Submit your post

Follow Us

JNU के सुरक्षा गार्ड ने बताया, हिंसा करने वाली भीड़ कैंपस में कैसे घुसी?

जवाहरलाल नेहरू यूनिवर्सिटी. जेएनयू में रविवार पांच जनवरी को हिंसा हुई. इस मामले में पुलिस अब तक किसी की भी गिरफ्तारी नहीं कर पाई है. इसी बीच इंडिया टुडे की स्पेशल इन्वेस्टिगेटिव टीम (SIT) ने अपनी तफ्तीश में संभावित हमलावरों की पहचान की है. हमलावरों ने खुद ही यह माना है कि उन्होंने वामपंथी रुझान वाले छात्रों पर बाहरी छात्रों की मदद से हमले की योजना बनाई थी. हमलावरों का साथ देने के लिए बाहर से आने वाले छात्र दक्षिणपंथी रुझान के हैं.

इंडिया टुडे की इंवेस्टिगेशन में ये भी पता चला कि हिंसा से एक दिन पहले चार जनवरी को जेएनयू का सर्वर किसने ठप किया था. इंडिया टुडे के अंडरकवर पत्रकारों से जेएनयूएसयू के पूर्व अध्यक्ष और लेफ्ट AISA की कार्यकर्ता गीता कुमारी ने कहा कि वो उस भीड़ का हिस्सा थीं जो 4 जनवरी को सर्वर रूम के बाहर दिखी थीं. गीता ने माना कि जेएनयू के सर्वर को ठप करने में वो भी शामिल थीं.

हालांकि सबसे बड़ा सवाल है कि मास्क पहनकर हिंसा करने वाली भीड़ जेएनयू के अंदर कैसे घुसी. इसका जवाब जेएनयू कैंपस के सिक्योरिटी गार्ड ने दिया.

जेएनयू कैंपस में तैनात सिक्योरिटी गार्ड GV थापा तीन महीने से वहां तैनात हैं. हिंसा वाले दिन सरस्वतीपुरम गेट पर तैनात थे. उनका काम है कि जेएनयू में घुसने वालों का आईकार्ड चेक करें. लेकिन पांच जनवरी को जो हुआ उसके बारे में GV थापा ने बताया,
10 से 15 लड़कों ने उन्हें धमकाया. और शाम सात बजे के करीब में जबरदस्ती कैंपस में घुस गए.

उन्होंने कैमरे पर कहा,
‘मैं अकेला था. लड़कों ने कहा कि तू भी मार खाना चाहता है. तू मरना चाहता है. पता है क्या हो रहा है यहां?  इसके बाद जबरदस्ती घुस गए. दरवाजा भी तोड़ दिया.’

सिक्योरिटी गार्ड ने बताया कि मौके पर पुलिस मौजूद नहीं थी. जब उसने पुलिस को कॉल किया तो पुलिस आई लेकिन तुरंत चली गई. पुलिस वालों ने कहा कि हमारी ड्यूटी नहीं है, सीनियर को बताओ.

गार्ड के खुलासे के बाद पुलिस पर भी सवाल उठ रहे हैं.

सेकेंड ईयर एमसीएम स्टूडेंट जो चंद्रभागा हॉस्टल में रहती हैं उन्होंने बताया, 5 जनवरी को साढ़े सात बजे के आसपास कुछ लोग लाठी लेकर कैंपस में घुसे. मेनगेट पर सिक्युरिटी गार्ड और पुलिस तैनात थी, लेकिन वो किसी को अंदर नहीं आने दे रहे थे. फिर हम लोग यहां तक आए. 10-15 लड़के लाठी लेकर घुसे और गार्ड से बोला कि जिंदा रहना है तो दरवाजा खोल दे. इसके बाद धमका के वो अंदर घुस गए. फिर हम दूसरे गेट से अंदर घुसे. जिस तरीके से वो एंट्री कर रहे थे वो बाहर के ही लगे. हालांकि जब वे अंदर घुसे तो उन्होंने मास्क नहीं पहना था.


JNU हिंसा के बाद छात्रों ने वीसी जगदीश कुमार को हटाने की मांग को लेकर मार्च किया

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

एंटी-CAA प्रोटेस्ट को उकसाने के आरोप में कपल गिरफ्तार, पुलिस ने कहा- ISIS से लिंक हो सकता है

दिल्ली के शाहीन बाग में 15 दिसंबर से प्रोटेस्ट चल रहा है.

सबसे ज्यादा रणजी मैच और सबसे ज्यादा रन, इस खिलाड़ी ने 24 साल बाद लिया संन्यास

42 की उम्र तक खेलते रहे, अब बल्ला टांगा.

लखनऊ में CAA विरोधी प्रदर्शन के दौरान 'तोड़फोड़ करने वाले' 57 लोगों के होर्डिंग लगाए

होर्डिंग पर पूर्व IPS एसआर दारापुरी और कांग्रेस कार्यकर्ता सदफ ज़फर जैसे लोगों का नाम.

दिल्ली दंगे के 'हिन्दू पीड़ितों' की मदद के लिए कपिल मिश्रा ने जुटाये 71 लाख, खुद एक पईसा नहीं दिया

अब भी कह रहे हैं, 'आप धर्म को बचाइये, धर्म आपको बचायेगा'

कांग्रेस सांसद का आरोप : अमित शाह का इस्तीफा मांगा, तो संसद में मुझ पर हमला कर दिया गया

कांग्रेस सांसद ने कहा, 'मैं दलित महिला हूं, इसलिए?'

निर्भया केस: चार दोषियों की फांसी से एक दिन पहले कोर्ट ने क्या कहा?

राष्ट्रपति ने पवन गुप्ता की दया याचिका खारिज कर दी है.

कश्मीर : हथियारों के फर्जी लाइसेंस बनवाने वाला IAS अधिकारी कैसे धरा गया?

हर लाइसेंस पर 8-10 लाख रूपए लेता था!

गृहमंत्री अमित शाह की रैली में आई भीड़ ने लगाया देश के गद्दारों को गोली मारो... का नारा!

ये नारा डरावना है, उससे भी डरावना है इसका गृहमंत्री की रैली में लगाया जाना.

दिल्ली के बाद मेघालय में भी हिंसा भड़की, दो की मौत, कई जिलों में इंटरनेट बंद

मामला CAA प्रोटेस्ट से जुड़ा है.

एक्टिंग छोड़ बीजेपी जॉइन की थी, अब कपिल मिश्रा और अनुराग ठाकुर की वजह से पार्टी छोड़ दी

बीजेपी नेता ने अपनी पार्टी के नेताओं पर बड़ा बयान दिया है.