Submit your post

Follow Us

कोरोना से ठीक हुए लोगों में ये कौन सा इन्फेक्शन फैल रहा, जो रीढ़ की हड्डी गला देता है?

कोरोना से पीड़ित लोगों में अभी तक ब्लैक फंगस, वाइट फंगस जैसे कुछ फंगल इन्फेक्शन (fungal infection) से डर फैला हुआ था. अब एक नई तरह का इन्फेक्शन सामने आया है. यह दुर्लभ और संक्रामक किस्म का फंगल इन्फेक्शन रीढ़ की हड्डी को प्रभावित करता है. महाराष्ट्र के पुणे में पिछले 3 महीनों में इसके 4 मरीज मिल चुके हैं. कोरोना की दूसरी लहर के बाद इस तरह के मामले पहली बार सामने आए हैं. आइए बताते हैं कि ये नई तरह का इन्फेक्शन क्या है और इसने स्वास्थ्य विभाग की चिंता क्यों बढ़ा दी है.

रीढ़ की हड्डी तक पहुंचा फंगल इन्फेक्शन

66 वर्ष के एक शख्स को कोरोना हुआ था. वह कोविड-19 से पूरी तरह ठीक हो गए. लेकिन इसके तकरीबन महीने भर बाद उन्हें हल्का बुखार हुआ. इसके साथ ही पीठ के निचले हिस्से में दर्द की परेशानी भी हुई. शुरूआत में उन्होंने इसे मसल्स में होने वाला आम दर्द समझकर पेन किलर दवाएं ले लीं. डॉक्टर की सलाह से उन्हें नॉन स्टेरॉयडल एंटी इंफ्लेमेट्री ड्रग्स के डोज़ भी दिए गए. लेकिन, इस सबके बावजूद उन्हें राहत नहीं मिली. इसके बाद डॉक्टर ने दर्द वाली जगह का MRI स्कैन कराने का फैसला लिया.

अंग्रेजी अखबार द टाइम्स ऑफ इंडिया के अनुसार, MRI से पता चला कि उस व्यक्ति में स्पाइनल डिस्क के पास स्थित खाली जगह पर गंभीर इन्फेक्शन है. इस इन्फेक्शन के चलते रीढ़ की हड्डी को काफी नुकसान हो चुका है. हड्डी की बायोप्सी और कल्चर टेस्ट करने से पता चला कि ये सब एक इन्फेक्शन एस्परगिलस स्पेसीज (aspergillus species) की वजह से हुआ है. मेडिकल जगत में इसे एक गम्भीर, दुर्लभ और आक्रामक फंगल इन्फेक्शन माना जाता है. इसके साथ सबसे बड़ी दिक्कत ये है कि इसका पता लगाना काफी कठिन है. जब तक इसका पता चलता है, मरीज़ को काफी नुकसान हो चुका होता है.

भारत में पोस्ट कोविड पहला मामला!

66 साल के इस व्यक्ति के अलावा पुणे शहर में 3 अन्य लोगों में भी इस फंगल इन्फेक्शन का पता चला. दीनानाथ मंगेशकर अस्पताल के संक्रामक रोग विशेषज्ञ परीक्षित प्रयाग ने टाइम्स ऑफ इंडिया को बताया कि

“मेडिकल टर्म में इसे एस्परगिलस ऑस्टियो माइलाइटिस कहा जाता है. इस आक्रामक फंगल इन्फेक्शन को डायग्नॉस करना बहुत मुश्किल होता है क्योंकि यह रीढ़ की हड्डी में होता है. इस तरह का फंगल संक्रमण पहली बार कोविड के मरीजों में पाया गया है.”

डॉक्टर प्रयाग का ये भी कहना है कि हमने तीन महीनों में चार रोगियों में एस्परगिलस कवक स्पेसीज के कारण वर्टेब्रल ऑस्टियो मायलाइटिस डायग्नॉस किया है. इससे पहले कभी भारत में कोविड के बाद रोगियों में इस फंगल इन्फेक्शन का डॉक्युमेंटेशन नहीं किया गया था.

जिन चार मरीजों में ये इन्फेक्शन मिला, उनमें कॉमन बात यह थी कि उन्हें गंभीर कोविड था. कोविड से जुड़े निमोनिया और अन्य जटिलताओं के इलाज के स्टेरॉयड देकर इलाज किया गया था. डॉक्टर ने बताया कि कॉर्टिको स्टेरॉयड्स के लंबे समय तक इस्तेमाल की वजह से इस तरह के संक्रमण का खतरा बढ़ सकता है. यह इस बात पर भी निर्भर करता है कि इलाज के लिए दूसरी किन दवाओं का इस्तेमाल किया जा रहा है.

ब्लैक फंगस पहले ही कर रहा परेशान

कोरोना की दूसरी लहर के बाद ठीक हुए मरीजों में ब्लैक फंगस का इन्फेक्शन तेजी से देखने को मिला था. जैसा कि नाम से जाहिर है, ये एक फंगस के कारण होता है. इस फंगस का नाम है म्यूकर. ये ज़्यादातर उन लोगों में देखा गया जो डायबिटीज के मरीज़ रहे हैं. हालांकि म्यूकोमरकोसिस कोई नई बीमारी नहीं है, लेकिन कोविड पेशेंट्स में ये तेज़ी से देखी गई. डॉक्टरों का कहना था कि ये फंगस इसलिए ज्यादा फैला क्योंकि कोविड के इलाज के लिए दिए जा रहे स्टेरॉयड्स शुगर लेवल बढ़ा रहे थे. साथ ही कुछ दवाइयों के कारण पेशेंट की इम्यूनिटी भी कम हो गई थी. ब्लैक फंगस की वजह से कई मरीजों की जान भी चली गई थी.


वीडियो – कोरोना में ब्लैक फंगस के बाद अब वाइट फंगस क्या बला है?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

LIC पॉलिसी से PAN नंबर लिंक नहीं है, ये बड़ा नुकसान होगा!

LIC पॉलिसी से PAN नंबर लिंक नहीं है, ये बड़ा नुकसान होगा!

लिंक करने का पूरा प्रोसेस बता रहे हैं, जान लीजिए.

यूपी चुनाव: सपा-सुभासपा गठबंधन का ऐलान, राजभर बोले- एक भी सीट नहीं देंगे तो भी समर्थन रहेगा

यूपी चुनाव: सपा-सुभासपा गठबंधन का ऐलान, राजभर बोले- एक भी सीट नहीं देंगे तो भी समर्थन रहेगा

सपा ने ट्वीट कर कहा- 2022 में मिलकर करेंगे बीजेपी को साफ़!

आगरा में पुलिस कस्टडी में सफाईकर्मी की मौत, बवाल के बाद पुलिसकर्मियों पर FIR, 6 सस्पेंड

आगरा में पुलिस कस्टडी में सफाईकर्मी की मौत, बवाल के बाद पुलिसकर्मियों पर FIR, 6 सस्पेंड

थाने के मालखाने से 25 लाख चोरी के आरोप में पुलिस ने पकड़ा था सफाईकर्मी को.

लखीमपुर की जांच से हाथ खींच रही यूपी सरकार? SC ने तगड़ी फटकार लगाते हुए और क्या सवाल दागे?

लखीमपुर की जांच से हाथ खींच रही यूपी सरकार? SC ने तगड़ी फटकार लगाते हुए और क्या सवाल दागे?

सुप्रीम कोर्ट ने कहा, कभी खत्म न होने वाली कहानी न बन जाए ये जांच.

केरल के साथ उत्तराखंड में भी बारिश का कहर, सड़कें, इमारतें, पुल ध्वस्त, 16 की मौत

केरल के साथ उत्तराखंड में भी बारिश का कहर, सड़कें, इमारतें, पुल ध्वस्त, 16 की मौत

केरल में भारी बारिश के कारण हुई मौतों की संख्या 35 तक पहुंची.

जिस CBI अफसर को केस बंद करने के लिए सौंपा गया था, उसी ने सलाखों के पीछे पहुंचा दिया राम रहीम को

जिस CBI अफसर को केस बंद करने के लिए सौंपा गया था, उसी ने सलाखों के पीछे पहुंचा दिया राम रहीम को

इंसाफ दिलाने के लिए धमकियों और खतरों की परवाह नहीं की.

लगातार दूसरे दिन आतंकियों ने गैर कश्मीरी मजदूरों को बनाया निशाना, 2 की मौत, 1 घायल

लगातार दूसरे दिन आतंकियों ने गैर कश्मीरी मजदूरों को बनाया निशाना, 2 की मौत, 1 घायल

पुलिस और सुरक्षा बलों ने इलाके को घेरा.

केरल में भारी बारिश से तबाही, 25 से ज़्यादा मौतें, कई लापता

केरल में भारी बारिश से तबाही, 25 से ज़्यादा मौतें, कई लापता

पीएम मोदी ने केरल के मुख्यमंत्री से की बात.

श्रीनगर में बिहार के रेहड़ीवाले और पुलवामा में यूपी के मजदूर की गोली मारकर हत्या

श्रीनगर में बिहार के रेहड़ीवाले और पुलवामा में यूपी के मजदूर की गोली मारकर हत्या

कश्मीर ज़ोन पुलिस ने बताया घटनास्थलों को खाली कराया गया. तलाशी जारी.

सिंघु बॉर्डर पर युवक की बर्बर हत्या पर किसान नेताओं ने क्या कहा है?

सिंघु बॉर्डर पर युवक की बर्बर हत्या पर किसान नेताओं ने क्या कहा है?

राकेश टिकैत ने भी मीडिया से बात की है.