिखाया था.

अयोध्या की गायों को ये क्या पहनाने की तैयारी चल रही है?

और क्यों?

क्या आपने टीम इंडिया के खिलाफ मैदान पर बांग्लादेशी वायुसेना के सदस्य को देखा?

बांग्लादेशी वायुसेना के सदस्य ने विराट,रोहित,पुजारा को किया परेशान.