Submit your post

Follow Us

ममता बनर्जी ने कोरोना के इलाज में काम आ रही चीजों पर टैक्स छूट मांगी तो वित्त मंत्री ने GST के फायदे गिना दिए

पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी ने पीएम मोदी को चिट्ठी लिखकर कोविड से लड़ने के लिए जरूरी सामान पर GST छूट मांगी. केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने इसका जवाब दिया है. जवाब में 15 ट्वीट किए. सीतारमण ने यहां तक कहा कि कोरोना वैक्सीन को GST से बाहर रखने पर उपभोक्ताओं को फायदा नहीं होगा, बल्कि इसका उल्टा असर देखने को मिलेगा. केंद्रीय वित्त मंत्री ने ये भी कहा कि कि ममता बनर्जी ने जिन चीजों का जिक्र किया है, उन पर ये टैक्स पहले से ही नहीं लगे हैं.

चिट्ठी में क्या मांग की थी ममता ने?

ममता बनर्जी ने पीएम मोदी को जो पत्र लिखा था, उसमें कहा था कि ऑक्सीजन कंसंट्रेटर्स और कोरोना के इलाज में काम आ रही दवाओं पर कस्टम ड्यूटी और GST नहीं लगाई जाए. उनका कहना कहा था कि कई संगठन और एजेंसियां ये मांग कर रही हैं. चिट्ठी में यह भी कहा गया था कि इन एजेंसियों और संगठनों की मदद से राज्य सरकार कोरोना से प्रभावी तरीके से लड़ पा रही है. ऐसे में केंद्र सरकार इन चीजों पर टैक्स न ले, चाहे वो राज्य सरकार का GST हो या केंद्र का.

वित्त मंत्री ने क्या कहा?

ममता के इस पत्र का जवाब वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने तफ्सील से दिया. ट्विटर पर उन्होंने अपना जवाब 15 ट्वीट्स की शक्ल में पोस्ट किया. निर्मला ने कहा कि वित्त मंत्रालय ने इस साल 3 मई को एक लिस्ट जारी की थी. इसमें उन चीजों का नाम शामिल है, जिन पर GST नहीं लगाई गई है. हालांकि वित्त मंत्री ने कोविड के इलाज में इस्तेमाल हो रही दवाओं और ऑक्सीजन कंसंट्रेटर्स पर लगने वाले GST को सही ठहराते हुए कहा कि

वैक्सीन पर 5 प्रतिशत और कोविड से संबंधित दवाओं व ऑक्सीजन कंसंट्रेटर्स पर 12 प्रतिशत GST लगता है. यह इनके घरेलू आपूर्ति और कमर्शियल आयात पर लागू है. किसी वस्तु पर GST का आधा हिस्सा केंद्र और आधा राज्यों को जाता है. केंद्रीय (CGST ) का 41 प्रतिशत राजस्व राज्यों को दिया जाता है.

वित्त मंत्री ने उदाहरण देते हुए इसका गणित भी बताया. उन्होंने अगले ट्वीट में कहा

100 रुपये के IGST कलेक्शन में से 70.50 रुपये राज्यों का हिस्सा है. इसमें से 50-50 रुपए केंद्र और राज्य सरकारों को CGST और SGST के रूप में मिलता है. वैसे ही वैक्सीन पर वसूले जाने वाले GST का 41 प्रतिशत हिस्सा भी राज्यों को दिया जाता है. इसका मतलब है कि 100 रुपए का कलेक्शन होने पर 70.50 रुपए राज्य को जाता है. प्राप्त कुल राजस्व का लगभग 70 प्रतिशत हिस्सा राज्यों को मिलेगा.

उन्होंने वैक्सीन पर 5 फीसदी GST को सही ठहराते हुए इसे वैक्सीन बनाने वाली घरेलू कंपनियों और नागरिकों के हित में बताया. उन्होंने कहा-

अगर वैक्सीन पर GST को पूरी तरह से माफ कर दिया जाएगा तो वैक्सीन बनाने वाली कंपनियां टैक्स में छूट नहीं पा सकेंगी. ऐसा होने पर वह वैक्सीन के दाम बढ़ा देंगी.45 साल या उससे ऊपर वालों को भारत सरकार कोविड वैक्सीन मुफ्त में उपलब्ध करा रही है. लेकिन वह इस पर 5 फीसदी GST भर रही है. वैक्सीन पर मिली GST में आधा सरकार और आधा राज्य को जाता है. इस तरह से देखा जाए तो वैक्सीन पर 5 फीसदी की GST न सिर्फ कंपनियों बल्कि नागरिकों के हित में भी है. अगर GST नहीं लिया जाएगा तो यह कस्टमर के लिए फायदे की जगह नुकसानदायक साबित होगा.

 

वित्त मंत्री का जवाब TMC सांसद महुआ मोइत्रा ने दिया

वित्त मंत्री के जवाब पर टीएमसी सांसद महुआ मोइत्रा ने फिर से सवाल खड़े कर दिए. उन्होंने भी 15 ट्वीट करके सिलसिलेवार तरीके से वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण के तर्कों को खारिज करने की कोशिश की. उन्होंने पूछा कि कोविड से लड़ने के लिए जरूरी हर सामान और पूरी चेन को ही GST से बाहर क्यों नहीं रखा जाता? आम लोगों के साथ क्लीनिक और हॉस्पिटल को भी ये सब सस्ते में उपलब्ध कराया जाए. महुआ मोइत्रा ने वैक्सीन पर GST के लॉजिक के नकारते हुए कहा-

सरकार GST भरकर पैसा खुद को ही वापस दे रही है. यह एक निराशाजनक तर्क है. जहां तक बात राज्य सरकार को पैसे देने की है, तो केंद्र का राज्यों को GST का हिस्सा देने का ट्रैक रेकॉर्ड अच्छा नहीं रहा है. केंद्र सरकार कहती है कि 100 में से 70.50 रुपए राज्य सरकारों को मिलते हैं. ऐसे में राज्य सरकार एक बड़े हिस्से का भार उठाने को तैयार है. केंद्र को 29.50 फीसदी का भार उठाने में क्या दिक्कत है? 5 फीसदी जीएसटी आम नागरिकों के हित में कैसे है? कोविड वैक्सीन से जुड़ी चेन जैसे कस्टम, जीएसटी को टैक्स फ्री करिए. हमें सबको जल्दी से जल्दी वैक्सीनेट करना है.

 

बता दें कि महुआ मोइत्रा राजनीति में आने से पहले लंदन में एक इनवेस्टमेंट बैंकर के तौर पर काम करती थीं. उन्होंने अमेरिका से इकॉनमिक्स और मैथ्स में डिग्री हासिल की है.


वीडियो- वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण बढ़ते पेट्रोल के दामों पर दो तरह की बातें कर बुरी फंस गईं

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

सिंघु बॉर्डर पर युवक की बर्बर हत्या पर किसान नेताओं ने क्या कहा है?

सिंघु बॉर्डर पर युवक की बर्बर हत्या पर किसान नेताओं ने क्या कहा है?

राकेश टिकैत ने भी मीडिया से बात की है.

बांग्लादेश: दुर्गा पूजा पंडाल को कट्टरपंथियों ने तहस-नहस किया, मूर्तियां तोड़ीं, 3 लोगों की मौत

बांग्लादेश: दुर्गा पूजा पंडाल को कट्टरपंथियों ने तहस-नहस किया, मूर्तियां तोड़ीं, 3 लोगों की मौत

कुरान को लेकर अफवाह उड़ी और बांग्लादेश के कई हिस्सों में सांप्रदायिक तनाव फैल गया.

आर्यन खान को अब भी नहीं मिली बेल, 20 तारीख तक जेल में ही रहना होगा

आर्यन खान को अब भी नहीं मिली बेल, 20 तारीख तक जेल में ही रहना होगा

जज ने दोनों पक्षों की दलीलें तो सुनी लेकिन अपना फैसला रिज़र्व रख दिया.

पुंछ मुठभेड़ से कुछ देर पहले भाई से बचपन की बातें कर हंस रहे थे शहीद मंदीप सिंह!

पुंछ मुठभेड़ से कुछ देर पहले भाई से बचपन की बातें कर हंस रहे थे शहीद मंदीप सिंह!

किसी ने लोन लेकर परिवार को नया घर दिया था तो कोई दिवंगत पिता के शोक में जाने वाला था.

दिल्ली में संदिग्ध पाकिस्तानी आतंकी गिरफ्तार, पूछताछ में डराने वाली जानकारी दी

दिल्ली में संदिग्ध पाकिस्तानी आतंकी गिरफ्तार, पूछताछ में डराने वाली जानकारी दी

पुलिस ने संदिग्ध आतंकी के पास से एके-47, हैंड ग्रेनेड और कई कारतूस मिलने का दावा किया है.

Urban Company की महिला 'पार्टनर्स' ने इसके खिलाफ मोर्चा क्यों खोल दिया है?

Urban Company की महिला 'पार्टनर्स' ने इसके खिलाफ मोर्चा क्यों खोल दिया है?

ये महिलाएं अर्बन कंपनी के लिए ब्यूटिशियन या स्पा वर्कर का काम करती हैं.

लखीमपुर केस में आशीष मिश्रा 12 घंटे की पूछताछ के बाद गिरफ्तार

लखीमपुर केस में आशीष मिश्रा 12 घंटे की पूछताछ के बाद गिरफ्तार

जांच में सहयोग नहीं करने का आरोप.

नवाब मलिक ने कहा-NCB ने 11 को हिरासत में लिया था फिर 3 को छोड़ क्यों दिया?

नवाब मलिक ने कहा-NCB ने 11 को हिरासत में लिया था फिर 3 को छोड़ क्यों दिया?

NCB की रेड को फर्जी बताया, ज़ोनल डायरेक्टर समीर वानखेड़े की कॉल डिटेल की जांच की मांग की

आशीष मिश्रा लखीमपुर में हैं या नहीं? पिता अजय मिश्रा और रिश्तेदारों के जवाबों ने सिर घुमा दिया

आशीष मिश्रा लखीमपुर में हैं या नहीं? पिता अजय मिश्रा और रिश्तेदारों के जवाबों ने सिर घुमा दिया

अजय मिश्रा कुछ और कह रहे, परिवारवाले कुछ और कह रहे.

RBI ने ऑनलाइन पैसा ट्रांसफर करने वालों को बड़ी खुशखबरी दी है

RBI ने ऑनलाइन पैसा ट्रांसफर करने वालों को बड़ी खुशखबरी दी है

RBI की मॉनिटरी पॉलिसी कमिटी (MPC) की बैठक आज खत्म हो गई.