Submit your post

Follow Us

बाय गॉड की क़सम फ़र्स्ट टाइम इंडियन रेलवे ने दिल गार्डन-गार्डन कर दिया है

639
शेयर्स

एक क्लासिक फ़िल्म है. गुरुदत्त की प्यासा. उसमें एक बेहद शानदार गीत है. मुहम्मद रफ़ी साहब ने गाया है.

सर जो तेरा चकराये
या दिल डूबा जाये
आजा प्यारे पास हमारे
काहे घबराये, काहे घबराये…

इस गाने में चम्पी वाले का ये कैरेक्टर शहर में घूम घूम कर तेल मालिश करता है
इस गाने में चम्पी वाले का ये कैरेक्टर शहर में घूम घूम कर तेल मालिश करता है

दिल डूबता है. ज़रूर डूबता है. नौकरी का इंटरव्यू हो और पहुंचना केला खाने से पहले छीलने जितना ज़रूरी हो, तो प्लेटफ़ॉर्म पर खड़े-खड़े दिल डूबने लगता है भाई सा’ब. क्योंकि ट्रेन होती है लेट. और गिरती अर्थव्यवस्था की तरह लगातार लेट होती ही चली जाती है. तब दिल बंगाल की खाड़ी में डूबता है. सिर भन्नाता है. भीड़ धकियाती है. लेकिन मरता क्या ना करता. प्रलय की तरह ट्रेन का इंतज़ार करता ही है पैसेंजर.

कागा सब तन खाइयो, मेरा चुन-चुन खइयो मास 

दो नैना मत खाइयो, इन्हें तूफ़ान मेल की आस

इस टाइप का मामला होता है न? लेकिन राहतें और भी हैं कन्फर्म सीट के सिवा.

# क्या राहत की बात हो गई?

हुई है… हुई है, राहत की बात ही हुई है. हुआ ये है कि अब जब आप अपना नश्वर शरीर लेकर ट्रेन में चढ़ेंगे तो रेलवे इस बात का ख्याल रखेगा कि ‘हो जाएं सब गुनाह माफ़’. अब आपकी सीट के पास एक मस्त चम्पी वाला आएगा. सिर दर्द हाथ लगाते ही हवा हो जाएगा. और मज़ा आने लगे तो पांव भी दबा देगा. वो भी ओनली हंड्रेड रुपीज में. जी केवल 100 रुपए में सिर और पांव की मालिश का अब मज़ा लीजिए अपनी मनपसंदीदा (अगर कोई हो) ट्रेन में.

# ये अजूबा कैसे हुआ

देखिए साहेबान अब ये तो हमको ख़ुद नहीं पता कि ये हुआ कैसे. बस इत्ता पता है कि भारतीय रेलवे ने घोषणा कर दी है. अभी फ़िलहाल ज़्यादा ख़ुश न हो जाइएगा. क्योंकि तत्काल प्रभाव से केवल तत्काल टिकट मिलेगा. अभी इस सेवा को आप तभी ले सकेंगे जब पूरे देश में लागू होगी. फ़िलवक्त तो ये सेवा कुछ ही ट्रेनों में ‘पायलट प्रोजेक्ट’ के तौर पर शुरू हुई है. जब सक्सेसफुल हो जाएगी योजना तो आप तक भी पहुंचेगी. उम्मीद पर दुनिया क़ायम है.

# भारतीय रेलवे की हिस्ट्री में फ़र्स्ट टाइम हो रहा है ये 

ये भी मज़े की बात है कि ऐसा पहली बार हो रहा है. ऐतिहासिक फैसला है रेलवे का. भारतीय रेलवे के इतिहास में ऐसा पहली बार हो रहा है जब यात्रियों के लिए चलती ट्रेन में मसाज सुविधा उपलब्ध होगी. फिलहाल मालिश की सुविधा इंदौर से चलने वाली 39 ट्रेनों में उपलब्ध होगी. असल में रेलवे ने अलग-अलग जोन और डिविजन से किराए के अलावा आय के लिए नए सुझाव मांगे थे. यह प्रस्ताव वेस्टर्न रेलवे जोन की रतलाम डिविजन की ओर से रखा गया.

# रेलवे को सालाना 20 लाख रुपए के मुनाफ़े की उम्मीद 

रेलवे का कहना है कि मसाज सेवा शुरू करने से ना सिर्फ रेलवे का रेवेन्यू बढ़ेगा बल्कि यात्रियों की संख्या में भी इजाफा होगा. मसाज सर्विस से सालाना रेवेन्यू में 20 लाख रुपए का इजाफा होने की उम्मीद है. साथ ही हर साल 20,000 यात्रियों के अतिरिक्त टिकट खरीदने से 90 लाख रुपए की आय होने का अनुमान है.

तो अब प्यार का होवे झगड़ा, या बिज़नस का हो रगड़ा, सब लफड़ों का बोझ हटे, जब पड़ेगा हाथ इक तगड़ा. हो सकता है अब मालिश कराने के बाद आप भी गाने लगें ‘ज़िंदगी एक सफ़र है सुहाना’. लेकिन कल क्या हो किसने जाना.


वीडियो देखें:

चुनाव में हार के बाद मायावती और अखिलेश यादव के सुर बदल गए हैं

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

क्या चल रहा है?

जब जेटली के घर के बाहर टांग दी गई थी- नो विजिटर अलाउड की तख़्ती

उस वक्त पहली बार ख़बर आई थी कि जेटली गंभीर रूप से बीमार हैं.

वेस्टइंडीज में टीम इंडिया अरुण जेटली को इस तरह दे रही है श्रद्धांजलि

जेटली बीसीसीआई में वाइस-प्रेसिडेंट रहे हैं.

मोदी पर फिल्म बनाने के बाद अब विंग कमांडर अभिनंदन पर फिल्म लेकर आ रहे हैं विवेक ओबेरॉय

विवेक ओबेरॉय क्यों कह रहे हैं कि 'बालाकोट एयरस्ट्राइक' के साथ करेंगे न्याय!

जांच रिपोर्ट में खुलासा, बालाकोट स्ट्राइक के दौरान क्रैश हुआ हेलिकॉप्टर वायु सेना की मिसाइल से गिरा था

बडगाम में क्रैश हुए Mi 17 में पायलटों समेत 6 वायुसैनिक मारे गए थे.

नहीं रहे पूर्व वित्तमंत्री अरुण जेटली

पिछले 15 दिनों से एम्स के आईसीयू में थे भर्ती

बुमराह का ये रिकॉर्ड टेस्ट क्रिकेट में उन्हें इंडियन बॉलिंग की सनसनी साबित करने के लिए काफी है

वनडे के बाद टेस्ट मैचों में बुमराह का कमाल.

बाबा रामदेव ने बताया क्यों बिगड़ी थी आचार्य बालकृष्ण की तबीयत

अचानक तबीयत खराब होने के बाद आचार्य बालकृष्ण को एम्स में भर्ती कराना पड़ा था.

ऑस्ट्रेलिया ने इंग्लैंड से कहा- करारा जवाब मिलेगा और लंका लगा दी

एक ओर जोफ्रा आर्चर थे तो दूसरी ओर हेजलवुड.

BCCI की टाइटल राइट्स डील में क्या झोल है?

ई-ऑक्शन नहीं होने को लेकर सवाल उठाए जा रहे हैं.

पतंजलि वाले बालकृष्ण को हार्ट अटैक आया, रेफर होने के बाद एम्स में भर्ती

पहले हरिद्वार के पतंजलि योगपीठ के पास भूमानंद अस्पताल में भर्ती कराया गया था.