Submit your post

Follow Us

गौहत्या के खिलाफ ये ग्रुप लाया है 'सेल्फी विद गऊ'

जबसे ‘सेल्फी’ मार्केट में आई है, ‘एंजल प्रिया’ टाइप के लोगों से लेकर बड़े बड़े स्टार लोगों तक सबने सेल्फी पोस्ट कर के ट्विटर पर नरक काट दिया. फिर मोदी जी को भी लगा चस्का और सेल्फी को ले आए पॉलिटिक्स में. वो क्या चला था सेल्फी विद डॉटर करके? जिसमें लोगों को लगता था कि बेटी के साथ फोटू लगा देंगे तो देश की औरतों को उनके अधिकार मिल जाएंगे. मासूम सी कोशिश है.

खैर, ऐसी ही एक कोशिश कर रहा है कलकत्ता का एक NGO. नाम है NGO का ‘गौसेवा परिवार’. और कोशिश का नाम है ‘सेल्फी विद काओ’. जिसे शुरू किया गया है गौहत्या के खिलाफ लोगों को जागरूक करने के लिए.

selfie with cow 1

selfie with cow 2

 

selfie with cow 3

selfie with cow 5

selfie with cow 6

 

selfie with cow 7

selfie with cow 8

selfie with cow 9

selfie with cow 10

selfie with cow 11


8

ग्रुप के लोगों का कहना है कि गइया केवल दूध देने के लिए नहीं होती. उसके गोबर और सूसू से बन सकता है शैम्पू, टूथपेस्ट, अगरबत्ती और साबुन जैसी चीजें. और तो और इन प्रोडक्ट्स को बनाने वालों को रोजगार भी मिलता है. इसलिए वो जब दूध देना बंद कर दे, उसे बूचड़खाने में नहीं बेचना चाहिए. ग्रुप की मानें तो उनका मकसद सिर्फ गायों ही नहीं, दूसरे जानवरों पर हो रहे अत्याचार को भी रोकना है.

अत्याचार तो कुछ महीनों पहले भी हुआ था. ‘बीफ’ के नाम पर. खैर आप ‘गोमाता’ के साथ अपनी सेल्फी अपलोड करिए और लाइक्स पाइए.

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

क्या चल रहा है?

एक्टिविस्ट नूतन ठाकुर ने योगी सरकार की महिला मंत्री पर बड़ा आरोप लगाया है

फ़ोन पर आदमी ने पांच लाख रुपए और कार के बदले लिस्ट बदलवाने को कहा.

यूपी में एक शख़्स की सड़क पर मौत हो गई, तो शव को कूड़ागाड़ी में भरकर ले गए

वीडियो वायरल होने के बाद पुलिस और नगरपालिका के कर्मचारियों पर कार्रवाई हुई है.

इंडियन क्रिकेट टीम की वापसी का इंतजार कर रहे फैंस के लिए बुरी ख़बर

टीम इंडिया की वापसी वाली सीरीज का क्या हुआ?

10 दिन में ऐसा क्या हुआ कि झील का हरा दिखने वाला पानी गुलाबी रंग का हो गया

देखने वाले हैरान हैं, कि ऐसा कैसे हो गया.

बच्चों की किताब में 'अग्ली' का मतलब बताने के लिए ऐसी फोटो छाप दी कि बवाल हो गया

पश्चिम बंगाल के म्युनिसिपल गर्ल्स हाई स्कूल का मामला.

जांच में पता चला, UP में पांच हज़ार से भी ज्यादा फर्ज़ी शिक्षक हो सकते हैं

ऐसी-ऐसी जुगाड़ लगाई कि सीधा-सादा आदमी सोच भी नहीं सकता.

कोरोना काल में पीएम मोदी ने कारोबारियों से क्यों कहा- आपकी पांचों उंगली घी में हैं

इंडियन चैंबर्स ऑफ कॉमर्स (ICC) के 95वें सालाना सेशन में पीएम मोदी ने क्या-क्या कहा?

तमिलनाडु में विस्फोटक चबाने से छह साल के बच्चे की मौत हो गई

इस विस्फोटक को मछली पकड़ने के लिए खरीदा गया था.

फाइल ट्रांसफर करने वाली साइट WeTransfer क्यों बैन हुई, कारण पता चल गया

कनेक्शन दिल्ली पुलिस के कुछ अधिकारियों के नाम से है.

कोरोना मरीज़ का शव आठ दिन तक अस्पताल के टॉयलेट में सड़ता रहा, अधिकारी कुछ और कहानी बताते रहे

कुछ दिन पहले कोरोना से मां की मौत, अब दादी भी चली गईं.