Submit your post

Follow Us

एक FIR के बाद विकास के घर पहुंची थी पुलिस, फिर इतना बड़ा कांड हो गया

कानपुर देहात का बिकरू गांव. गुरुवार, 2 जुलाई की रात हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे के यहां दबिश देने पहुंचे आठ पुलिसवालों की हत्या कर दी गई. पुलिस टीम का टारगेट कानपुर का हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे था, पर दबिश के दौरान विकास के घर से ही नहीं, बल्कि आसपास के घरों से भी पुलिस की टीम पर फायरिंग की गई. मौका देखकर विकास फरार हो गया. कानपुर में चौबेपुर के जिस थाना क्षेत्र में आठ पुलिसकर्मियों की हत्या की गई, उस थाने में विकास दुबे के खिलाफ 60 से ज्यादा मामले दर्ज हैं.

तीनों भाई भी हिस्ट्रीशीटर

सिर्फ विकास ही नहीं, उसके तीन भाइयों- अतुल दुबे, दीपू दुबे और संजय दुबे का नाम भी थाने में हिस्ट्रीशीटर के रूप में दर्ज है. चारों के नाम बोर्ड पर लिखे हैं.

गुरुवार, 2 जुलाई को राहुल तिवारी नाम के एक व्यक्ति ने चौबेपुर थाने में विकास दुबे के खिलाफ केस दर्ज कराया था. चौबेपुर थाने के दीवान यशवीर सिंह ने बताया कि राहुल ने विकास पर अपने ससुर लालू की जमीन का बयाना जबरन कराये जाने की एफआईआर कराई थी. एफआईआर में उसने लिखाया था, “विकास मुझे रास्ते से जबरन गाड़ी में डालकर अपने घर ले गया, जहां उन्होंने मुझे मार-पीटकर एक कमरे में बंद कर दिया था. किसी तरह रात में मौका देखकर मैं भाग आया.”

इस एफआईआर के बाद इसकी जांच के लिए ही पुलिस टीम बिकरू गांव गई थी. बिकरू में पुलिस को पहले से विरोध की आशंका थी, इसलिए कई थानों की फ़ोर्स लेकर सीओ देवेंद्र मिश्रा गए थे.

यशवीर सिंह का कहना है कि पूरे मामले की हकीकत से पुलिस वाकिफ हो गई थी. लिहाजा शिकायतकर्ता राहुल के घर पर उसकी सुरक्षा के लिए पुलिस टीम भेजी गई थी. लेकिन उसके घर पर कोई मौजूद नहीं था.

विकास को पता था, पुलिस आने वाली है!

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, पुलिसवालों की हत्या के पीछे मुखबिरी की बात भी कही गई. विकास दुबे को पहले से ही पता चल गया था कि रात में उसके घर दबिश पड़ने वाली है. इतना ही नहीं, ये भी पता चल गया था कि कौन-कौन टीम में शामिल रहेगा. फोर्स की संख्या कितनी हो सकती है, इन सबकी डिटेल विकास के पास थी. प्लानिंग के तहत गुडों ने घर के सामने जेसीबी खड़ी कर पुलिस का रास्ता रोक दिया. एडीजी (कानून-व्यवस्था) प्रशांत कुमार का कहना है कि अगर पुलिस की तरफ से कोई चूक हुई है, तो इसकी जांच की जाएगी.


हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे को पकड़ने गई पुलिस पर AK47 से हमला, डीएसपी समेत 8 पुलिसकर्मी शहीद

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

लेह में दिए अपने भाषण में पीएम मोदी ने चीन का नाम लिए बिना क्या-क्या कहा?

जवानों पर, बॉर्डर के विकास पर, दुनिया की सोच पर बहुत कुछ बोला है.

ICMR ने एक महीने में कोरोना की वैक्सीन लॉन्च करने का झूठा दावा किया है!

क्या वैक्सीन के ट्रायल में घपला हो रहा है?

भारत-चीन के तनाव के बीच पीएम मोदी ने लद्दाख़ पहुंचकर किससे बात की?

पहले राजनाथ सिंह जाने वाले थे, नहीं गए.

मलेरिया वाली जिस दवा को कोरोना में जान बचाने के लिए इस्तेमाल कर रहे, वो उल्टा काम कर रही है?

हाईड्रॉक्सीक्लोरोक्विन पर चौंकाने वाली रिसर्च!

इस साल के आख़िर तक मिलने लगेगी कोरोना की 'मेड इन इंडिया' वैक्सीन!

भारत बायोटेक के अधिकारी ने क्या बताया?

'कोरोनिल' पर पतंजलि के आचार्य बालकृष्ण पूरी तरह यू-टर्न मार गए!

पतंजलि का दावा था कि 'कोरोनिल' दवा कोरोना वायरस ठीक करने में कारगर होगी.

चीन के ऐप तो बैन हो गए, पर उन भारतीयों का क्या जो इनमें काम करते हैं

चीनी ऐप के कर्मचारियों में घबराहट है.

चीनी ऐप पर बैन के बाद चीन ने भारत के बारे में क्या बयान दिया है?

भारत को कैसी जिम्मेदारी याद दिलाई चीन ने?

लगभग 16 मिनट के राष्ट्र के नाम संदेश में नरेंद्र मोदी ने क्या काम की बात की?

संदेश का सार यहां पढ़िए.

भारत सरकार के चाइनीज़ ऐप बंद करने के स्टेप पर TikTok ने चिट्ठी में क्या लिखा?

अपने यूज़र्स के बारे में भी कुछ कहा है.