Submit your post

Follow Us

नेटफ्लिक्स पर आने वाली शाहरुख़ की 'बार्ड ऑफ़ ब्लड' में कश्मीर क्यूं खचेर रहा है पाकिस्तान?

106
शेयर्स

शाहरुख़ खान एक वेब-सीरीज ला रहे हैं. नाम है ‘बार्ड ऑफ़ ब्लड’. कुछ दिन पहले ही इसका ट्रेलर रिलीज हुआ है. इसके ट्रेलर के साथ ही शाहरुख़ खान ने एक ट्वीट किया. शाहरुख़ ने अपने ट्वीट में लिखा-

हमारी पहली नेटफ्लिक्स सीरीज ‘बार्ड ऑफ़ ब्लड’ का ट्रेलर आ गया है. ये जासूसी, प्रतिशोध, प्यार और ड्यूटी की कहानी है. 

बस इसी ट्वीट के बाद से ही पाकिस्तान भड़क गया. चूंकि ये वेब सीरीज पाकिस्तान में रॉ एजेंट्स की कहानी कहती है. इसलिए स्वाभाविक है कि इसमें भारतीय जासूसों की बहादुरी को दिखाया गया होगा. लेकिन ये भी उतना ही स्वाभाविक है कि पाकिस्तान की तरफ से इस पर प्रतिक्रिया आती. और आ भी गई. पाकिस्तान आर्मी के प्रवक्ता आसिफ गफूर ने एक ट्वीट करते हुए शाहरुख़ को ज्ञान देने का प्रयास किया है-

शाहरुख आप अपने बॉलीवुड सिंड्रोम में ही रहो. अगर हकीकत देखनी हो तो रॉ एजेंट कुलभूषण जाधव, विंग कमांडर अभिनंदन को देख लें और 27 फरवरी, 2019 को याद करें (वो दिन, जिस दिन अभिनंदन को पकड़ा था).

शाहरुख़ को सलाह देते हुए गफूर ने आगे लिखा-

इससे बढ़िया तो तुम जम्मू कश्मीर में हो रहे अत्याचारों के खिलाफ, हिंदुत्व के खिलाफ और नाज़ीवाद से ऑबसेस्ड आरएसएस के खिलाफ बोलकर शांति और मानवता को बढ़ावा देते. 

 

वो ज्ञान तो देने चले थे शाहरुख़ को. लेकिन मामला उल्टा उन पर ही पड़ गया है. सोशल मीडिया पर लोगों ने उन्हें ही आड़े हाथ ले लिया.

पाकिस्तान के एक पत्रकार तहा सिद्दीकी ने लिखा है-

हां! शाहरुख़ तुम्हारी हिम्मत कैसे हुई ऐसी सीरीज़ बनाने की? केवल पाकिस्तानियों को ही इस तरह की सब-स्टैण्डर्ड, हाइपर नेशनलिस्ट, प्रोपोगंडा फ़िल्में बनाने का हक़ है.

एक ट्वीट कहता है-

आईएसपीआर की तो अपनी ही एक सिनेमाई परंपरा रही है.

ऐसे ही कई अन्य ट्वीटस की बाढ़ आ गई-

बेवकूफ बनने का सबको अधिकार है. लेकिन तुम तो अपने प्रिविलेज का ही दुरूपयोग करने लगे.

अंकल प्लीज बैठ जाओ.

और पाकिस्तानी बॉलीवुड को फॉलो करने से खुद को नहीं रोक सकते, चाहे कुछ भी हो जाए.  

 

# क्या है बार्ड ऑफ़ ब्लड

‘बार्ड ऑफ़ ब्लड’ नेटफ्लिक्स पर आने वाली एक वेब सीरीज है. जिसे शाहरुख खान को-प्रोड्यूस कर रहे हैं. इसके लीड रोल में हैं इमरान हाशमी. इमरान हाशमी इसमें कबीर आनंद उर्फ अडोनिस बने हैं जोकि एक कॉलेज में शेक्सपीयर के बारे में पढ़ाता है. इससे पहले अडोनिस बलूचिस्तान में एक जासूस हुआ करता था. लेकिन एक मिशन में हुई गड़बड़ी के कारण उसे रॉ एजेंसी से निकाल दिया गया था. लेकिन हुआ ऐसा कि चार भारतीय एजेंटों को बलूचिस्तान में आतंकवादियों ने पकड़ लिया है. उन्हें सही सलामत बचाने के लिए अडोनिस को रॉ ने दोबारा से बुला लिया है. बाकी सब कहानी है. जोश की, जुनून की, देशभक्ति की. बार्ड ऑफ़ ब्लड बिलाल सिद्दीकी द्वारा 2015 में लिखे गए इसी नाम के नाम के नॉवेल पर आधारित है. इसे डायरेक्ट कर रहे हैं रिभु दासगुप्ता.

पूरा ट्रेलर आप यहां देख लीजिए-


ये स्टोरी हमारे यहां इंटर्नशिप कर रहे श्याम ने की है.


Bard of Blood Trailer: जब इंडिया के चार जासूसों को Terrorists ने कैद किया तो क्या हुआ

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

क्या चल रहा है?

हीरो के चेयरमैन ने कहा, 'देखा है पहली बार! 55 सालों में इतना बुरा हाल'

मंदी पर ये बात बहुत लगने वाली है.

भारी ट्रैफिक चालान से बचने के लिए पुलिस की चालान बुक छीनकर भागे!

आखिर ऐसा कौन-सा ट्रैफिक नियम तोड़ा था, जो इतना डर?

आवारा कुत्ते को मिट्टी खोदते हुए मिला इंसान का कटा हुआ हाथ, पुलिस ने तफ्तीश की तो खुले राज़

सरकारी नौकरी पाने और भाभी के प्यार के लिए किस हद तक गया!

अमित शाह की ये बात सुनकर आप रोकर कहेंगे, 'बड़ा संत आदमी है भाई!'

मंदी पर ऐसा बयान कि बस.

एम्बुलेंस नहीं पहुंच सकती थी, 5 km मरीज को कंधे पर टांगकर ले गए सरकारी डॉक्टर

इसके बाद डॉक्टर ने दिल जीत लेने वाली बात कही.

रेप के आरोपी को सज़ा मिली तो उसने जज के सामने खुद का गला काट लिया

आरोपी कोर्ट में चाकू ला सका, इस बात पर सवाल उठ रहे हैं.

'KBC के लकी ड्रॉ में जीत गए हैं 25 लाख', ऐसा बताने वाले फोन कॉल्स से बचकर रहें!

एक मासूम को 3 लाख रुपये का नुकसान हो गया.

'साय रा नरसिम्हा रेड्डी' फिल्म को टीवी पर दिखाने के लिए Zee ने दिए बहुत सारे करोड़ रुपये!

अमिताभ बच्चन, अनुष्का शेट्टी और चिरंजीवी की ये फिल्म भी काफी महंगी है.

भौकाल टाइट करने के लिए गैंगस्टर्स ने पिस्तौल के आकार का केक पिस्तौल से काटा, फिर बहुत बुरा हुआ

वीडियो वायरल होना इनको काफी महंगा पड़ा.

AK 47 चलवाकर थाने से भागा पपला गुर्जर, सोशल मीडिया पर पुलिस को ख़ूब चिढ़ा रहा है

12 दिन बाद भी राजस्थान पुलिस पपला को नहीं पकड़ पाई है.