Submit your post

Follow Us

दलित को एड्स था, लाश कब्रिस्तान तक में नहीं घुसने दी

सोशल मीडिया पर बड़ी बड़ी बातें होती हैं. ऐसा नहीं है, वैसा नहीं है. लेकिन हकीकत आज भी वही है. छुआछूत. और करते भी हम तुम ही हैं. क्योंकि जब बात अमल की आती है तो पता नहीं वो सोशल वाला रूप हमारा कहां चला जाता है. ओडिशा के एक गांव में दलित मर गया, लेकिन उसका अंतिम संस्कार उस जगह पर नहीं करने दिया गया, जहां सबका होता है. सिर्फ इसलिए क्योंकि उसे एड्स था. कब्रिस्तान से लाश वापस आई. ये देख के तो मौत को भी मौत आ जाए. लेकिन इंसान… शर्म आती है ऐसे लोगों के इंसान होने पर.

ये कैसा समाज है. जो ढोंग का ऐसा लबादा ओढ़े हुए है. जिसको इंसानियत तक नहीं आती. एक दलित एड्स से मर गया, इसलिए उसकी लाश को श्मशान घाट में नहीं जाने दिया गया. मुझे तो उन बदअक्लों पर हैरानी होती है. और मन में सवाल आता है उस दलित का अंतिम संस्कार वहां करने से बाकी मुर्दों को कुछ हो जाता क्या.

जब ओडिशा के गांव में लोगों ने दलित का अंतिम संस्कार नहीं होने दिया, तब घर वाले लाश वापस घर ले आए और घर के सामने ही अंतिम संस्कार कर दिया. 35 साल का ये आदमी मुंबई में काम करता था, जहां उसे एचआईवी हुआ. जब उसकी हालत बिगड़ी तो वह बालासोर जिले के तेंतेई गांव में लौट आया. उसे कटक के एससीबी मेडिकल कॉलेज और हॉस्पिटल में एडमिट कराया गया. जहां शुक्रवार को उसकी मौत हो गई. जब फैमिली वाले उसकी लाश लेकर हनसियानीपड़ा के कब्रिस्तान पहुंचे, तो गांववालों ने वहां एंट्री ही नहीं होने दी.

इसके लिए कानून भी है

ऐसा भी तब हुआ है जब कुछ दिन पहले ही सेंटर गवर्नमेंट ने एचआईवी और एड्स (रोकथाम और नियंत्रण) बिल, 2014 में कुछ फेरबदल को मंजूरी दी है. इस बिल में एचआईवी मरीजों के हक़ बचाए गए हैं, जिसके तहत इस तरह के लोगों के साथ भेदभाव करने वालों को कम से कम तीन महीने और ज्यादा से ज्यादा दो साल की जेल है, और एक लाख रुपये तक का जुर्माना देना पड़ेगा.


ये भी पढ़ें

दलित आदमी ने चक्की पर गेहूं को छुआ तो गुरुजी ने गला काट दिया

इन दलित लेखकों को सम्मेलन से बाहर कर देने पर शिवाजी का इतिहास बदल जाएगा क्या?

 

 

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

पेट्रोल के दाम घटाने की मांग कर रहे विपक्षी राज्यों को पीएम मोदी ने नवंबर याद दिला दिया

पेट्रोल के दाम घटाने की मांग कर रहे विपक्षी राज्यों को पीएम मोदी ने नवंबर याद दिला दिया

मुख्यमंत्रियों के साथ वर्चुअल मीटिंग में पीएम मोदी ने नाम ले-लेकर सुनाया.

धार्मिक जुलूस की अनुमति की प्रक्रिया जान लो, जहांगीरपुरी हिंसा की वजह समझ आ जाएगी

धार्मिक जुलूस की अनुमति की प्रक्रिया जान लो, जहांगीरपुरी हिंसा की वजह समझ आ जाएगी

जानकारों ने जहांगीरपुरी में निकले जुलूस पर सवाल उठाए हैं.

लेफ्टिनेंट जनरल मनोज पांडे का सेनाध्यक्ष बनना खास क्यों है?

लेफ्टिनेंट जनरल मनोज पांडे का सेनाध्यक्ष बनना खास क्यों है?

मौजूदा आर्मी चीफ मनोज मुकुंद नरवणे के रिटायर्ड होने पर पदभार संभालेंगे.

LIC का IPO: सरकार अब जो करने जा रही है उससे छोटे निवेशकों को फायदा है

LIC का IPO: सरकार अब जो करने जा रही है उससे छोटे निवेशकों को फायदा है

LIC के IPO में बहुत कुछ बदलने जा रहा है. अगले हफ्ते आ सकता है अपडेटेड प्रॉस्पेक्टस.

RBI की इस पहल से सभी एटीएम से बिना कार्ड कैश निकलेगा!

RBI की इस पहल से सभी एटीएम से बिना कार्ड कैश निकलेगा!

अभी ये सुविधा कुछ ही बैंको तक सीमित है.

'शराबी' खिलाड़ी की जानलेवा हरकत की वजह से मरते-मरते बचे थे युजवेंद्र चहल, अब किया खुलासा

'शराबी' खिलाड़ी की जानलेवा हरकत की वजह से मरते-मरते बचे थे युजवेंद्र चहल, अब किया खुलासा

2013 की बात है जब चहल मुंबई इंडियन्स की तरफ से खेलते थे.

आकार पटेल के खिलाफ लुकआउट सर्कुलर जारी करने वाली CBI अब उनसे माफी मांगेगी

आकार पटेल के खिलाफ लुकआउट सर्कुलर जारी करने वाली CBI अब उनसे माफी मांगेगी

कोर्ट ने आकार पटेल को बड़ी राहत दी है.

भारत में कोरोना के XE Variant का पहला केस मिलने के दावे पर सरकार ने क्या कहा?

भारत में कोरोना के XE Variant का पहला केस मिलने के दावे पर सरकार ने क्या कहा?

ये वेरिएंट कितना खतरनाक है, ये भी जान लें.

लल्लनटॉप अड्डा: 9 अप्रैल को मचने वाले धमाल का पूरा शेड्यूल पढ़ लो!

लल्लनटॉप अड्डा: 9 अप्रैल को मचने वाले धमाल का पूरा शेड्यूल पढ़ लो!

हंसी होगी, संगीत होगा और होंगे सौरभ द्विवेदी!

ED ने किन मामलों में सत्येंद्र जैन और संजय राउत के परिवारों की करोड़ों की संपत्ति कुर्क की है?

ED ने किन मामलों में सत्येंद्र जैन और संजय राउत के परिवारों की करोड़ों की संपत्ति कुर्क की है?

कार्रवाई पर संजय राउत भड़क गए हैं.