Submit your post

Follow Us

MP अजब है! यहां कागज़ों में ही बन गए 4.5 लाख टॉयलेट

मध्यप्रदेश में सरकारी टॉयलेट बनाने के मामले में बड़ी गड़बड़ी सामने आई है. प्रदेश में कुल 4.5 लाख टॉयलेट बनाए जाने थे. कुल कीमत थी- 540 करोड़ रुपए. लेकिन अब पता चला है कि ये टॉयलेट कभी बने ही नहीं. सब मामला हवा-हवाई है.

खास बात ये है कि पैसा पास हो गया. ये भी बता दिया गया कि टॉयलेट बन गए हैं. घपला करने वालों ने तो जियो-मैपिंग में गड़बड़ी कर अलग-अलग जगहों पर बने हुए टॉयलेट्स दिखा भी दिए.

कुछ दिन पहले ही जब बैतूल की लक्कड़जाम पंचायत ने इस मामले में शिकायत की, तब जाकर मामला खुला. अधिकारियों तक मामला पहुंचा. पूछताछ कराई गई. शुरुआती जांच में ही पता चला कि स्वच्छ भारत योजना के तहत लाभ पाने वाले चार लोग तो ऐसे थे, जिन्हें पता ही नहीं था कि उनके नाम पर टॉयलेट्स बनवाने का पैसा भी पास हो चुका है.

और जांच कराई गई तो पता चला कि ये टॉयलेट्स तो 2012 से 2018 के बीच ही बन जाने थे. कागजी तौर पर तो बने भी, लेकिन असलियत में नहीं बने. पैसा पास कराने के लिए जो फोटो लगाए गए थे, वो असल में कहीं और बने टॉयलेट्स के थे.

स्वच्छ भारत मिशन (ग्रामीण) मध्यप्रदेश के डिप्टी डायरेक्टर अजीत तिवारी ने बताया, “2012 में हमने एक सर्वे कराया था. उसमें पता चला था कि प्रदेश में गरीबी रेखा से ऊपर जीने वाले 62 लाख परिवार ऐसे थे, जिनके घर में टॉयलेट था ही नहीं. फिर हमने ये शौचालय बनवाने का काम शुरू कराया. 21 हजार वॉलंटियर की मदद से सर्वे कराया तो 4.5 लाख शौचालय मिसिंग निकले.”


मोदी के स्वच्छ भारत अभियान से लेकर एमएनएस की राजनीति तक क्या बोले रूईया कॉलेज मुंबई के छात्र?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

क्या चल रहा है?

शाहीन बाग में CAA के खिलाफ दो महीने से जारी प्रोटेस्ट पर सुप्रीम कोर्ट ने क्या कहा?

चार महीने के बच्चे की मौत पर भी सवाल पूछा.

CAA प्रोटेस्टः जामिया की छात्राओं का आरोप- पुलिस ने प्राइवेट पार्ट पर डंडों से मारा

डॉक्टरों का कहना है कि 10 छात्राओं की हालत नाज़ुक है.

14 साल बाद BJP में लौटेंगे बाबूलाल मरांडी, जानिये क्यों छोड़ी थी पार्टी?

मरांडी की पार्टी JVM के प्रदर्शन का ग्राफ लगातार नीचे गिरा है.

SC/ST एक्ट : सुप्रीम कोर्ट ने सरकार के फैसले पर मुहर लगा दी है

इस केस में नहीं मिलेगी अग्रिम जमानत.

चुनाव आयोग ने वोटिंग प्रतिशत बताने में 24 घंटे क्यों लगा दिए?

पहले AAP ने सवाल उठाते हुए प्रेस कॉन्फ्रेंस की. इसके बाद चुनाव आयोग की प्रेस कॉन्फ्रेंस हुई.

डायरेक्टर की विचारधारा से सहमत नहीं हूं, मगर 'थप्पड़' फिल्म ज़रूर देखिए: स्मृति ईरानी

इन्स्टाग्राम पर स्मृति के इस पोस्ट की खूब चर्चा हो रही है.

पुलिस ने बताया, उमर अब्दुल्ला और महबूबा मुफ्ती पर क्यों लगाया PSA

कई कारण तो ऐसे हैं, जिन्हें जानकर आप माथा पीट लेंगे!

भारत में पहली बार किसी डॉगी के दिल में लगाया गया पेसमेकर

और अब पेसमेकर लगवाकर 'ख़ुशी' वाक़ई ख़ुश है.

U19 वर्ल्ड कप फाइनल: जब अंपायर सोच में पड़ गए कि आउट किसे देना है

तीनों अंपायरों ने फैसला सुनाने में बहुत वक्त लिया.

U19 वर्ल्ड कप हारने के बाद कप्तान प्रियम ने क्या कहा?

33 अतिरिक्त रन दिए जाने और मैच के बाद जो हुआ, प्रियम ने उसको लेकर भी अपनी बात रखी.