Submit your post

Follow Us

भूपेंद्र पटेल के सीएम बनने से नाराजगी की चर्चाओं पर नितिन पटेल ने क्या जवाब दिया?

गुजरात में सोमवार को नए मुख्यमंत्री भूपेंद्र पटेल ने पद और गोपनीयता की शपथ ली. इस मौके पर केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह, 5 राज्यों के मुख्यमंत्रियों और तमाम नेता मौजूद थे. शपथ समारोह में नितिन पटेल भी मौजूद थे. वही नितिन पटेल, जिनका नाम विजय रूपाणी के इस्तीफे के बाद संभावित सीएम के रूप में चल रहे 6 नेताओं में सबसे आगे बताया जा रहा था. सत्ता के बड़े गलियारों में लगभग अनजाने से चेहरे भूपेंद्र पटेल को गुजरात की कमान सौंपे जाने से क्या नितिन पटेल नाराज हैं? इस सवाल का जवाब खुद नितिन पटेल ने ही दिया है.

तीसरी बार सीएम बनने से चूके नितिन

नितिन पटेल गुजरात के उप मुख्यमंत्री हैं. उनके पास 30 साल का राजनीतिक अनुभव है. 1990 में वह पहली बार विधायक बने थे. रूपाणी के इस्तीफे के बाद कुछ समर्थकों ने तो उन्हें बधाइयां देनी भी शुरू कर दी थीं. लेकिन कहते हैं ना कि दूध का जला भी छाछ फूंक फूंककर पीता है. यही कहावत यहाँ भी सच हुई. नितिन पटेल ने रविवार को कह दिया था-

“मीडिया मेरे अनुभव को देखते हुए (सीएम पद के लिए) मेरा नाम चला रहा है, लेकिन सच्चाई यह है कि बीजेपी का आलाकमान जिसे तय करेगा, वही मुख्यमंत्री होगा.”

इससे पहले भी नितिन पटेल दो बार इसी स्थिति से गुजर चुके हैं. उनका नाम सबसे आगे नजर आता है लेकिन मुख्यमंत्री पद किसी और को मिल जाता है. 2014 में नरेंद्र मोदी के प्रधानमंत्री बनने के बाद गुजरात के अगले मुख्यमंत्री के तौर पर नितिन पटेल को देखा जा रहा था. लेकिन कुर्सी आनंदी बेन पटेल को मिली. इसके बाद 2017 में जब आनंदी बेन पटेल ने इस्तीफ़ा दिया, तब एक बार फिर से चर्चाओं में नितिन पटेल का ही नाम आगे तैर रहा था. लेकिन मुख्यमंत्री बने विजय रूपाणी.

Bhupendra Nitin Patel
भूपेंद्र पटेल ने गुजरात के सीएम पद की शपथ लेने से पहले नितिन पटेल के घर जाकर उनसे मुलाकात की. (फोटो पीटीआई)

‘मैं अकेला नहीं, जिसकी बस छूट गई’

खबरें आ रही थीं कि मुख्यमंत्री पद के लिए भूपेंद्र पटेल के नाम की घोषणा होने के बाद से नितिन पटेल नाराज हैं. लेकिन रविवार शाम को मेहसाणा में एक समारोह के बाद नितिन पटेल ने मीडिया से बातचीत में अपनी स्थिति स्पष्ट की. उन्होंने कहा कि

मैं अकेला नहीं हूं, जिसकी बस छूट गई. और भी लोग थे. 

नितिन पटेल का कहना था कि पार्टी का फैसला ही सबके लिए मान्य होता है. जब तक मैं जनता और पार्टी कार्यकर्ताओं के दिलों में हूं, तब तक कोई मुझे हटा नहीं सकता.

इसके बाद सोमवार 13 सितंबर को भूपेंद्र पटेल ने मुख्यमंत्री पद की शपथ लेने से पहले नितिन पटेल से सुबह उनके घर जाकर मुलाकात की. इसके बाद नितिन पटेल ने कहा कि जब मैं 18 साल का था, तब से बीजेपी में काम कर रहा हूं, और आगे भी करता रहूंगा. मुझे कोई पद मिले या न मिले, मैं पार्टी की सेवा करता रहूंगा. नितिन पटेल ने कहा कि

भूपेंद्र हमारे पुराने मित्र हैं. उन्हें सीएम बनते देखकर मुझे वाकई बहुत खुशी है. मैं इस बात से बिल्कुल भी खफा नहीं हूं. 

यह कहते हुए नितिन पटेल की आंखें नम हो गईं. उन्होंने कहा कि पार्टी ने 30 साल में मुझे बहुत कुछ दिया है, वह पार्टी से कभी नाराज नहीं हो सकते.

(आपके लिए ये स्टोरी हमारे साथी आयुष ने लिखी है.)


वीडियो- ‘लव जिहाद’ को लेकर गुजरात के मंत्री अब ये क्या बोल गए?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

पश्चिम बंगाल के पूर्व CM बुद्धदेव भट्टाचार्य की साली बेघर हैं, फुटपाथ पर सोती हैं

इरा बसु वायरोलॉजी में PhD हैं और 30 साल से भी ज्यादा समय तक पढ़ाया है.

'माओवादी' बताकर CRPF ने 8 आदिवासियों का एनकाउंटर किया था, 8 साल बाद ये 'एक भूल' साबित हुई है

यहां तक कि CRPF कान्स्टेबल की मौत भी फ्रेंडली फायर में हुई थी!

अक्षय कुमार की मां का निधन

अपने जन्मदिन से सिर्फ एक दिन पहले अक्षय को मिला गहरा सदमा.

अफगानिस्तान: तालिबान ने नई सरकार की घोषणा की, किसे बनाया मुखिया?

नई अफगानिस्तान सरकार का लीडर यूएन की आतंकियों की लिस्ट में शामिल है.

छत्तीसगढ़ के सीएम भूपेश बघेल के पिता गिरफ्तार, कोर्ट ने 15 दिन के लिए भेजा जेल

रायपुर पुलिस ने नंद कुमार बघेल को ब्राह्मणों पर आपत्तिजनक टिप्पणी के आरोप में गिरफ्तार किया.

एक्टर रजत बेदी ने रोड पार करते व्यक्ति को टक्कर मारी!

पीड़ित इस वक़्त कूपर अस्पताल में भर्ती है, जहां उसकी हालत बेहद नाज़ुक है.

अक्षय कुमार की मां ICU में एडमिट, यूके से शूटिंग छोड़ वापस आए अक्षय

कई दिनों से अक्षय कुमार की मां अरुणा भाटिया की तबीयत खराब है.

तस्वीरों में देखिए मुजफ्फरनगर में किसानों की महापंचायत

500 लंगर, 100 चिकित्सा शिविर, 5 हज़ार वॉलेंटियर्स.

Hurricane Ida से अमेरिका में तबाही, दिल दहलाने वाली तस्वीरें आ रही हैं

न्यूयॉर्क समेत पूरे अमेरिका में अब तक 44 लोगों के मारे जाने की बात कही गई है.

तालिबान का समर्थन करने वाले भारतीय मुसलमानों को नसीरुद्दीन शाह ने तगड़ा पाठ पढ़ाया

सोशल मीडिया पर नसीरुद्दीन शाह का ये वीडियो वायरल है.