Submit your post

Follow Us

पाकिस्तान के मंत्री बोले मसूद अजहर हमारे यहां ही है लेकिन बहुत बीमार है

2.04 K
शेयर्स

जैश-ए-मोहम्मद के सरगना मसूद अजहर का पता चल गया है. उम्मीद मुताबिक वो पाकिस्तान में ही है. पता बताने वाला कोई और नहीं पाकिस्तानी विदेश मंत्री हैं. पाक विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने सीएनएन के साथ एक इंटरव्यू में माना कि आतंक का सरगना मसूद अजहर पाकिस्तान में है.

मसूद अजहर जैश-ए-मोहम्मद का मुखिया है
मसूद अजहर जैश-ए-मोहम्मद का मुखिया है

पाकिस्तान ने हमेशा से हाफिज़ सईद और मसूद अजहर को आतंकी मानने से इनकार किया है. इस बार भी आतंकी तो नहीं माना लेकिन कुरैशी अंतरराष्ट्रीय मीडिया के सवाल को टाल नहीं पाए. ना ही आतंकी ना होने का कुतर्क पेश किया  .लेकिन पाकिस्तानी हुक्मरान इतने सीधे नहीं हैं. यहां अजहर का बचाव करना नहीं भूले. ना जाने कहां से एक बहाना खोज लाए. बहाना वही जो बच्चा स्कूल मिस करने के बाद अगले रोज़ क्लास टीचर को देता है. बीमारी वाला. बकौल कुरैशी, मसूद अजहर बहुत बीमार है. बीमारी का आलम ये कि वो घर से निकल तक नहीं सकता.

पत्रकार ने मसूद अजहर पर कार्रवाई करने को लेकर सवाल पूछा. तो कुरैशी ने कुछ भी ठोस कदम उठाने का जिक्र नहीं किया. पत्रकार ने पलट कर दोबारा पूछा कि आप उसे गिरफ्तार क्यों नहीं करते? चाहे वो बीमार है चाहे नहीं. तो कुरैशी का कहना था कि अगर भारत ऐसे ठोस सबूत दे जो पाकिस्तानी कोर्ट में साबित हो सकें, तो पाकिस्तान जरूर कार्रवाई करेगा.

हालांकि, भारत पहले ही डोज़ियर सौंप चुका है. सारे सबूत दे चुका है. उस डोज़ियर पर कुरैशी ने कुछ भी नहीं कहा.
कुरैशी ने इंटरव्यू में फिर नए पाकिस्तान का नारा दोहराया. कहा ये नया पाकिस्तान है. हम पूरे इलाके में शांति चाहते हैं. हम नहीं चाहते कि कोई भी हमारी ज़मीन का इस्तेमाल करे किसी के भी खिलाफ करे. मसूद के खिलाफ कार्रवाई करने की बात मज़बूती से कहने की बजाए कुरैशी ने इससे बचना बेहतर समझा.

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें
Pakistani Foreign Minister admits that Masood Azhar is in Pakistan

क्या चल रहा है?

‘मैं फ़ोटो कॉपी करवाने निकली थी, क्या पता था दो महीनों तक रेप होता रहेगा’

दो बहनों को दो महीनों तक बंधक बनाकर रखा, एक लड़की भाग निकली तो पता चली कहानी.

जिस बेन स्टोक्स ने इंग्लैंड को फाइनल जिताया उनके पिता न्यूज़ीलैंड को सपोर्ट कर रहे थे

बेन स्टोक्स को फाइनल मैच में 'मैन ऑफ द मैच' चुना गया था.

मुंबई में 100 साल पुरानी बिल्डिंग गिरी, 40 से ज्यादा लोग दबे

डोंगरी इलाके में हैं पतली गलियां, बचाने में आ रही है दिक्कत.

आईसीसी ने बेन स्टोक्स को सचिन तेंडुलकर से बेहतर बताया

हरभजन सिंह गुस्सा हो गए.

अमिताभ बच्चन ने परफेक्ट यॉर्कर डालकर ICC को क्लीन बोल्ड कर दिया

बात तो हम सबके मन की ही कही है, लेकिन अंदाज़ मोहब्बतें के हेडमास्टर वाला है.

1983 वर्ल्ड कप जीतने के बाद टीम को कितने पैसे मिलते थे, इसका 'ऐतिहासिक दस्तावेज़' देखिए

रवि शास्त्री इस कागज़ को फ्रेम करवाकर रखेंगे.

क्या विराट कोहली को छोड़नी होगी वन-डे की कप्तानी?

रोहित शर्मा हो सकते हैं वन-डे के कैप्टन, बीसीसीआई कर सकता है विचार

'सुपर 30' से ऋतिक ने लंबी छलांग तो लगाई लेकिन अपनी ही फिल्म को पीछे नहीं कर पाए

'सुपर 30' के साथ सिनेमाघरों में 'आर्टिकल 15', 'कबीर सिंह' और 'स्पाइडर मैन: फार फ्रॉम होम' भी लगी हुई हैं.

हार-जीत लगी रहती है, लेकिन न्यूजीलैंड के इस खिलाड़ी को ऐसा ट्वीट नहीं करना चाहिए था

लगता है कि न्यूजीलैंड की हार से सबसे ज्यादा दुखी यही हैं.

काश स्टोक्स के उस कैच को पकड़ने की जगह ट्रेंट बोल्ट गेंद आगे फेंक देते!

वो कैच लपककर बाउंड्री छूने की ग़लती ने न्यूज़ीलैंड की नैया डुबो दी.