Submit your post

Follow Us

70 साल की बेटी अपनी मां को खाट पर घसीटकर बैंक ले जाने पर मजबूर क्यों हुई?

ओडिशा का नौपाड़ा ज़िला. यहां पर बरागन नाम का गांव है. यहीं पर लाभे बघेल नाम की महिला रहती हैं. सरकार से उन्हें पेंशन मिलती है, जिससे गुज़ारा होता है. लाभे बघेल ने अपने इसी खाते से पैसे निकालने के लिए अपनी बेटी गुंजा देई को बैंक भेजा. आरोप है कि बैंक की तरफ से ये कहा गया कि खाताधारक की मौजूदगी के बिना पैसे नहीं दिए जाएंगे. अंत में गुंजा अपनी मां को खाट पर लिटाकर खींचती हुई बैंक आईं.

क्या है पूरा मामला

गुंजा देई अपनी मां लाभे बघेल की पेंशन वाली पासबुक लेकर 9 जून के रोज़ उत्कल ग्रामीण बैंक की शाखा गईं. उन्हें खाते से 1500 रुपए निकालने थे. बकौल गुंजा देई, बैंक मैनेजर ने उनसे कहा कि खाताधारक को लाइए, तब पैसे दिए जा सकेंगे. ‘आज तक’ से जुड़े मोहम्मद सूफियान के अनुसार, खाताधारक 100 साल से ऊपर की हैं. चल नहीं सकतीं. तो 10 जून को 70 साल की बेटी उन्हें एक खटिया पर गांव की सड़कों पर घसीटती हुई बैंक पहुंचीं. खाताधारक की पहचान साबित हो गई, तो पेंशन भी दे दी गई.

Ob1
गुंजा देई की वीडियो वायरल होने के बाद लोगों ने बैंक को आड़े हाथों लिया. (तस्वीर: मोहम्मद सूफियान/इंडिया टुडे)

प्रशासन का क्या कहना है?

मामला वायरल तब हुआ, जब गुंजा का वीडियो सोशल मीडिया पर चलना शुरू हुआ, जिसमें वो अपनी मां को खाट पर लिए बैंक जा रही हैं. इस मामले में प्रशासन ने भी अपना पक्ष रखा है. अंग्रेज़ी अखबार ‘हिंदुस्तान टाइम्स’ में नौपाड़ा कलेक्टर मधुस्मिता साहू का बयान छपा है. साहू ने कहा कि बैंक मैंनेजर ने लाभे बघेल को बैंक नहीं बुलाया था. बैंक एक ही कर्मचारी के भरोसे है, तो मैनेजर 9 जून को खाताधारक के यहां नहीं जा सके. उन्होंने अगले दिन आने का आश्वासन दिया था. 10 जून को वो महिला के घर पहुंचते, उससे पहले गुंजा देई अपनी मां को लेकर बैंक पहुंच गईं.

भुवनेश्वर म्युनिसिपल कॉर्पोरेशन (BMC) के कमिश्नर प्रेमचंद चौधरी ने कहा कि 60 साल से ऊपर के लोगों के कोरोना वायरस से संक्रमित होने की आशंका ज्यादा है. कमिश्नर ने सभी सरकारी, प्राइवेट और शेड्यूल्ड बैंकों के रिजनल मैनेजरों को चिट्ठी लिखकर निर्देश दिए हैं कि वरिष्ठ नागरिकों को उनके घर जाकर ही सर्विसेज दी जाएं.


वीडियो: सुशांत सिंह राजपूत ने आखिरी इंस्टाग्राम पोस्ट में अपनी मां के लिए क्या लिखा था?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

मुंबई में सुशांत सिंह राजपूत को दी गई अंतिम विदाई, ये हस्तियां हुईं शामिल

मुंबई में तेज बारिश के बीच अंतिम संस्कार.

सुशांत ने किस दोस्त को आख़िरी कॉल किया था?

दोस्त फोन रिसीव न कर सका. जब तक कॉल बैक किया, देर हो चुकी थी.

सुशांत के साथ काम कर चुके मनोज बाजपेयी, राजकुमार राव और अनुष्का शर्मा ने क्या कहा?

सुशांत ने 11 फिल्मों में काम किया था.

सुशांत के सुसाइड से जुड़ी शुरुआती डिटेल्स आ गई हैं, सुबह 10 बजे तक सब ठीक था

किसे कॉल किया था? घर में कितने लोग थे? वगैरह.

कभी फिल्मी सितारों के पीछे नाचते थे सुशांत, फिर एकता कपूर ने कहा- मैं तुझे स्टार बनाऊंगी

सुशांत सिंह राजपूत ने फिल्मों से पहले छोटे पर्दे पर काम किया था.

मुम्बई से लेकर सुशांत के पटना वाले घर तक हर तरफ भयानक सदमा है

सुशांत के पिता पटना में रहते हैं. सदमे में चले गए हैं.

13 जून की रात सुशांत के दोस्त उनके साथ उनके घर पर रुके थे

14 जून की सुबह जब कई बार बुलाने पर भी दरवाज़ा नहीं खुला, तो शक हुआ.

सुशांत सिंह राजपूत की आत्महत्या पर पीएम मोदी समेत राजनीति से जुड़े लोग क्या बोले?

कम उम्र में सुसाइड को लेकर तमाम लोग चौंक रहे हैं.

सुशांत सिंह राजपूत ने अपने घर में फांसी लगाकर आत्महत्या की

हाल ही में उनकी पूर्व मैनेजर दिशा सालियान ने भी सुसाइड किया था.

कोरोना टेस्टिंग पर यूपी सरकार को घेरने वाले पूर्व IAS की पूरी कहानी जानिए!

सूर्यप्रताप सिंह, जिन पर FIR दर्ज हुई.