Submit your post

Follow Us

तो ये है चीन के अंडे का बदबूदार सच!

पिछले कुछ दिनों से वॉट्सएप और फेसबुक पर चीनी अंडों से जुड़ी बातें बहुत शेयर हो रही हैं. जिनमें लिखा हुआ है कि चीन से प्लास्टिक के बने अंडे आ रहे हैं. सो प्लीज डोंट यूज इट. उड़ रहे मैसेज में कहा गया कि इन अंडों का स्वाद तो अलग है ही, ये बड़ी ही घटिया तरह से बदबू मार रहे हैं और ये प्लास्टिक की तरह जल भी रहे हैं.

ये सब जमके शेयर हुआ. और लोग अंडा लेते वक्त दुकान वालों से कहने लगे, भइया सुनो चीन वाला मत देना. लोग अंडे ठोंक-बजाकर लेने लगे, इस चक्कर में कई अंडे फूटे जा रहे हैं.

लेकिन ये सब मामला हवा-हवाई ही चल रहा था. अब चाइनीज अंडों के नाम पर अंडों के जो सैंपल लिए गए थे, उनकी जांच के बाद की रिपोर्ट आ चुकी है. टाइम्स ऑफ इंडिया की खबर के मुताबिक ऐसी एक नहीं, बल्कि दो रिपोर्ट में एक्सपर्ट लोगों का कहना है कि ऐसे अंडे सड़े हुए हो सकते हैं. पर वो प्लास्टिक के नहीं हैं.ये रिपोर्ट्स केरल वेटनरी ऐंड एनिमल साइंस यूनिवर्सिटी के डिपार्टमेंट ऑफ लाइवस्टॉक प्रॉडक्ट टेक्नोलजी और सेंडर फॉर अडवांस स्टडीज़ इन पोल्ट्री साइंस की हैं.

अंडा अकेला नहीं है उसके साथ पटाखे, झालर, मांझा, चावल और चाउमीन भी हैं

वैसे ये पहली कोई अफवाह नहीं है. इसके पहले भी चाइनीज झालरों, चाइनीज पटाखों, चाइना से आने वाले चावल-चाउमीन और चाइनीज मांझे को लेकर भी खूब अफवाहें चल रही थीं. झालरों के बारे में ये कहा जा रहा था कि इनके अंदर से जहरीली गैस निकलती है. चावल और चाउमीन प्लास्टिक के होते हैं. ये कोई बताने वाली बात तो है नहीं. आप भी इन अफवाहों से बराबर वाकिफ हैं.

पटाखे वाला कांसेप्ट सुन के कल्पना को चक्कर आ गया था

पटाखों को लेकर जो अफवाह वाला मैसेज आ रहा था, वो तो और भी इंट्रेस्टिंग था. इतनी गहरी प्लानिंग चीनियों ने भारत को नुकसान पहुंचाने की कर रखी थी. कि इसको कोई इंडियन प्लान करता तो उसे और उसकी सोच दोनों को चक्कर आ जाता. मैसेज की हिंदी को ठीक नहीं किया गया है, ताकि पढ़ते वक्त आप पूरा आनंद ले सकें. ये रहा मैसेज –

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार पाकिस्तान भारत पर सीधा हमला नही कर सकता इसलिए उसने भारत से बदला लेने के लिए चीन की सहायता ली है चीन ने भारत में अस्थमा रोग फैलाने के लिए पटाखों में विशेष तरह का बारुद भरा है जिसके जलने से कार्बन मोनो ऑक्साइड से भी जहरीली गैसें निकलती है जो श्वास रोगो को बढाता है इसके अलावा भारत में नेत्र दोष पैदा करने के लिए विशेष प्रकार की सजावट की लाईट भी बनाई जा रही है जिनमें बङी मात्रा में पारा भरा गया है. कृप्या इस दिवाली थोङा जागरूक रहें और इन चाईनीज उत्पादों का उपयोग न करें. इस मैसेज को सभी भारतीयों तक पहुंचाए. जय हिन्द

चाइनीज मांझा, जो चाइनीज है ही नहीं

एक चाइनीज चीज है चाइनीज मांझा. वैसे इस किलर धागे में कुछ भी चाइनीज नहीं है. विशुद्ध इंडियन होता है ये. पहले कॉटन के धागे लगते थे पतंगों में. इसलिए इस मांझे को मजबूत बनाने के लिए चावल का आटा और मसाले लगाये जाते थे. पर थोड़ा जोर पड़ने पर ये टूट जाता था. इस टूटन से निजात पाने के लिए नए धागे लाये गए. नायलॉन के. यही हैं चाइनीज धागे. फिर इसको और मारक बनाया गया. इसमें कुछ चीजें मिलाई गईं:

1. शीशे का चूरा
2. इंडस्ट्री में लगने वाले खतरनाक अधेसिव, जो उंगलियां भी चिपका देंगे
3. एल्युमीनियम ऑक्साइड, जो चमड़े पर रगड़ दें तो खंखोर देगा
4. जिरकोनिया ऑक्साइड, जो एल्युमीनियम ऑक्साइड से भी बड़ा वाला है
5. मैदा, जो कि पेस्ट बनाने के काम में आता है
6. कहीं-कहीं लोग इसमें ब्लेड भी चिपका देते हैं.

मार्केट में चाइनीज सामान की लिस्ट भी थी

चीनी आइटम को लेकर एक-दो लिस्ट भी बनाकर लोग सर्कुलेट कर रहे थे. जिसमें लिखा था कि चाइनीज कंपनी कौन-कौन सी हैं.

list
लो ज्ञान बढ़ा लो

चीन के खिलाफ जंग में बाबा रामदेव हुए कमांडर

बहरहाल देश भर के सारे तथाकथित बड़े-बड़े देशभक्त चीन पर अपने-अपने तरह से हमले का सुझाव दे रहे हैं. ऐसा में सोमवार को बाबा रामदेव ने भी कहा कि हमारे घरों में भगवान राम और कृष्ण की मूर्तियां भी चीन की आ गई है. दिवाली की लाइटें भी चीन से आ रही हैं. इनसे देश की एकता और अखंडता को खतरा है. पूरे देश में चीन के सामान का बहिष्कार होना चाहिए, तभी चीन कंट्रोल में आएगा, नहीं तो ये हमारे लिए खतरा बन जाएगा. ये सब बाबा इसलिए कह रहे थे क्योंकि बाबा का मानना है कि चीन के चलते ही भारत न्यूक्लियर सप्लायर्स ग्रुप में शामिल नहीं हो पा रहा है.

नया दावा, चीन से ट्रेड 30 परसेंट कम होने वाला है

कंफेडरेशन ऑफ आल इंडिया ट्रेडर्स यानी CAIT ने दावा किया है कि सोशल मीडिया की बायकॉट चाइना प्रोडक्ट्स की मुहिम ने अपना असर बाजार पर दिखाना शुरू कर दिया है. और ये असर काफी जबरदस्त है, जिससे इस दीवाली मेड इन चाइना प्रोडक्ट्स का व्यापार तीस फीसदी तक कम हो सकता है.

वहीं कैट के महासचिव प्रवीण खंडेलवाल का कहना है कि सोशल मीडिया पर चाइनीज सामानों के विरुद्ध जो मुहिम छेड़ी गयी है, उससे मोटे तौर पर चीन को कोई नुकसान नहीं होगा. कम से कम इस सीजन तो कतई नहीं. इसकी वजह ये है कि दीवाली के मौके पर खरीदारी की तैयारी ट्रेडर 2-3 महीने पहले ही शुरू कर देता है. लिहाजा तकरीबन सभी थोक व्यापारियों की दुकानें और गोदाम चाइनीज सामानों से अटे पड़े हैं. ऐसी स्थिति में यदि किसी का नुकसान होगा तो वो हमारे देश के ही लोग और व्यापारी होंगे.

पर दोस्त, आप तो समझदार हैं. इसलिए जोश में होश का बंडल बनाकर तालाब में न फेंकने से कोई फायदा नहीं. चीन को सबक सिखाने के चक्कर में कहीं अपना नुकसान ही न कर बैठना. वैसे चीन को सबक सिखाने का सबसे सही तरीका ये है कि सरकार चीनी सामान के आयात पर रोक लगाए. वैसे चीनी सामान में वैरायटी-वैरायटी की मिलावट से जनता परेशान है और इस बारे में सबसे सही बात हमारे एक साथी आशीष कहते हैं कि चीन पर बैन लगाना है तो सबसे पहले चाइनीज सैनिकों पर बैन लगाना चाहिए. जो हर महीने ही इंडिया में घुसे चले आते हैं.


ये भी पढ़ें –

झालर बैन से कुछ नहीं होगा, चीन की पुंगी बजानी है तो ये करो

चाइनीज सामान का बायकॉट अकेले कर लो, पीएम न करेंगे

चाइनीज नहीं है चाइनीज मांझा, इंडियन है ये जो गर्दन काट देता है!

त्रिपुरा महीनों तक देश से कटा रहा, आपको घंटा फर्क पड़ा?

इन लोगों की चली तो रिलायंस जियो 4G बंद हो जाएगा

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

क्या BYJU'S अच्छी शिक्षा देने के नाम पर लोगों को अनचाहा लोन तक दिलवा रही है?

क्या BYJU'S अच्छी शिक्षा देने के नाम पर लोगों को अनचाहा लोन तक दिलवा रही है?

ये रिपोर्ट कान खड़े कर देगी.

Jack Dorsey ने Twitter का CEO पद छोड़ा, CTO पराग अग्रवाल को बताया वजह

Jack Dorsey ने Twitter का CEO पद छोड़ा, CTO पराग अग्रवाल को बताया वजह

इस्तीफे में पराग अग्रवाल के लिए क्या-क्या बोले जैक डोर्से?

पेपर लीक होने के बाद UPTET परीक्षा रद्द, दोबारा कराने पर सरकार ने ये घोषणा की

पेपर लीक होने के बाद UPTET परीक्षा रद्द, दोबारा कराने पर सरकार ने ये घोषणा की

UP STF ने 23 संदिग्धों को गिरफ्तार किया.

26 नए बिल कौन-कौन से हैं, जिन्हें सरकार इस संसद सत्र में लाने जा रही है

26 नए बिल कौन-कौन से हैं, जिन्हें सरकार इस संसद सत्र में लाने जा रही है

संसद का शीतकालीन सत्र 29 नवंबर से 23 दिसंबर तक चलेगा.

नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट के चकाचक निर्माण से लोगों को क्या-क्या मिलने वाला है?

नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट के चकाचक निर्माण से लोगों को क्या-क्या मिलने वाला है?

पीएम मोदी ने गुरुवार 25 नवंबर को इस एयरपोर्ट का शिलान्यास किया.

कृषि कानून वापस लेने की घोषणा के बाद पंजाब की राजनीति में क्या बवंडर मचने वाला है?

कृषि कानून वापस लेने की घोषणा के बाद पंजाब की राजनीति में क्या बवंडर मचने वाला है?

पिछले विधानसभा चुनाव में त्रिकोणीय मुकाबला था, इस बार त्रिकोणीय से बढ़कर होगा.

UP पुलिस मतलब जान का खतरा? ये केस पढ़ लिए तो सवाल की वजह जान जाएंगे

UP पुलिस मतलब जान का खतरा? ये केस पढ़ लिए तो सवाल की वजह जान जाएंगे

कासगंज: पुलिस लॉकअप में अल्ताफ़ की मौत कोई पहला मामला नहीं.

कासगंज: हिरासत में मौत पर पुलिस की थ्योरी की पोल इस फोटो ने खोल दी!

कासगंज: हिरासत में मौत पर पुलिस की थ्योरी की पोल इस फोटो ने खोल दी!

पुलिस ने कहा था, 'अल्ताफ ने जैकेट की डोरी को नल में फंसाकर अपना गला घोंटा.'

ये कैसे गिनती हुई कि बस एक साल में भारत में कुपोषित बच्चे 91 प्रतिशत बढ़ गए?

ये कैसे गिनती हुई कि बस एक साल में भारत में कुपोषित बच्चे 91 प्रतिशत बढ़ गए?

ये ख़बर हमारे देश का एक और सच है.

आर्यन खान केस से समीर वानखेड़े की छुट्टी, अब ये धाकड़ अधिकारी करेगा जांच

आर्यन खान केस से समीर वानखेड़े की छुट्टी, अब ये धाकड़ अधिकारी करेगा जांच

क्या समीर वानखेड़े को NCB जोनल डायरेक्टर पद से हटा दिया गया है?