Submit your post

Follow Us

क्या कोविड-19 की दूसरी लहर में ऑक्सीजन की कमी से किसी कोरोना मरीज की मौत नहीं हुई?

कोविड-19 की दूसरी लहर के दौरान देश के कई हिस्सों से ऑक्सीजन की कमी से कोरोना मरीजों की मौत के मामले सामने आए थे. लेकिन केंद्र सरकार ने मंगलवार 20 जुलाई को राज्यसभा में कहा कि दूसरी लहर के दौरान ऑक्सीजन की कमी से किसी की मौत रिपोर्ट नहीं हुई है. इस मामले में अब लोग सोशल मीडिया पर काफी कुछ लिख रहे हैं.

क्या बोली सरकार?

दरअसल, कांग्रेस के सांसद केसी वेणुगोपाल ने राज्यसभा में कोरोना वायरस संक्रमण की दूसरी लहर के दौरान ऑक्सीजन की कमी से होने वाली मौतों को लेकर सरकार से सवाल किया था. इसके जवाब में स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से कहा गया कि राज्यों की तरफ से दी जाने वाली जानकारी में इसका ‘विशेष रूप से उल्लेख नहीं’ किया गया कि दूसरी लहर के दौरान ऑक्सीजन की कमी से कोरोना मरीज मारे गए. स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मांडविया ने कहा,

केंद्र सरकार, राज्य सरकारों के भेजे डेटा को ही कंपाइल करती है और पब्लिश करती है. हमने किसी से नहीं कहा कि मृत्यु की कम संख्या दिखाएं या फिर पॉजिटिव केस कम दिखाएं. ऐसा करने का कोई कारण नहीं है.

मनसुख मांडविया ने सदन को बताया कि राज्य और केंद्रशासित प्रदेश कोरोना से होने वाली मौतों की जानकारी नियमित रूप से केंद्र को देते हैं. उनके मुताबिक, किसी भी राज्य या केंद्रशासित प्रदेश ने ऐसी कोई जानकारी केंद्र से साझा नहीं की जिसमें कहा गया हो कि ऑक्सीजन की कमी से कोरोना मरीजों की मौत हुई.

और क्या कहा?

जानकारी देते हुए स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से बताया गया कि कोरोना की पहली लहर के मुकाबले दूसरी लहर के दौरान मेडिकल ऑक्सीजन की मांग काफी बढ़ गई थी. मंत्रालय के मुताबिक, पहली लहर में जहां 3095 मीट्रिक टन ऑक्सीजन की डिमांड थी, वहीं दूसरी लहर में ये डिमांड 9000 मीट्रिक टन तक पहुंच गई.

मनसुख मांडविया ने बताया कि दूसरी लहर में केंद्र की ओर से 28 मई तक राज्यों को 10250 मीट्रिक टन ऑक्सीजन की सप्लाई की गई. इस दौरान सबसे अधिक ऑक्सीजन (1200-1200 मीट्रिक टन) महाराष्ट्र और कर्नाटक को दी गई. जबकि, दिल्ली को 400 मीट्रिक टन ऑक्सीजन सप्लाई की गई.

Oxygen (2)
इस तस्वीर को भला कौन भूल पाएगा. पति को ऑक्सीजन नहीं मिली तो पत्नी इस तरह सांस देने लगी. फोटो- आजतक

कांग्रेस लाएगी विशेषाधिकार हनन प्रस्ताव

उधर, कांग्रेस पार्टी स्वास्थ्य मंत्री के बयान से संतुष्ट नहीं दिखी. पार्टी के सांसद केसी वेणुगोपाल ने कहा कि वो स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मांडविया के खिलाफ विशेषाधिकार हनन प्रस्ताव लाएंगे. आजतक की एक खबर के मुताबिक, वेणुगोपाल ने कहा,

“सरकार कह रही है कि ऑक्सीजन की कमी से किसी की मौत नहीं हुई. गलत जानकारी देकर स्वास्थ्य मंत्री ने सदन को गुमराह किया है. हम उनके खिलाफ विशेषाधिकार हनन प्रस्ताव लाएंगे.”

सोशल मीडिया पर क्या चल रहा है?

उधर, सोशल मीडिया पर इस खबर को लेकर लोगों ने कमेंट्स करने शुरू कर दिए. ट्विटर पर कई लोगों ने सरकार के बयान की आलोचना की. कुछ ने तंज भी कसे. नीचे कुछ ट्वीट देखें.

अनुराग वर्मा नाम के एक ट्विटर यूजर ने लिखा- ऑक्सीजन की ‘कमी’ से कोई नही मरा, तो लाखों ने खुद अपना गला घोंट लिया.

नजीरुल हुडा नाम के एक ट्विटर यूजर ने पोस्ट किया,

“कोरोना की दूसरी लहर में ऑक्सीजन की कमी से एक भी मौत नहीं हुई- राज्यसभा में केंद्र सरकार का जवाब. हां, सही बात है. ऑक्सीजन की कमी से कोई मौत नहीं हुई, सबने जानबूझकर सरकार को बदनाम करने के लिए अपनी सांस रोक ली. खुद का गला घोंट लिया और हजारों लोग मर गए. धन्य है ऐसी सरकार और उसके समर्थक.”

 

पिंकू आंघन नाम के एक ट्विटर यूजर ने लिखा-

“संसद में सरकार का कहना है कि ऑक्सीजन की कमी से कोई मौत नहीं हुई है.

कोरोना वायरस कोई स्वास्थ्य आपातकाल नहीं है- 20 मार्च
प्रवासी श्रमिकों की मौत का कोई डेटा नहीं- 20 सितंबर
ऑक्सीजन की कमी से कोई मौत नहीं- 21 जुलाई

ऑक्सीजन की कमी से कोई नहीं मरा तो लाखों लोगों ने अपने आप ही खुदकुशी कर ली?”

कांग्रेस सांसद और नेता राहुल गांधी ने भी ट्वीट किया. उन्होंने लिखा- सिर्फ़ ऑक्सीजन की ही कमी नहीं थी. संवेदनशीलता व सत्य की भारी कमी- तब भी थी, आज भी है.

बहरहाल, यहां साफ कर दें कि केंद्र का दावा है कि वो सिर्फ राज्यों से मिलने वाले आंकड़ों को कंपाइल करके पेश करता है. ऐसे में विपक्ष और आम लोगों की प्रतिक्रियाओं के बीच देखना होगा कि राज्य और केंद्रशासित प्रदेशों की सरकारें स्वास्थ्य मंत्री के बयान पर क्या जवाब देती हैं.


वीडियो- सरकार ने कोरोना की तीसरी लहर को लेकर चिंता जताई, कहा- बच्चे भी हो सकते हैं संक्रमित

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

RRB NTPC के रिजल्ट में किन गड़बड़ियों पर छात्र प्रदर्शन कर रहे हैं, खुद उनसे सुनिए

RRB NTPC के रिजल्ट में किन गड़बड़ियों पर छात्र प्रदर्शन कर रहे हैं, खुद उनसे सुनिए

क्या एक ग्रेजुएट और एक 12वीं पास को एक एक जैसा पेपर देना जायज है?

गोरखपुर कचहरी में युवक की हत्या करने वाले के बारे में पुलिस ने क्या बताया?

गोरखपुर कचहरी में युवक की हत्या करने वाले के बारे में पुलिस ने क्या बताया?

मृतक व्यक्ति पर नाबालिग से बलात्कार का आरोप था.

5जी नेटवर्क कैसे बन गया हवाई जहाज़ के लिए खतरा?

5जी नेटवर्क कैसे बन गया हवाई जहाज़ के लिए खतरा?

5G के रोल आउट को लेकर दिक्कतें चालू.

गाड़ी का इंश्योरेंस कराने वालों को दिल्ली हाई कोर्ट का ये आदेश जान लेना चाहिए

गाड़ी का इंश्योरेंस कराने वालों को दिल्ली हाई कोर्ट का ये आदेश जान लेना चाहिए

बीमा कंपनी गाड़ी चोरी या दुर्घटनाग्रस्त होने का बहाना बनाए तो ये आदेश दिखा देना.

राजस्थान पुलिस अलवर गैंगरेप की जांच सड़क हादसे के ऐंगल से क्यों कर रही है?

राजस्थान पुलिस अलवर गैंगरेप की जांच सड़क हादसे के ऐंगल से क्यों कर रही है?

दबी जुबान में क्या कह रही है पुलिस?

बजट में FD को लेकर बैंकों की ये बात मानी गई तो आप और सरकार दोनों की मौज आ जाएगी!

बजट में FD को लेकर बैंकों की ये बात मानी गई तो आप और सरकार दोनों की मौज आ जाएगी!

जानेंगे बैंक FD में क्यों घट रही है लोगों की दिलचस्पी.

कांग्रेस को मौलाना तौकीर रजा का समर्थन, BJP ने हिंदुओं को धमकाने वाला वीडियो शेयर कर दिया

कांग्रेस को मौलाना तौकीर रजा का समर्थन, BJP ने हिंदुओं को धमकाने वाला वीडियो शेयर कर दिया

तौकीर रजा कांग्रेस पर आरोप लगा चुके हैं कि उसने मुसलमानों पर आतंकी का टैग लगाया.

देवास-एंट्रिक्स डील क्या थी, जिसे सुप्रीम कोर्ट ने 'जहरीला फ्रॉड' कहा और मोदी सरकार ने राष्ट्रीय सुरक्षा से खिलवाड़?

देवास-एंट्रिक्स डील क्या थी, जिसे सुप्रीम कोर्ट ने 'जहरीला फ्रॉड' कहा और मोदी सरकार ने राष्ट्रीय सुरक्षा से खिलवाड़?

जानिए UPA के समय हुई इस डील ने कैसे देश को शर्मसार किया.

'तुझे यहीं पिटना है क्या', हेट स्पीच पर सवाल से पत्रकार पर बुरी तरह भड़के यति नरसिंहानंद

'तुझे यहीं पिटना है क्या', हेट स्पीच पर सवाल से पत्रकार पर बुरी तरह भड़के यति नरसिंहानंद

बीबीसी का आरोप, टीम के साथ नरसिंहानंद के समर्थकों ने गाली-गलौज और धक्का-मुक्की की.

इंदौर: महिला का दावा, पति ने दोस्तों के साथ मिल गैंगरेप किया, प्राइवेट पार्ट को सिगरेट से दागा

इंदौर: महिला का दावा, पति ने दोस्तों के साथ मिल गैंगरेप किया, प्राइवेट पार्ट को सिगरेट से दागा

मुख्य आरोपी के साथ उसके दोस्तों को पुलिस ने पकड़ लिया है.